Print this page
Tuesday, 21 May 2019 13:24

देश के सबसे बड़े निवेशक राकेश झुनझुनवाला ने बताया, 'लोकतंत्र' भारत के विकास में सबसे बड़ी बाधा Featured

Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली: देश के सबसे निवेशक झुनझुनवाला ने कहा कि लोकतंत्र भारत के विकास में सबसे बड़ी बाधा है, लेकिन यह आवश्यक है. उन्होंने कहा, मुझे नहीं लगता कि भारत की ग्रोथ ग्लोबल ग्रोथ से जुड़ी है क्योंकि भारत का निर्यात जीडीपी से कम है. भारत में पिछले पांच वर्षों में उप-पूंजीगत व्यय हुआ है. लेकिन, इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (IBC) की वजह से भारत में क्रेडिट कल्चर में सुधार हो रहा है. झुनझुनवाला का मानना है कि एग्जिट पोल से बेहतर असली नतीजे रहेंगे. राकेश झुनझुनवाला ने कहा, लोकसभा चुनाव में NDA को 300±10 सीटें मिलेंगी. 2019 लोकसभा चुनाव के लिए एग्जिट पोल में मोदी सरकार को पूर्ण बहुमत मिलती दिख रही है. दोबारा मोदी की सरकार बनने की उम्मीद से शेयर बाजार में तेजी देखने को मिली है. सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में 10 साल की सबसे बड़ी तेजी दर्ज की गई है. एग्जिट पोल में एनडीए को 304 सीटें और यूपीए को 118 सीटें मिलने का अनुमान है जबकि अन्य सीटें अन्य पार्टियों को मिली. राकेश झुनझुनवाला के मुताबिक निफ्टी का निचला स्तर 11,000 बन गया है. हालांकि ऊपरी और निचले स्तर का सटीक अनुमान नहीं लगाया जा सकता है. 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने पर निफ्टी ने 30 फीसदी से अधिक रिटर्न दिया. लेकिन समान उत्साह की पुनरावृत्ति होने की संभावना नहीं है. 2019 में बाजार 30 फीसदी रिटर्न नहीं दे सकता है, लेकिन मुझे लगता है कि बाजार अच्छा होगा. अगर एनडीए को स्पष्ट बहुमत मिलता है तो 10,750-11,000 को एक क्रूसियल बॉटन के रूप में देखा जा सकता है. झुनझुनवाला ने आगे कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल से उम्मीदें कम हैं,, लेकिन परिणाम बेहतर होंगे.

Read 22 times

Related items