Mon05212018

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home धर्मकर्म
धर्मकर्म - दिव्य इंडिया न्यूज़
लखनऊ: अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त जैन आचार्य डा. लोकेश मुनि पहली बार उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भगवान महावीर जयंती के अवसर पर 29 मार्च को पहुंचेंगे | एक दिवसीय लखनऊ में प्रवास के दौरान आचार्य लोकेश की माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से एक शिष्ठमंडल के साथ मुख्यमंत्री निवास पर भेंट कर भगवान महावीर जयंती पर शुभकामनाओं का आदान प्रदान करेंगे | आचार्य लोकेश मुनि इस अवसर पर भगवान महावीर जन्म जयंती पर सन्देश देंगे| शिष्ठमंडल में आचार्य लोकेश मुनि के साथ सकल जैन समाज उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष श्री विनय जैन, सचिव ब्रिजेश जैन, प्रोफेसर डा. अभय कुमार जैन, श्री शैलेन्द्र जैन, अहिंसा विश्व भारती उत्तर प्रदेश संयोजक श्री प्रेम गुप्ता व श्री प्रवीण…
लखनऊ: उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज महाराजा अग्रसेन धर्म जागरण समिति द्वारा श्री खाटू श्याम मंदिर में आयोजित गीता ज्ञान यज्ञ का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में आचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी अभयानन्द सरस्वती जी महाराज, महाराजा अग्रसेन जागरण समिति के अध्यक्ष श्री शिव कुमार अग्रवाल, संयोजक श्री आर0डी0 अग्रवाल सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन उपस्थित थे। राज्यपाल ने इस अवसर पर स्वामी अभयानन्द सरस्वती के प्रवचनों के संकलन ‘नारद भक्ति सूत्र’ का विमोचन भी किया। राज्यपाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुये कहा कि वे गीता के मर्मज्ञ नहीं हैं इसलिये स्वयं को गीता पर बोलने का अधिकृत नहीं मानते। गीता का ज्ञान असीम है, व एक ऐसी रचना है जिसे साक्षात् बह्म की वाणी कहा गया है। गीता…
लखनऊ: पौष शुल्क पूर्णिमा एवं शाकम्भरी देवी जयंती के अवसर पर मंगलवार को मनकामेश्वर उपवन घाट पर अदभुत छटा बिखर रही थी। वर्ष के प्रथम गोमती आरती के मौके पर घाट शरद ऋतु के पुष्पों से सुशोभित किया गया था। आदि माँ गोमती महाआरती को देखने के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। नमोस्तुते माँ गोमती एवं मनकामेश्वर मठ मंदिर की श्रीमहंत दिव्यगिरी जी महाराज ने मुख्य मंच से माँ गोमती की महा आरती की। पंडित डॉ श्यामलेश तिवारी के आचार्यत्व में सभी वेदियों पर एक ही वेश भूषा में सभी पंडितों ने मंत्रों उच्चार के साथ माँ गोमती की आरती और पूजा अर्चना की। महा आरती में जगदीश गुप्त "अग्रहरि", तेजवीर सिंह, उपमा पांडेय, यश अग्रवाल, राजकुमार, विजय मिश्रा,…
लखनऊ: कार्तिक पूर्णिमा शुक्ल एवं गंगा स्नान के अवसर पर शनिवार को मनकामेश्वर उपवन घाट पर अदभुत छटा बिखर रही थी। देव दीपावली के मौके पर घाट हज़ारों दीपों से जगमगा रहा था। आदि माँ गोमती महाआरती को देखने के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। 11 वेदियों से कराई गई आरती नमोस्तुते माँ गोमती एवं मनकामेश्वर मठ मंदिर की श्रीमहंत दिव्यगिरी जी महाराज ने मुख्य मंच से माँ गोमती की माह आरती की। पंडित डॉ श्यामलेश तिवारी के आचार्यत्व में सभी वेदियों पर एक ही वेश भूषा में सभी पंडितों ने मंत्रों उच्चार के साथ माँ गोमती की आरती और पूजा अर्चना की। महा आरती में तेजवीर सिंह, कुसुम सिंह, प्रभाकर मिश्रा, नंदकिशोर, ओ पी श्रीवास्तव, अवनीश त्रिवेदी, किरन…
रामकथा मानस मसान शूरू पहले दिन उमडी जनमैदिनी वाराणसी: काशी  में मानस का महिमा मंत्र है। वेद आदेश  करते है और उपनिषद  उपदेश  देते है। ब्रह्माण्ड के सबसे बडे उपदेशक विश्वनाथ यहां बैठे है। शमशान एक ज्ञान भूमि है और प्रत्येक व्यक्ति को मन से इसका भय निकालना चाहिए। प्रत्येक व्यक्ति के मन से प्रलोभन निकल जाये और मृत्यु का भय निकल जाये तो जीवन का मोक्ष अवश्य होता हैं। भगवान श्रीनाथ की नगरी नाथद्वारा से निकली कथा भगवान विश्वनाथ  के पटांगन पर आज पहुंची है और सतुआ बाबा की पावन तपस्थली में संकट मोचन की कृपा से आठ सौवीं कथा करने का सौभाग्य मिला है। यह संयोग ही है कि सात सौवीं कथा का सौभाग्य भी भगवान कैलाशनाथ के…
