Tue09222020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home देश भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर नहीं आएगी, यह कहना कठिन है: आईसीएमआर
Monday, 03 August 2020 18:03

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर नहीं आएगी, यह कहना कठिन है: आईसीएमआर Featured

Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप बरकरार है। इस बीसीज आईसीएमआर प्रमुख डॉ. बलराम भार्गव ने कहा है कि यह भविष्यवाणी करना मुश्किल है कि भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर दिखाई देगी या नहीं। हालांकि उन्‍होंने इस बात की ओर इशारा किया देश की विभिन्‍न भौगोलिक स्थितियों के चलते अलग-अलग समय पर संक्रमण की छोटी लहरें नजर आ सकती हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई से विशेष साक्षात्‍कार में प्रो. भार्गव ने कहा कि हालात तेजी से बदल रहे हैं। विश्व भर के विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों में संक्रमण और मृत्यु दर में काफी भिन्नताएं हैं।

प्रो. भार्गव ने कहा कि सार्स कोव-2 एक वायरस है जिसके बारे में अभी भी बहुत कुछ जानना बाकी है। हमने विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों में संक्रमण और मृत्यु दर में भी काफी भिन्नताएं देखी हैं। ऐसे में यह अंदाजा लगाना कठिन है कि भारत में संक्रमण की दूसरी लहर नजर आएगी या नहीं। विशिष्ट राज्यों में रोग के फैलने की दर में व्यापक भिन्नता है इसलिए इसे एक खांचे में फिट नहीं किया जा सकता है। उन्‍होंने कहा कि कोरोना की चुनौती से निपटने के लिए सभी नागरिकों की पूर्ण भागीदारी आवश्यक है।

आईसीएमआर प्रमुख भार्गव ने कहा कि देश में विभिन्‍न भौगोलिक परिस्‍थ‍ितियों के चलते कोरोना का अलग-अलग दौर होगा। हम इसकी निगरानी करना जारी रखेंगे। मौजूदा समय में यह आवश्यक है कि लोग सामाजिक दूरी, मास्क का उपयोग जैसे निवारक उपायों का पालन करें। यह पूछे जाने पर कि आईसीएमआर इस वायरस को लेकर भविष्य के खतरे से कैसे निपटेगा। भार्गव ने कहा कि आईसीएमआर पहले ही 10 दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के साथ सहयोगात्मक अनुसंधान के लिए साझा मंच तैयार कर चुका है।

Read 19 times