Mon10142019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home धर्मकर्म हनुमान की भक्ति के बिना राम की कृपा पाना असम्भव
Sunday, 25 November 2018 16:46

हनुमान की भक्ति के बिना राम की कृपा पाना असम्भव

Rate this item
(0 votes)

जानकीपुरम विस्तार में कलश शोभायात्रा के साथ दिव्य श्रीहनुमन्त कथा शुरू

लखनऊ। दिव्य अध्यात्म राष्ट्र सेवा मिशन एवं दिव्य श्री राधा सखी मण्डल जानकीपुरम इकाई के तत्वाधान में आज यहां भव्य शोभायात्रा के साथ दिव्य श्रीहनुमन्त कथा का शुभारम्भ हो गया। पानी की टंकी वाले पार्क संख्या-1, सेक्टर-पांच, जानकीपुरम विस्तार में प्रारम्भ हुयी कथा के पहले दिन वृंदावन से आये कथावाचक डा0 अनिरूद्धजी महाराज ने रामभक्त हनुमान जी के कुशल जीवन प्रबन्धन पर का उदाहरण प्रस्तुत करते हुये बताया कि हनुमान जी की भक्ति के बिना रामजी की कृपा पाना असम्भव है, क्योंकि सेवक ही स्वामी तक पहुंचाता है, और हनुमान भगवान राम के सेवक होने का दुनिया में इससे बड़ा कोई उदाहरण भी नहीं है। सैकड़ों की संख्या में कथा का श्रवण करने पहुंचे भक्तों को डा0 अनिरूद्ध ने बताया कि हनुमान के जीवन के कुशल प्रबन्धन को समझना ही भक्त के लिये एक सफल प्रबन्धक होना है। कथा के शुरू होने से पूर्व आयोजन स्थल पर सैकड़ों की संख्या में महिलायें और पुरूष एकत्र हुये और पूजा-अर्चना के बाद कलष शोभायात्रा निकाली गयी। जिसमें आयोजक ज्ञान चन्द्र शुक्ला, सुनीति शुक्ला, दिव्य श्री राधा सखी मण्डल जानकीपुरम इकाई की प्रभारी श्रीमती शीला सिंह सहित आर0बी0 पाण्डेय, धर्मेन्द्र सिंह चौहान, ओपी पाण्डेय, राम प्रकाश तिवारी, गोपाल जी निगम, एपी अग्रवाल, केके गुप्ता, बीके अस्थाना, अरविन्द सिंह भदौरिया सहित सैकड़ों भक्तगणों ने हिस्सा लिया। आयोजक ज्ञानचन्द्र शुक्ला ने बताया कि कथा का आयोजन 29 नवम्बर को अपराह्न तीन बजे से सायं सात बजे तक चलेगी। जबकि 30 नवम्बर को हवन एवं भण्डारे के साथ दिव्य श्रीहनुमन्त कथा का विधिवत समापन होगा।

Read 126 times