Mon09242018

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home दुनिया रेप के मुद्दों पर मोदी के मौन की विदेशों में कड़ी आलोचना
Tuesday, 17 April 2018 17:23

रेप के मुद्दों पर मोदी के मौन की विदेशों में कड़ी आलोचना Featured

Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली: उन्‍नाव और कठुआ सामूहिक दुष्‍कर्म कांड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की खामोशी की विदेशों में भी कड़ी आलोचना हुई है। अमेरिकी समाचारपत्र ‘द न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स’ ने संपादकीय प्रकाशित कर मोदी की चुप्‍पी पर तीखी टिप्‍पणी की है। अखबार ने लिखा, ‘भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आमतौर पर ट्वीट करते रहते हैं। वह खुद को एक प्रतिभाशाली वक्‍ता भी मानते हैं। हालांकि, जब महिलाओं और अल्‍पसंख्‍यक समुदायों के सामने उत्‍पन्‍न खतरों की बात आती है तो वह अपनी आवाज खो बैठते हैं। ये खतरे राष्‍ट्रवादी और सांप्रदायिक ताकतों की ओर से पेश किए जा रहे हैं जो उनकी (मोदी) पार्टी बीजेपी का हिस्‍सा हैं। जनवरी में एक आठ वर्षीय बच्‍ची से सामूहिक दुष्‍कर्म और उसकी हत्‍या से जुड़े मामलों पर सरकार की संवेदनहीन प्रतिक्रिया के खिलाफ भारतीयों ने विरोध प्रदर्शन किया था। इस मामले में उनकी पार्टी के समर्थक घिरे हुए हैं। मोदी ने इस घटना या उन जैसी अन्‍य घटनाओं पर शायद ही कभी बोला है जिनमें उनके समर्थकों के नाम सामने आए हैं।’ अमेरिकी अखबार ने कठुआ सामूहिक दुष्‍कर्म कांड के आरोपियों के समर्थन में आयोजित रैली में भाजपा विधायकों के शामिल होने पर भी सवाल उठाया है। ‘न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स’ ने उन्‍नाव दुष्‍कर्म कांड पर भी टिप्‍पणी की है। अखबार ने लिखा, ‘नरेंद्र मोदी उत्‍तर प्रदेश के बीजेपी विधायक पर लगे दुष्‍कर्म के आरोप पर भी बोलने से बचते रहे। भारत के सबसे ज्‍यादा जनसंख्‍या वाले राज्‍य में भाजपा की ही सरकार है। एक लड़की ने आरोप लगाया कि बीजेपी विधायक ने पिछले साल ही उसके के साथ दुष्‍कर्म किया था, लेकिन पुलिस हाल तक उस विधायक के खिलाफ कार्रवाई करने से बचती रही। विधायक और उसके भाई पर पीड़ि‍ता के पिता की हत्‍या करने की साजिश रचने का आरोप लगाया गया है।’

Read 72 times