Mon07162018

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home राज्य नयी दिल्ली

नई दिल्ली: पाकिस्तान के सिंध प्रांत से भारत के विभिन्न भागों की तीर्थ यात्रा पर आए 150 हिन्दू तीर्थ यात्रियों का विश्व हिन्दू परिषद ने आज भव्य स्वागत किया। इसके अलावा बिजवासन में रह रहे  लगभग पांच सौ पाक विस्थापित हिन्दुओं का दर्द भी सुना और उनके साथ नाहर सिंह को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर ललकारते हुए विश्व हिन्दू परिषद के संरक्षक श्री अशोक सिंहल ने कहा कि अल्पसंख्यक हिन्दुओं पर हमले करने वाले लोग हिन्दू समाज के शांत व्यवहार को भीरूता न समझें। जब तक विश्व के किसी भी भू भाग पर हिन्दू असुरक्षित रहेगा या उस पर हमले होंगे विहिप चुप नहीं बैठेगी तथा उन्हें न्याय व स्वाभिमान दिलाकर रहेगीण्

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए विहिप दिल्ली के मीडिया प्रमुख श्री विनोद बंसल ने बताया कि हर वर्ष की भांति लगभग डेढ़ सौ हिन्दू तीर्थ यात्रियों का जत्था इस वर्ष भी दस मई को पाकिस्तान से भारत पहुंचा थाण् पांच जून को भारत से लौटने से पूर्व ये यात्री रायपुर स्थित सादानी दरवार के बाद हरिद्वारए जबलपुरए चित्रकूटए माता वैष्णो देवी व अमृतसर सहित भारत के विभिन्न तीर्थों के दर्शन करेंगे। दक्षिणी दिल्ली के लाजपत नगर.1 स्थित मीर पुर वलिदान भवन में आयोजित स्वागत समारोह में विहिप ने आज इन सभी का जोरदार अभिनन्दन कियाण् साथ ही विजवासन में रह रहे पाक पीडित हिन्दुओं का दर्द भी सुना और उनके संरक्षक नाहर सिंह सहित सभी का स्वागत किया गयाण् 

इस अवसर पर बोलते हुए हिन्दू रत्न डा सुब्रमनियम स्वामी ने कहा कि इतिहास साक्षी है कि भारत के ऊपर आठ सौ वर्ष मुसलमानों व दो सौ वर्ष ईसाईयों का साम्राज्य रहने के बावजूद आज भी भारत में 80 प्रतिशत से अधिक जनसंख्या हिन्दू है जबकि इरानए ईराक व मिस्र जैसे अनेक देश अपनी धार्मिक पहचान बदल चुके। किन्तु भारत के जिस जिस भाग में हिन्दू घटाए देश बंटा हैण् तथा वहां के हिन्दुओं के पास पलायन के अलावा कोई विकल्प नहीं रहा| चाहे कश्मीर की बात हो या पूर्वोत्तर के राज्यों की, पाकिस्तान की बात हो या बांग्लादेश की यह बात हम सभी को गंभीरता से लेनी होगी|

विहिप दिल्ली के अध्यक्ष श्री स्वदेश पाल गुप्ता के मंच संचालन में सम्पन्न कार्यक्रम की अध्यक्षता दक्षिणी दिल्ली की पूर्व महापौर श्रीमती सविता गुप्ता ने की तथा मंच पर विहिप के अंतर्राष्ट्रीय संगठन महा मंत्री श्री दिनेश चन्द्र भी थे| प्रांत उपाध्यक्ष श्री महावीर प्रसाद व दीपक कुमारए संगठन मंत्री श्री करुणा प्रकाश, विभाग मंत्री श्री विजय गुप्ता, जिला मंत्री श्री अजय गुप्ता सहित अनेक गणमान्य लोग भी उपस्थित थे|

Published in राज्य

नई दिल्ली: पूर्वी दिल्ली के शास्त्री पार्क में पिछले अनेक वर्षों से चल रही गौशाला आज सरकारी बुल्डोजरों की भेंट चढ गई। विश्व हिन्दू परिषद सहित अनेक हिन्दूवादी व गौ भक्त संगठनों ने इसकी कडी आलोचना करते हुए तीव्र रोष प्रदर्शन किया। विहिप दिल्ली के प्रान्त मन्त्री श्री राम पाल सिंह ने इसे गऊओं पर प्रत्यक्ष हमले की संज्ञा देते हुए कहा है कि भगवान श्री कृष्ण की यमुना के किनारे पर भी अब गऊओं की यह दुर्दशा होगी तो आखिर वे और कहां जाएंगीं। विहिप ने गऊशाला पर सरकारी हमले को घोर निंदा जनक बताते हुए कार्यवाही की तीव्र भर्त्सना की है। साथ ही उसके लिए उचित स्थान आवंटित करने की मांग भी की है। 

