Fri10182019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home राज्य संचारी रोगों में उपचार से अधिक बचाव का महत्व, मुख्यमंत्री ने दस्तक चैम्पियन्स को सम्मानित किया
Monday, 01 July 2019 11:55

संचारी रोगों में उपचार से अधिक बचाव का महत्व, मुख्यमंत्री ने दस्तक चैम्पियन्स को सम्मानित किया

Rate this item
(0 votes)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि लोगांे को गुणवत्तापरक चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान करने के लिए वर्तमान प्रदेश सरकार कार्य योजना बनाकर काम कर रही है। जनजागरण और जनसहभागिता के माध्यम से जनस्वास्थ्य की गंभीर चुनौतियों पर विजय प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने कहा कि संचारी रोगों में उपचार से अधिक बचाव का महत्व है। 

मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां लोक भवन में संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के द्वितीय चरण के शुभारम्भ अवसर पर व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि जल जनित व विषाणु जनित रोगों पर नियंत्रण के लिए आवश्यक है कि साफ-सफाई की जाए व स्वच्छता को अपनाया जाए। उन्होंने कहा राज्य सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रदेश के ग्रामीण व शहरी इलाकों में अभियान चलाकर बड़ी संख्या में शौचालय बनवाए गए। उन्होंने कहा कि मच्छरों से बचाव के लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत को फाॅगिंग के लिए 10 हजार रुपए स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए जा रहे हैं। इससे पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने दस्तक चैम्पियन्स को सम्मानित किया

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में दिमागी बुखार सबसे अधिक नवजात शिशुओं से लेकर 15 वर्ष के बच्चों को प्रभावित करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने स्वयं एक सांसद के रूप में इन्सेफेलाइटिस के खिलाफ सड़क से संसद तक आवाज उठायी। उन्होंने कहा कि पिछले साल संचारी रोग नियंत्रण तथा दस्तक अभियानों के अत्यन्त उत्साहजनक परिणाम सामने आए और हमें दिमागी बुखार की रोकथाम में अभूतपूर्व सफलता मिली। दिमागी बुखार के रोगियों की संख्या में 35 प्रतिशत की कमी 01 वर्ष में आयी। वहीं इस रोग के कारण होने वाली मौतों की संख्या में 65 प्रतिशत तक की कमी आयी है। साथ ही, अन्य संचारी रोगों के प्रकोप में भी गिरावट दर्ज की गई है। उन्होंने इसके लिए यूनीसेफ, विश्व स्वास्थ्य संगठन तथा स्वयंसेवी संगठनों के कार्यों की सराहना की। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिमागी बुखार के विषय में जन-जागरूकता बढ़ाने में दस्तक चैम्पियन्स ने विगत वर्ष महत्वपूर्ण कार्य किया है। दस्तक चैम्पियन्स के रूप में आशा कार्यकत्र्रियों, ग्राम प्रधानों, शिक्षकों तथा चिकित्सा अधिकारियों का प्रयास सराहनीय है। गोरखपुर तथा बस्ती मण्डल के प्रत्येक जनपद से इनमें से प्रत्येक श्रेणी के एक-एक उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति को सम्मानित किया गया है। दिमागी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण के लिए प्रदेश सरकार द्वारा गोरखपुर तथा बस्ती मण्डल के सभी जनपदों के जनपद एवं ब्लाॅक स्तरीय चिकित्सालयों पर दिमागी रोग उपचार केन्द्र (म्ण्ज्ण्ब्ण्) स्थापित किए गए हैं। 

मुख्यमंत्री जी ने जन जागरूकता अभियान के प्रचार वाहनों को भी आज झण्डी दिखाकर रवाना किया। 

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार के प्रयासों से ही प्रदेश स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाया जा सका है। 

Read 42 times