Sat10242020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home देश झारखंड: अब दुमका में सामूहिक दुष्कर्म के बाद नाबालिग की हत्‍या, सीएम हेमंत ने लिया संज्ञान
Friday, 16 October 2020 17:35

झारखंड: अब दुमका में सामूहिक दुष्कर्म के बाद नाबालिग की हत्‍या, सीएम हेमंत ने लिया संज्ञान Featured

Rate this item
(0 votes)

नई दिल्ली: झारखंड में नाबालिग से सामूहिक दुष्‍कर्म और हत्‍या की घनाएं थम नहीं रही हैं। गुमला के चैनपुर और साहिबगंज के बरहेट ( मुख्‍यमंत्री के चुनाव क्षेत्र) में पांच-पांच लोगों द्वारा नाबालिग से सामूहिक दुष्‍कर्म का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री के गृह जिला दुमका में एक और नाबालिग की सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद हत्‍या कर दी गई। 

एक सप्‍ताह के भीतर संताल में सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद हत्‍या की यह दूसरी घटना है। तीनों मामले में आदिवासी बच्चियां शिकार हुई हैं। साहिबगंज में तो दुष्‍कर्म के बाद हत्‍या कर दी गई थी। दोनों घटनाओं को लेकर विपक्ष हमलावर है। दुमका की घटना ने विपक्ष को एक और मौका दे दिया है। दुमका विधानसभा सीट पर 3 नवंबर को चुनाव है। यह सीट मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन की छोड़ी हुई सीट है। और यहां से उनके छोटे भाई बसंत सोरेन चुनाव लड़ रहे हैं। जाहिर है विपक्ष इस तरह की घटनाओं को कैश कराने की कोशिश करेगा।

झारखंड की उप राजधानी दुमका में पांचवीं कक्षा में पढ़ने वाली 12 साल की आदिवासी बच्‍ची के साथ दुष्‍कर्म के बाद हत्‍या की घटना का संज्ञान लेते हुए मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्‍य के पुलिस महानिदेशक को अपराधियों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई करते हुए अवगत कराने का निर्देश दिया है। उन्‍होंने जिलों को निर्देश दिया है कि इस तरह की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए फास्‍ट ट्रैक कोर्ट के माध्‍यम से दोषियों को त्‍वरित सजा दिलायें। इस संबंध में मुख्‍यमंत्री ने ट्वीट किया है। हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन ने भी ट्वीट कर घटना की निंदा की है और अविलंब मामले की जांच कराकर दोषी को कड़ी सजा दिलाने की मांग की है। यह भी कहा है कि डीआइजी दुमका अवैध खनन में व्‍यस्‍त हैं। उनका काम क्राइम रोकना नहीं अवैध उद्योग धंधों को बढ़ावा देना है।

Read 9 times