गौशाला पर सरकारी दमन चक्र की पूरी जानकारी देते हुए विहिप दिल्ली के मीडिया प्रमुख श्री विनोद बंसल ने बताया कि यमुना खादर स्थित रेल के लोहे के पुराने पुल के पास शास्त्री पार्क में गत अनेक वर्षों से चल रही गौ शाला को तोडने हेतु आज डीडीए का एक दस्ता भारी पुलिस बल के साथ सुबह- सुबह ही पहुंच गया। इस गौशाला में उस समय सैंकडों गऊएं थी। बिना किसी पूर्व सूचना के गौशाला को अचानक तोडने का तुगलकी फ़रमान सुन कर सभी हतप्रभ थे। विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल व राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ सहित सैंकडों गऊभक्तों ने एकत्रित हो कर विरोध प्रदर्शन तो किया किन्तु लेकिन भारी पुलिस बल व सरकारी हठ धर्मिता के आगे एक न चली। गौशाला ट्रष्ट के संयोजक श्री राजेश पाण्डे को पुलिस ने भोर में ही उठा लिया तथा बाद में प्रदर्शनकारी विहिप व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं सहित अनेक गौ भक्तों को भी पुलिस उठा ले गई। विहिप के प्रान्त मंत्री श्री राम पाल सिंह यादव व सह संत संपर्क प्रमुख डा राधा कान्त वत्स सम्बन्धित अधिकारियों को बुल्डोजर चलाने से रोकते रहे किन्तु किसी ने एक न सुनी। 

श्री बंसल ने आगे बताया कि गौशाला में लगभग पचास गऊएं तो अंधी हैं तथा सौ से अधिक बीमार हैं तथा दिल्ली नगर निगम व दिल्ली सरकार द्वारा चलाई जा रही गौ शालाओं की स्थिति किसी से छिपी नहीं है। पहले ही क्षमता से अधिक गऊएं होने के कारण सरकारी गौशालाओं में उनकी दुर्गती हो रही है। विहिप ने पूछा  है कि तोडी गई गौशाला से ले जाकर वहां सैकडों गौवंस और भर दिए जाने से क्या सरकार इन गऊओं को मारना चाहती है? वस्तुत: जिस दिन से यह गौशाला बनी थी, पास के कसाई बाहुल्य सीलमपुर व जाफ़राबाद क्षेत्र में हो रही गौकशी पर कुछ विराम सा लग गया था जिसके कारण यह गौशाला गौ भक्षकों के आंखों की किरकिरी बनी हुई थी। विहिप का आरोप है कि दुर्भाग्य से आज दिल्ली की सरकार भी उन गौ भक्षकों के साथ हो ली। 

Published in राज्य

नई दिल्ली।पूर्वी दिल्ली के शास्त्री पार्क में चल रही एक गौशाला को तोडने आए डीडीए के एक दस्ते को गौ भक्तों के भारी दबाब के चलते बेरंग लौटना पडा। पुलिस व डीडीए के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा उपस्थित जन समूह को धमकाने तथा गौभक्तों महिलाओं के साथ अपमान जनक भाषा का प्रयोग कर जबरन गौशाला को तोडने के प्रयास की विश्व हिन्दू परिषद ने तीव्र भर्त्सना की है। विहिप दिल्ली के महा मंत्री श्री सत्येन्द्र मोहन ने पूरे घटनाक्रम की जांच करा दोषियों के विरुद्ध कडी कार्यवाही की मांग करते हुए चेताया है कि यदि गौशाला को हाथ लगाया गया तो दिल्ली के गौभक्त आंदोलन के लिए मजबूर होंगे।

घटना की पूरी जानकारी देते हुए विहिप दिल्ली के मीडिया प्रमुख श्री विनोद बंसल ने बताया कि यमुना खादर स्थित रेल के लोहे के पुराने पुल के पास शास्त्री पार्क में गत अनेक वर्षों से चल रही गौ शाला को तोडने हेतु आज डीडीए का एक दस्ता भारी पुलिस बल के साथ सुबह ग्यारह बजे गौशाला पहुंच गया। गोलोक गऊधाम सेवा ट्रष्ट द्वारा चलाई जा रही इस गौशाला में उस समय लगभग छरू सौ गाऊओं की गौभक्त सेवा कर रहे थे। बिना किसी पूर्व सूचना के गौशाला को अचानक तोडने का तुगलकी फ़रमान सुन कर सभी हतप्रभ थे। तुरत फ़ुरत में आस पास के गौ भक्तों को जैसे जैसे सूचना मिलती गईए वे सभी गौशाला को बचाने दौडे। धीरे धीरे खबर जंगल में आग की तरह फ़ैलती चली गई। देखते ही देखते विश्व हिन्दू परिषदए बजरंग दलए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ सहित सैंकडों गऊभक्त एकत्र होकर बुल्डोजर से सामने लेट गए। गोलोक गऊधाम सेवा ट्रष्ट के श्री राजेश पाण्डे ने बताया कि हमारी इस गौशाला में लगभग पचास गऊएं तो अंधी हैं तथा सौ बीमार तथा बूढी हैं। अकारण इस प्रकार के फ़रमान को सुन कर हमारे तो हाथपांव ही फ़ूल गए।