नई दिल्ली: देश में बढ़ती सांप्रदायिकता और सामाजिक ताना बाना में बढ़ती नफ़रतों के बीच हिंदुस्तान के एक कोने से ऐसी ख़बर सामने आयी है जिसने गंगा-जमुनी तहज़ीब का जीता जागता मिसाल पेश किया है। गुवाहाटी से करीब 75 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में इन तीनों गांवों- संधेली, पोकुआ और पनिगांव में लगभग 10,000 लोग रहते हैं और इनमें से आधे लोग हिंदू और आधे लोग मुसलमान हैं. आधे से ज्यादा सदी पहले पश्चिमी असम के नलबारी जिले में तीन गांवों को मिलाने वाली सड़क का नाम मिलन चौक या एकता का केंद्र रखा गया था. गुवाहाटी से करीब 75 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में इन तीनों गांवों- संधेली, पोकुआ और पनिगांव में लगभग 10,000 लोग रहते हैं और इनमें से आधे लोग हिंदू…
वाराणसी : शिव व् शक्ति की धरा धर्म नगरी वाराणसी में 21 से 29 अक्टूबर तक नौ दिन बड़े ही अदभूत अनुपम होंगे। उत्तरवाहिनी माँ गंगा की गोद में बसे काशी नगर के मणिकर्णिका घाट के सामने गंगा पार सतुआ बाबा जी की गौशाला में सन्त कृपा सनातन संस्थान द्वारा राष्ट्रीय संत मोरारी बापू की राम कथा का आयोजन होगा । बाबा विश्वनाथ की नगरी में होने वाली मोरारी बापू की 800 वीं राम कथा में ख्यातनाम कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां और इस बीच प्रसिद्ध राष्ट्रीय संत मोरारी बापू के प्रवचन सोने में सुगंध का काम करेंगे। नौ दिन धार्मिक सांस्कृतिक प्रस्तुतियों की धूम रहेगी और इसके साक्षी बापू के हजारों भक्त बनेंगे। आस्था, संस्कृति, संगीत व् कला का यह…
लखनऊ: पति-पत्नी या परिवार में क्लेश होती हो, अनावश्यक डर व्याप्त हो, विवाह न होना। ऐसे कई कारण पितृ दोष की वजह से पनपते हैं। यही नहीं रक्त का किसी प्रकार का दोष, वास्तु दृष्टि दोष और शांति आदि के लिए भी पिंड दान और पितृ का तर्पण करना चाहिए। यह बात गुरुवार को श्रीमहंत देव्या गिरि जी महाराज ने मनकामेश्वर उपवन घाट पर कही। मातृ नवमी पर स्वर्गवासी महिलाओं का तर्पण मनकामेश्वर मठ मंदिर और देव्या चैरिटेबल ट्रस्ट के संयुक्त तत्वावधान में गुरुवार को डालीगंज स्थित मनकामेश्वर उपवन घाट आदि गंगा मां गोमती के जल से तट व आरती स्थल पर मातृ नवमी पर तर्पण श्राद्ध किया गया। आचार्य पं. श्यामलेश तिवारी जी ने पहली बार आयोजित इस कार्यक्रम…
लखनऊ : माना जाता है कि जो अपने पितृों की प्रसन्नता के लिए शुभ कार्य करता है उस पर सभी देवी-देवताओं की कृपा दृष्टि बनी रहती है, इसी कल्याणकारी भाव को लेकर राम कृष्ण प्रेम सेवा संस्थान के तत्वावधान में श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन किया गया है। इन्दिरा नगर स्थित शेखर हॉस्पिटल के पीछे बने श्री शुक्र पाणि मन्दिर में आयोजित होने वाली यह साप्ताहिक  कथा 10 सितम्बर से 16 सितम्बर तक चलेगी। यह जानकारी देते हुए कथा की संयोजक आरती अवस्थी ने बताया कि प्रतिदिन सायं 5 बजे से रात्रि 8 बजे तक होने वाले इस धार्मिक आयोजन में श्रीमद् भागवत की कथा रूपी अमृत गंगा कथा व्यास अयोध्या के प्रभाकर मिश्र पद्मेश बहायेंगे। उन्होंने सभी से अपील…
लखनऊ: योगदा सत्संग सोसाइटी ऑफ़ इंडिया (वाई.एस.एस.) ने, जो भारत की सबसे प्राचीन आध्यात्मिक और परोपकारी संस्थाओं में विशिष्ठ इतिहास लिए हुए है लखनऊ में शताब्दी वर्ष का विशिष्ट आयोजन यूपी श्री राम नाइक के माननीय गवर्नर और भारत के योगदा सत्संग सोसाइटी के कोषाध्यक्ष स्वामी शुध्दानंद गिरि की गरिमामई उपस्थिति में किया गया । सभी सच्चे धर्मों की अन्तर्निहित पूर्ण एकता, तालमेल और साझा नींव को दर्शाने और मानवता की अपने ही बृहत स्वरुप में सेवा करने के मुख्य उद्देश्य के साथ, यह संस्था अपने महान संस्थापक श्री श्री परमहंस योगानंद जी की शिक्षाओं को देश-विदेश में हर किसी के लिए आगे बढाती है। यह कार्यक्रम राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम से शुरू हुआ। गणमान्य अतिथियों  द्वारा दीप प्रज्वलन के…
Page 1 of 7