Thu02272020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home मनोरंजन भारत फोर्ज और पैरामाउंट ग्रुप के बीच स्ट्रैटेजिक साझेदारी
Friday, 07 February 2020 13:51

भारत फोर्ज और पैरामाउंट ग्रुप के बीच स्ट्रैटेजिक साझेदारी

Rate this item
(0 votes)

लखनऊ: वैश्विक स्तर की विमान और अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी कंपनी पैरामाउंट ग्रुप और भारत के अग्रणी औद्योगिक समूह भारत फोर्ज के बीच स्ट्रैटेजिक साझेदारी पर हस्ताक्षर किए गए हैं। 'मेक इन इंडिया' अभियान के परिणाम स्वरुप भारतीय मार्केट्स में और अन्य देशों में निर्माण हो रहे अवसरों का लाभ उठाने के उद्देश्य से, रक्षा और एयरोस्पेस सिस्टम्स के औद्योगिकीकरण और स्वदेशीकरण में दोनों समूहों की प्रौद्योगिकियां, क्षमताएं और निपुणताओं को एकसाथ उपयोग में लाने के लिए यह उच्च स्तरीय साझेदारी की गयी है। लखनऊ में आयोजित किए गए डेफएक्सपो 2020 में इन कंपनियों ने दो समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए हैं। इनमें एयरोस्पेस और स्पेशल प्रोटेक्टेड वेहिकल्स क्षेत्रों के अवसरों को शामिल किया गया है। इन समझौतों के अनुसार पैरामाउंट ग्रुप और भारत फोर्ज रक्षा और एयरोस्पेस उत्पादों, सेवाओं और सिस्टम्स की रचना, विकास, औद्योगिकीकरण और स्वदेशीकरण के लिए वैश्विक स्तर के अवसरों पर एकसाथ मिलकर काम करेंगे। बीएफएल के डिफेन्स और एयरोस्पेस के प्रेसिडेंट और सीईओ रजिंदर भाटिया ने बताया, "पैरामाउंट ग्रुप और भारत फोर्ज की कई क्षमताएं और उत्पाद एक दूसरे के लिए अनुरूप हैं, इस साझेदारी से अब यह दोनों समूह रक्षा क्षेत्र की युद्ध से जुड़ी विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए सक्षम बन गए हैं।" पैरामाउंट ग्रुप के ग्रुप चेयरमैन इवोर इचिकोविट्ज़ ने कहा, "स्ट्रैटेजिक साझेदारी के जरिए रक्षा औद्योगिक इको-सिस्टम्स को बनाना पैरामाउंट के पोर्टेबल मैन्युफैक्चरिंग मॉडल की बुनियाद रहा है। मजबूत और दीर्घकालिक साझेदारी के माध्यम से अपनी रक्षा और एयरोस्पेस सिस्टम प्रौद्योगिकियों और सोल्यूशंस को विकसित करने के लिए हम उत्सुक हैं। प्रौद्योगिकी और कौशल हस्तांतरण से स्थानीय विनिर्माण को सक्षम करने, रक्षा और एयरोस्पेस प्रौद्योगिकियों के स्वदेशीकरण और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने वाले हाई वैल्यू जॉब्स के निर्माण से वित्तीय व्यवस्था की प्रगति को बढ़ावा देने की नीति यह हम में और भारत फोर्ज के बीच समानता है, ऐसी कंपनी के साथ साझेदारी करते हुए हमें बहुत ख़ुशी हो रही है। हमारे संबंधित संगठनों के बीच उत्कृष्ट तालमेल है जो नवाचार, प्रौद्योगिकी विकास और रक्षा क्षमताओं के स्वदेशीकरण की नींव बन सकता है।"

Read 15 times