Mon09242018

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home खेल हिटमैन के तूफ़ान में उड़ गए अँगरेज़
Sunday, 08 July 2018 17:45

हिटमैन के तूफ़ान में उड़ गए अँगरेज़ Featured

Rate this item
(0 votes)

भारत ने 7 विकेट से जीता मैच और सीरीज़ 

ब्रिस्टल: सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के नाबाद शतक ( 100 56 गेंद,11 चौके, 5 छक्कों) से टीम इंडिया ने ब्रिस्टल में तीसरे टी2- में इंग्लैंड को 7 विकेट से धोकर सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली. उनके अलावा विराट कोहली (43 रन, 29 गेंद, 2 चौके, 2 छक्के) और बाद में हार्दिक पंड्या (33, 14 गेंद, 4 चौके, 2 छक्के) की आतिशी पारी ने भारत की मुश्किल जीत को आसान कर दिया. इंग्लैंड टीम ने भारत से न्योता पाने के बाद कोटे के 20 ओवरों में 9 विकेट पर 199 रन बनाए थे. लेकिन टीम इंडिया ने रोहित शर्मा की अगुवाई में अपने बल्लेबाजी की ताकत दिखाते हुए इस टारगेट को 18.4 ओवरों में 3 विकेट खोकर हासिल कर लिया. रोहित शर्मा को मैन ऑफ द मैच चुना गया. भारत के बल्लेबाजों ने पावर-प्ले में इंग्लैंड जैसा दम तो नहीं दिखाया, लेकिन कोशिश बेहतरीन की. लेकिन इस प्रयास में दो विकेट गिर गए. शिखर धवन सिर्फ 6 रन बना सके, तो आतिशी केएल राहुल ने 10 गेंद पर 19 रन बनाकर एक बेहतरीन कैच का शिकार हो गए. क्रिस जॉर्डन ने उनका बेहतरीन कैच लपका. छह ओवर के बाद भारत का स्कोर 2 विकेट पर 70 रन था. इसमें रोहित शर्मा का योगदान 20 गेंदों पर 39 रन का था. पावर-प्ले के बाद के चार ओवरों में भारत की रन गति थोड़ी धीमी जरूर रही, लेकिन रोहित शर्मा और विराट कोहली सात रन प्रति ओवर से ज्यादा रन दर से रन बटोरे. इस दौरान 9वें ओवर में ही रोहित शर्मा ने अपना पचासा पूरा कर लिया. वो भी सिर्फ 28 गेंदों पर. दसवें ओवर के बाद विराट का स्कोर 14 गेंदों पर 20 रन था. दस ओवर बाद स्कोर 2 विकेट पर सौ रन था. इस दौरान विराट ने तीसरे गीयर में बल्लेबाजी, तो रोहित ने भी पूरा कंधे से कंधे मिलाकर कप्तान का साथ दिया. कोहली ने 12वें ओवर में स्पिनर अली राशिद को छक्का जड़कर पूरी तरह आक्रामक तेवर अख्तियार कर लिए. इससे अगले ओवर में रोहित ने जॉर्डन को एक छक्का जड़ा, तो इससे ठीक अगले ओवर में कोहली ने प्लंकेट का कुछ ऐसा ही हाल किया. इन दोनों ने मिलकर दस रन प्रति ओवर की दर को बरकरार रखा. लेकिन 15वें ओवर की आखिरी गेंद पर कोहली 29 गेंदों पर 43 रन बनाकर लौट गए. लेकिन भारतीय कप्तान ने रोहित के साथ मिलकर जरूरी और मजबूत आधार रख दिया. 15 ओवर बाद टीम का स्कोर 3 विकेट पर 151 रन था. विराट के आउट होने के बाद हार्दिक पंड्या को भेज टीम मैनेजमेंट ने बिल्कुल सही फैसला लिया. एक समय जीत के लिए 24 गेंदों पर 39 रन की दरकार थी. पंड्या ने फिनिशिंग अंदाज की शुरुआत जे. बॉल के फेंके 17वें ओवर की शुरुआती दो गेंदों पर चौके जड़कर की. इस अंदाज ने दूसरा लेवल हासिल किया 18वें ओवर में. हार्दिक ने डेविड विले के इस ओवर की आखिरी तीन गेंदों पर दो चौके और एक छक्का जड़ा. इस ओवर में 20 रन बनाए. यहां से मैच औपचारिकता में तब्दील हो गया. 