विहिप के क्षेत्रीय गौ रक्षा प्रमुख श्री राष्ट्र प्रकाश ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि यदि सरकार गौ भक्तों की सहायता नहीं कर सकती है तो कम से कम उन्हें प्रताडित करने से तो बाज आए। उन्होंने कहा कि आज के इस घटना क्रम की शिकायत करने गौभक्तों का एक प्रतिनिधि मण्डल शीघ्र ही दिल्ली के उपराज्यपाल से मिलेगा। प्रदर्शनकारियों में श्री उत्तम अग्रवालए रमाकान्तए महेन्द्रए सुधा देवीए कल्पना जैनए पूनम जैन व पूजा शर्मा सहित सैकडों गौभक्त सामिल थे।

Published in राज्य

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में चार दलितों की मौत के मामले में आक्रामक तेवर अपनाते हुए बसपा ने आज संसद की कार्यवाही बाधित की और समाजवादी पार्टी शासित राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। लोकसभा और राज्यसभा में बसपा के सदस्य अखिलेश यादव सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए आसन के समीप आ गये। आज सुबह जैसे ही दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू हुई, बसपा के सदस्य आसन के समीप आ गये। इस मुद्दे के साथ अन्य मुद्दों पर हंगामे के कारण आज सुबह संसद की कार्यवाही स्थगित कर दी गयी।

राज्यसभा में शून्यकाल में एक बार फिर ब्रजेश पाठक की अगुवाई में बसपा के सदस्य आसन के पास आकर उत्तर प्रदेश सरकार को बर्खास्त करने और वहां राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करने लगे। उन्होंने ‘दलितों पर अत्याचार बंद करो’ और ‘दलित हत्यारी सरकार मुर्दाबाद’ जैसे नारे लगाये। इस दौरान ज्यादातर समय सपा सदस्य अपनी सीटों पर बैठे रहे लेकिन पार्टी सांसद नरेश अग्रवाल को अपने स्थान पर खड़े होकर बसपा सदस्यों का विरोध करते देखा गया। मुरादाबाद जिले में 30 अप्रैल से गुमशुदा चार दलित किसानों के शव आज एक खेत में मिलने के बाद प्रदर्शन शुरू हुआ है।

 

 

Published in राज्य

नई दिल्ली: योगगुरु बाबा रामदेव ने आज कांग्रेस पर तीखा हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार ने घोटालों का नया रिकॉर्ड बनाया है| उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया कि इस सरकार ने देश को लाखों करोड़ का घाटा करवाया है| अगर इतने घोटालों के बाद भी प्रधानमंत्री ईमानदार हैं, तो बेईमान किसे कहेंगे| उन्होंने आरोप लगाया कि अगर प्रधानमंत्री में थोडी भी शर्म होती, तो वे इस्तीफा दे देते|

उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति सरकार के कामकाज पर सवाल उठाते हैं, उन्हें बेईमान करार दिया जाता है| उन्होंने कहा कि हमारे ट्रस्ट के लोगों को भी सरकार ने लालच देकर हमारे खिलाफ गलत बयानबाजी करवायी है| इसका कारण मात्र यह है कि हमने सरकार से कालाधन वापस लाने की मांग की है|

योगगुरु ने खुलकर कांग्रेस पर हल्‍ला बोलते हुए कहा कि कोयले की दलाली में कांग्रेस का मुंह काला हो चुका है और अब कांग्रेस चोरी कर सीनाजोरी कर रही है| उन्‍होंने कहा कि सरकारी एजेंसियां हमारे ट्रस्‍ट के खिलाफ हर तरह से जांच में जुटी हैं जो कि हमारे ट्रस्‍ट के खिलाफ साजिश है| ट्रस्‍ट के लोगों को बेवजह फंसाया जा रहा है|

उन्होंने कहा कि हमने अपने ट्रस्ट के जरिये लोगों की जो सेवा की उसे सरकार ने व्यापार कह दिया और हमें मिले दान को आमदनी करार देकर हमपर टैक्स लगाया है| उन्होंने कहा कि हमारे दादा-परदादा कांग्रेस को वोट देते थे लेकिन कांग्रेस की हकीकत जानने के बाद मैं कांग्रेस से नफरत करने लगा हूं| रामदेव ने कहा, 'यह सीधे-सीधे फकीर और वजीर की लड़ाई है और कांग्रेस दान को भी लूट बता रही है| यह सरकार तो सेवा पर भी टैक्‍स लगा रही है|'

Published in राज्य