Sun05262019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home देश TMC के गुंडों ने ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ा: पीएम मुद्दे
Thursday, 16 May 2019 13:41

TMC के गुंडों ने ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ा: पीएम मुद्दे Featured

Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली: गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मऊ में पीएम नरेन्द्र मोदी पहुंचे। पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर हमला करते हुए कहा- ‘कुछ महीने पहले जब पश्चिम मिदनापुर में मेरी सभा थी तो वहां TMC के गुंडों द्वारा अराजकता फैलाई गयी थी। इसके बाद ठाकुरनगर में तो ये हालत कर दी गई थी कि मुझे अपना संबोधन बीच में छोड़कर मंच से हट जाना पड़ा था TMC के गुंडों की ये दादागीरी परसों रात भी देखने को मिली है। परसों (14 मई) कोलकाता में भाई अमित शाह के रोड शो के दौरान TMC के गुंडों ने ईश्वर चंद विद्यासागर की मूर्ति को तोड़ दिया। ऐसा करने वालों को कठोर से कठोर सज़ा दी जानी चाहिए। लेकिन हम आपसे वादा करते हैं कि ईश्वर चंद्र विद्यासागर की उस ही जगह पर पहले से भी बड़ी मूर्ति लगवाई जाएगी।’ पीएम मोदी ने विपक्ष पर हमला करते हुए कहा- ‘ वो महामिलावटी जो महीनेभर पहले तक मोदी हटाओ का राग अलाप रहे थे, वो आज बौखलाए हैं। उनकी पराजय पर देश ने मुहर लगा दी है। उत्तर प्रदेश ने तो इनका सारा गुणा गणित ही बिगाड़ दिया है। देश इन महामिलावटी लोगों की सच्चाई पहले दिन से जानता है कि मोदी हटाना तो मात्र एक बहाना था साल में इन्हें अपने भ्रष्टाचार के पाप को छिपाना था। मोदी हटाओ का नारा तो महामिलावटियों का बहाना था, असल में इन्हें अपने अपने भ्रष्टाचार के पाप को छुपाना था, इसलिए ये कोशिश कर रहे हैं कि देश में जैसे-तैसे खिचड़ी सरकार बन जाए। ये एक मजबूर सरकार चाहते थे, जिसे वो अपनी जरूरत के हिसाब से ब्लैकमेल कर सकें।’ पीएम मोदी ने सपा बसपा गठबंधन पर हमला करते हुए कहा- ‘उत्तर प्रदेश में सपा बसपा ने जाति के आधार पर एक अवसरवादी गठबंधन किया। लखनऊ में AC कमरें में बैठकर तो डील हो गयी, लेकिन जमीन से कटे हुए ये नेता अपने कार्यकर्ताओं को भूल गए। जिसका ये नतीजा निकला कि सपा और बसपा के कार्यकर्ता आज भी एक दूसरे पर हमले कर रहे हैं।इन लोगों के कुछ जातियों को अपना गुलाम समझ लिया था, 2014 में पहली बार समझने और 2017 में दूसरी बार समझाने के बाद उत्तर प्रदेश के लोग 2019 में अच्छे से समझाने जा रहे हैं कि जातियां किसी की गुलाम नहीं हैं। अब बुआ हो या बबुआ हो, इन लोगों ने खुद को गरीबों से इतना दूर कर लिया है, इन्होने अपने आसपास पैसे की, वैभव की और अपने दरबारियों की इतनी बड़ी दीवार खड़ी कर ली है की अब इन्हें गरीबों का दुःख नजर नहीं आता। मैं उन किसान परिवारों के बैंक खाते में सीधी मदद देने में जुटा हूं, जिन्हें छोटे-छोटे खर्च के लिए भी कर्ज लेना पड़ता था।’ पीएम मोदी ने राजस्थान के अलवर में हुए गैंगरेप का जिक्र किया और कहा-‘ कुछ दिन पहले राजस्थान के अलवर में एक दलित बेटी के साथ गैंगरेप किया गया था। वहां बहन जी के समर्थन से कांग्रेस की सरकार चल रही है। कांग्रेस की सरकार ने चुनाव को देखते हुए उस दलित बेटी के साथ हुए इस राक्षसी अपराध को छिपाने की कोशिश की। बहन जी सब जानती हैं, लेकिन कांग्रेस सरकार से समर्थन वापस लेने के बजाय वो मोदी को गालियां देने में जुटी हैं। मैं यहां की और पूर्वांचल की महिलाओं को विशेष आग्रह करूंगा कि वो ऐसे महिला विरोधी दलों के खिलाफ पूरी ताकत से मतदान करे। महिलाओं की गरिमा और उनकी मर्यादा एवं हितों के लिए मतदान करें। महिला हितों, महिला सुरक्षा के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है। आजादी के इतिहास में पहली बार, रेप केस में फांसी की सज़ा का प्रावधान इस चौकीदार ने किया है।’ गठबंधन के साथ ही पीएम मोदी ने सपा-बसपा के मऊ प्रत्याशी पर तीखा वार करते हुए कहा- ‘सपा-बसपा ने यहां से ऐसे उम्मीदवार को टिकट दिया है जो बलात्कार के आरोप में भगौड़ा है। समाजवादी पार्टी का इतिहास तो लोग जानते हैं, लेकिन बहन जी आप क्या ऐसे उम्मीदवार के लिए वोट मांगेगी? कमल के निशान पर बटन दबाने का मतलब है, बलात्कारियों को फांसी की सज़ा। कमल के निशान पर बटन दबाने का मतलब है, हर घर शौचालय, हर घर में पानी की सुविधा। मोदी ने कहा- ‘बहन जी ने पश्चिम बंगाल को लेकर मुझ पर निशाना साधा है। चुनाव आयोग को भी आड़े हाथों लिया है। जिस तरह ममता दीदी वहां पर यूपी-बिहार और पूर्वांचल के लोगों पर निशाना साध रही हैं, मुझे लगा बहन मायावती इस पर ममता दीदी को जरूर खरी-खोटी सुनाएंगी। लेकिन ऐसा हुआ नहीं, सत्ता के नशे में ममता दीदी लोकतंत्र विरोधी मानसिकता में बंगाल में सब कुछ कर रही है। दीदी का रवैया तो मैं बहुत दिनों से देख रहा हूं, अब इसे पूरा देश भी देख रहा है।’

Read 1 times