19वें ओवर की दूसरी गेंद पर रोहित शर्मा ने 56 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया, तो चौथी क्रिस जॉर्डन की फेंकी चौथी स्लोअर-वन पर छक्का जड़कर हार्दिक पंड्या ने भारत को 7 विकेट जीत दिलाने के साथ ही सीरीज पर भी 2-1 से जीत की मुहर लगा दी. भारत ने 18.4 मतलब आठ गेंद बाकी रहते ही जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया. इससे पहले ब्रिस्टल में मेजबान इंग्लैंड ने तीसरे और आखिरी टी-20 मुकाबले में पहले बैटिंग का न्योता पाने के बाद भारत के सामने जीत के लिए 199 का टारगेट रखा है. इंग्लिश टीम ने कोट के 20 ओवर में 9 विकेट पर 198 रन बनाए. उसके लिए ओपनर जैसन राय ने सबसे ज्यादा 67 और जोस बटलर ने 34 और एलेक्स हेल्स ने 30 रन बनाए. राय और बटलर ने पहले विकेट के लिए 94 रन जोड़े, जो इंग्लैंड के मजबूत स्कोर का आधार बना. भारत के लिए हार्दिक पंड्या ने चार विकेट चटकाए. इंग्लैंड के ओपनरों जैसन राय और जोस बटलर ने मिलकर भारतीय गेंदबाजों की पावर-प्ले (शुरुआती 6 ओवर) में जमकर कटाई की. सबसे ज्यादा मार खाई छठा ओवर लेकर आए हार्दिक पंड्या और अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे दीपक चाहर ने. जोस बटलर ने चाहर के पहले ही ओवर में तीन चौके जड़े, जो हार्दिक के छठे ओवर में जैसन राय ने दो छक्के और दो चौके लगाते हुए 22 रन बटोर कर पावर-प्ले में शक्ति के संतुलन का पलड़ा पूरी तरह अपने पक्ष में कर लिया क्योंकि इन छह ओवरों में इंग्लैंड का स्कोर बिना किसी नुकसान के 73 रन हो गया. आठवें ओवर में इंग्लैंड को पहला झटका लगा, जब सिद्धार्थ गोल ने इन-फॉर्म जोस बटलर की गिल्लियां बिखरे दीं. बटलर ने आउट होने से पहले 34 रन का योगदान दिया. इसके बाद 10वें ओवर की चौथी गेंद पर पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे दीपक चाहर ने धुंधाधार रन बरसा रहे जैसन राय को धोनी के हाथों विकेट के पीछे लपकवाकर दूसरा झटका लगा. जैसन राय ने 31 गेंदों पर 67 रन बनाए. धुनाई का आलम देख लीजिए! 4 चौके और 7 गगन चुंबी छक्के. और दस ओवर बाद स्कोर था 2 विकेट पर 11 रन. हार्दिक पंड्या का फेंका गया पारी का 14 वां ओवर इंग्लैंड के लिए मैच की इस स्थिति तक सबसे नुकसानदेह रहा. इस ओवर में हार्दिक पटेल ने दो विकेट लिए. पहले उन्होंने कप्तान ओइन मॉर्गन को धोनी के हाथों बहुत ही ऊंचा कैच लपकवाया. मॉर्गन सिर्फ 6 रन बना सके, तो इसी ओवर की आखिरी गेंद पर उन्होंने एलेक्स हेल्स को भी विकेट के पीछे लपकवा दिया. हेल्स ने 30 रन का योगदान दिया. 15 ओवर बाद स्कोर 4 विकेट पर 150 रन था. आखिर के पांच ओवरों में इंग्लैंड ने पांच विकेट गंवाए. इसमें अपना पहला ओवर बहुत ही महंगा फेंकने वाले हार्दिक पंडया ने दो विकेट चटकाए. हार्दिक ने बेन स्टोक्स और जॉनी बैर्यस्टो को चलता कर अपने विकेटों की संख्या को चार कर लिया. इंग्लैंड नियमित अंतराल पर विकेट गंवाता रहा. आखिरी पांच ओवरों में इंग्लिश टीम ने पांच विकेट गंवाए, लेकिन उसने अपने स्कोर को कोटे के 20 ओवरों में 9 विकेट पर 198 रन तक पहुंचाकर टीम इंडिया के सामने 199 रन का विराट चैलेंज खड़ा कर दिया. इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला लिया है. सीरीज डिसाइडर मुकाबले के लिए भारत ने अंतिम एकादश में दो बदलाव किए हैं. पहले मैच में मैन ऑफ द मैच रहे कुलदीप यादव की जगह सिद्धार्थ कौल और भुवनेश्वर कुमार की जगह दीपक चाहर को शामिल किया गया है. दीपक चाहर की यह अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत रही.

Read 27 times