Tue11122019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home खेल पाकिस्तान टीम को सलाह दे देकर गए हैं वसीम अकरम
Tuesday, 18 June 2019 11:29

पाकिस्तान टीम को सलाह दे देकर गए हैं वसीम अकरम

Rate this item
(0 votes)

मैनचेस्टर: दुनियाभर में स्विंग के सुल्तान के नाम से मशहूर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अकरम ने भारत के खिलाफ हार के बाद कप्तान सरफराज अहमद के पांच गेंदबाजों के साथ टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने के निर्णय पर सवाल उठाए हैं। पाकिस्तानी न्यूज चैनल जियो के साथ बात करते हुए वसीम ने कहा, पाकिस्तानी टीम लगातार जो गलतियां कर रही है उनपर सवाल उठाकर वो थक गए हैं। 

उन्होंने पाकिस्तान की हार के बाद कहा, जब आप मैच में पांच गेंदबाजों के साथ उतर रहे हैं इसका मतलब आपके पास एक बल्लेबाज कम है और गेंदबाजी आपकी ताकत है। और जब आप अपनी पूरी ताकत के साथ गेंदबाजी करते हैं तो आप लक्ष्य का बचाव करना चाहते हैं। मैं पिछले दो मैचों से उनसे ये बात कहता आ रहा हूं लेकिन अब मैं ऐसा करके थक गया हूं। 

वसीम ने कहा, वो पहले लंकाशर काउंटी के लिए इसी मैदान पर खेल चुके हैं लेकिन पाकिस्तानी टीम का कोई सदस्य मुझसे यहां की कंडीशन्स के बारे में सलाह मांगने नहीं आया। उन्होंने कहा, मैं यहां हूं,  मैं खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करने के लिए तैयार हूं लेकिन इसके लिए कोई मेरे पास तो आए।' वर्ल्ड कप के दौरान कॉमेंट्री कर रहे अकरम ने कहा, पूरे टूर्नामेंट के दौरान केवल शाहीन अफरीदी एक बार मेरे पास सलाह मांगने आया था उनके अलावा और किसी ने ऐसा नहीं किया। 

उन्होंने कहा कि अब विश्व कप में परिस्थितियां पाकिस्तान के नियंत्रण में नहीं हैं। अब बहुत से किंतु-परंतु हैं जो कि पाकिस्तानी क्रिकेट के सेमीफाइनल तक पहुंचने के लिए अच्छे संकेत नहीं है। अब आपके बाकी के सारे मैच जीतने होंगे इसके अलावा कई अन्य मैचों के परिणाम अपने पक्ष में होने की दुआ करनी होगी। चीजें अब आपके दायरे और नियंत्रण से बाहर चली गई हैं।  अकरम ने आगे कहा, मैं लोगों को निराश नहीं करना चाहता लेकिन अब मुझे टूर्नामेंट में पाकिस्तान के लिए कोई आशा नहीं दिखाई दे रही है। 

पाकिस्तानी खेमे की फील्डिंग से नाराज अकरम ने खिलाड़ियों को याद दिलाया कि बिना दर्द के कुछ भी हासिल नहीं होता। उन्होंने कहा, कौन सी टीम फील्डिंग का अभ्यास ग्लव्स और इनर पहनकर करती है। पाकिस्तान के खिलाड़ी लेकिन ऐसा कर रहे हैं। यदि आप अभ्यास के दौरान ऐसा करेंगे तो परिस्थितियों के साथ संतुलन बनाकर नहीं उनके अनुरूप नहीं ढल सकते।  फील्डिंग के दौरान चौकन्ने रहिए और हर एक गेंद को पकड़ने की कोशिश करिए जो आपके पास से गुजर रही है। ऐसा करके ही आप एक अच्छे फील्डर बन सकते हैं। 

Read 26 times