Tue06182019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home देश लोकसभा चुनाव में पार्टी की दुर्दशा पर लालू यादव सदमे में, दोपहर का खाना छोड़ा
Sunday, 26 May 2019 07:08

लोकसभा चुनाव में पार्टी की दुर्दशा पर लालू यादव सदमे में, दोपहर का खाना छोड़ा Featured

Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) का सफाया होने के बाद लालू प्रसाद सदमें में हैं और उन्हे ठीक से नींद भी नहीं आ रही है। साथ ही साथ उन्होंने भोजन करना भी छोड़ दिया है। कहा जा रहा है कि डॉक्टर लगातार उनसे समझाइश कर रहे हैं कि वह खाना समय से खाएं। बता दें, आरजेडी को बिहार में करारी हार मिली है। उसका खाता तक नहीं खुला है। 

खबरों के अनुसार, लालू यादव सुबह बमुश्किल नाश्ता तो कर ले रहे हैं, लेकिन दोपहर का खाना नहीं खा रहे हैं। इस संबंध में डॉक्टर समझाइश कर रह रहे हैं। बताया जा रहा है कि लालू अगर ऐसा करते रहे तो उनकी तबीयत और खराब हो सकती है। 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो डॉक्टरों का कहना है कि लोकसभा चुनाव के बाद से लालू काफी तनाव में है, जिसकी वजह से उनकी दिनचर्या गड़बड़ा गई है। नाश्ता करने के बाद रात को भी बमुश्किल खाना खा रहे हैं, जिससे उन्हें इंसुलिन देने में भी दिक्कत हो रही है। हालांकि वह अपनी तरफ से उन्हें लगातार समझा रहे हैं। डॉक्टरों को अंदेशा है कि लालू एंजाइटी के शिकार न हो जाएं।

चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव को एक दर्जन से अधिक बीमारिया हैं। वह पिछले कई महीनों से झारखंड की राजधानी रांची के रिम्स में इलाज करवा रहे हैं। उन्हें हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज भी है। बता दें, लालू प्रसाद यादव को नौ सौ करोड़ रुपये से अधिक के चारा घोटाले से संबंधित तीन मामलों में दोषी ठहराया जा चुका है और उन्हें सजा सुनाई जा चुकी है। 

लालू यादव के ये तीनों मामले 1990 के दशक में, जब झारखण्ड बिहार का हिस्सा था, धोखे से पशुपालन विभाग के खजाने से धन निकालने से संबंधित हैं। लालू प्रसाद यदव ने उच्च न्यायालय में जमानत के लिये अपनी उम्र और गिरते स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा था कि वह मधुमेह, रक्तचाप और कई अन्य बीमारियों से जूझ रहे हैं और उन्हें चारा घोटाले से संबंधित एक मामले में पहले ही जमानत मिल गई थी।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को झारखण्ड में स्थित देवघर, दुमका और चाईबासा के दो कोषागार से छल से धन निकालने के अपराध में भी दोषी ठहराया जा चुका है। 

Read 7 times