Print this page
Friday, 24 May 2019 17:37

सूरत: कोचिंग सेंटर में लगी, 20 बच्चों की मौत, देर से पहुंची फायर ब्रिगेड Featured

Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली: सूरत के सरथाणा इलाके की एक इमारत में भीषण आग लग गई. हादसे में 19 बच्चों की मौत हो गई. बताया जा रहा है कि यह एक व्यावसायिक इमारत है जिसका नाम तक्षशीला है. इसमें कोचिंग सेंटर चल रहा था और इसमें बढ़ी संख्या में बच्चे मौजूद थे. तीसरे माले पर अचानक लगी आग के बाद बच्चे इमारत की तीसरी मंजिल पर फंस गए. आग इतनी तेजी से फैली की बच्चों को बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं मिला और सभी तीसरे माले पर फंस गए. इस दौरान कई बच्चे धूंए के कारण वहीं बेहोश हो गए. बाद में जान पर बनती देख बच्चों ने इमारत से छलांग लगाना शुरू किया और कई बच्चे नीचे बिना किसी सहारे के सीधे कूद गए. इससे करीब 19 बच्चों की मौत हो गई. वहीं प्रधानमंत्री ने इस हादसे पर दुख जताया है और गुजरात सरकार फौरन राहत पहुंचाने के आदेश दिए हैं. स्‍थानीय लोगों ने बताया कि जैसे ही आग लगने का पता चला, इसकी जानकारी फायर स्टेशन को दी गई लेकिन फिर भी फायर ब्रिगेड समय पर नहीं पहुंची और आग ने विकराल रूप ले लिया. जिसके बाद बने के लिए बच्चों ने इमारत के ऊपर से छलांग लगानी शुरू कर दी. हालांकि इस दौरान स्‍थानीय लोगों ने सीढ़ी लगाकर बच्चों को बचाने का भी प्रयास किया लेकिन वह नाकाफी दिखाई दिया. बताया जा रहा है कि करीब एक घंटे बाद आग पर अब आखिरकार काबू पा‌ लिया गया है और अब इमारत में देखा जा रहा है कि कोई और तो नहीं फंसा रह गया है. फायर ब्रिगेड के कर्मचारी और पुलिस मौके पर सघन जांच कर रही है. फिलहाल आग के कारणों का पता नहीं चल सका है. बताया जा रहा है कि कोचिंग सेंटर में 30 से ज्यादा बच्चे मौजूद थे. सीएम ने दिए जांच के आदेशगुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने हादसे पर काफी दुख जताया और इसकी जांच के न्यायिक आदेश दे दिए हैं. मुख्य मंत्री ने इस दौरान कहा कि मैं हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के साथ हूं, घायल हुए बच्चों के जल्द ही कुशल होने की कामना करता हूं. ही सीएम ने हादसे में मारे गए लोगों को चार लाख रुपए देने की भी घोषणा की है. स्टेट अरबन डवलपमेंट विभाग को भी इमारत की जांच के आदेश दिए गए हैं.

Read 43 times