Sat06062020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home लाइफ स्टाइल कोरोना के बीच चीन में आया नया जानलेवा हंता वायरस
Tuesday, 24 March 2020 11:19

कोरोना के बीच चीन में आया नया जानलेवा हंता वायरस Featured

Rate this item
(0 votes)

बीजिंग: पूरी दुनिया इस समय में कोरोना ने कहर बरपाया है। इस बीच चीन में नया वायरस आ गया है। कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। चीन के युन्नान प्रांत से खबर आ रही है कि यहां एक व्यक्ति की हंता वायरस (Hantavirus) से मौत हुई है। 

एक ओर पूरा विश्व कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित है तो वहीं चीन में अब हंता वायरस (Hantavirus) ने दस्तक दे दी है। यहां के युन्नान प्रांत में हंता वायरस ने एक युवक की जान ले ली। दरअसल, यह युवक किसी काम के सिलसिले में शाडोंग प्रांत जा रहा था। ऐसे में बस में सफ़र करने के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। वह हंता वायरस पॉजिटिव था। इसलिए इस मामले के सामने आते ही लोगों के बीच हड़कंप मच गया है। साथ ही, बस में सवार सभी यात्रियों की अब जांच की जा रही है। 

वैनगार्ड की एक रिपोर्ट के अनुसार, जब से हंता वायरस से एक की मौत का मामला सामने आया है, तब से इसने सोशल मीडिया पर बवाल मचा दिया है। ऐसी स्थिति में अब लोग ट्विटर पर इस वायरस को लेकर लगातार ट्वीट कर रहे हैं और यह डर व्यक्त कर रहे हैं कि कहीं ये वायरस भी कोरोना वायरस की तरह महामारी न साबित हो जाए। हंता वायरस को लेकर लोगों का मानना है कि चीन में जानवरों को जिंदा खाया जाता है। इसलिए चीन को ऐसा करना छोड़ देना चाहिए, ताकि इस तरह की भयानक बीमारियां रुक जाएं। 

हंता वायरस चूहे या गिलहरी के संपर्क में आने से इंसानों में फैलता है। इस वायरस को लेकर सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन का कहना है कि जब चूहे घर के अंदर और बाहर आते-जाते हैं तब हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा और बढ़ जाता है। ऐसे में जब कोई स्वस्थ व्यक्ति भी हंता वायरस के संपर्क में आ जाता है तो उसे संक्रमण होने का खतरा अधिक हो जाता है।

मगर हंता वायरस से पीड़ित व्यक्ति अगर किसी और व्यक्ति को छुए तो यह दूसरे व्यक्ति नहीं होगा। सीधे तौर पर यह फैलने वाली बीमारी नहीं है। हालांकि, जब कोई इंसान किसी चूहे या गिलहरी के मल या पेशाब को छूने के बाद अपनी आंखों, नाक या मुंह को छूता है तब उसे इससे संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। 

जो व्यक्ति हंता वायरस से संक्रमित है उसे बुखार, शरीर में दर्द, सिर दर्द, पेट में दर्द, डायरिया, उल्‍टी आदि हो जाती है। ऐसे में अगर इसके इलाज में कोई लापरवाही बरती या फिर देरी की तो इस वायरस की वजह से संक्रमित इंसान के फेफड़े में पानी भर जाता है, जिसकी वजह से उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगती है।

सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, हंता वायरस जानलेवा है। इससे संक्रमित मरने वालों का आंकड़ा 38 फीसदी है। वहीं, इस वायरस से मरने वाले व्यक्ति का मामला तब सामने आया है, जब पूरा कोरोना वायरस से जूझ रहा है। आपको बता दें कि कोविड-19 (COVID-19) अब महामारी घोषित कर दी गई है और इसकी वजह से अब तक तकरीबन 16 हजार 500 लोग अपनी जान गवां चुके हैं। 

 

Read 44 times