Thu01212021

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home देश कोरोना आपदा के गहरे समंदर से किनारे की ओर बढ़ रहा है देश : मोदी
Tuesday, 24 November 2020 18:45

कोरोना आपदा के गहरे समंदर से किनारे की ओर बढ़ रहा है देश : मोदी Featured

Rate this item
(0 votes)

लखनऊ:कोरोना संक्रमण के बचाव के लिये उत्तर प्रदेश सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि इस अंजान ताकत से लड़ाई के लिए अभी तक जो रणनीति अपनायी गई है, उससे देश आपदा के गहरे समंदर से निकलकर किनारे की तरफ बढ़ रहा है।

कोविड वैक्सीन की कोल्ड चेन तथा वितरण के सम्बन्ध में मुख्यमंत्रियों के साथ मंगलवार को वीडियो कांफ्रेसिंग में श्री माेदी ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए अभी तक हमने सतर्कता और बचाव का जो रास्ता चुना है, उसे बनाए रखने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि पूरे विश्व व देश के वैज्ञानिक कोरोना की वैक्सीन खोजने के लिए पूरी तन्मयता से जुटे हैं। अब वैक्सीन की रिसर्च अपने अंतिम चरण में चल रही है।

उन्होने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान लोगों को सुरक्षित घर पहुंचाने, राशन देने व स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सराहनीय कार्य किया है। राज्य के अस्पतालों में इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाया गया है। कोविड-19 के प्रसार को रोकने मे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित किये गये कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सिस्टम की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

श्री मोदी ने कहा कि वैक्सीन पर किये जा रहे शोध अंतिम चरण में हैं। चूंकि भारत एक बड़ा देश है, जिसकी आबादी 130 करोड़ से अधिक है, ऐसे में हमें एक स्ट्रेटजी बनानी होगी। इसके लिए सभी मुख्यमंत्री अपने राज्य की स्थितियों व परिस्थितियों का अध्ययन करते हुए यह तय करें कि उन्हें कितनी वैक्सीन की आवश्यकता है। इसके दृष्टिगत सप्लाई व कोल्ड चेन को मजबूत किया जाए।

उन्होने कहा कि वैक्सीन बनाने में भारत विश्व के हब के रूप में जाना जा रहा है। भारत बायोटेक व जायडस कैडिला कोरोना वैक्सीन बनाने की दिशा में पूरी सक्रियता से कार्य कर रहा है। आने वाले महीनों में यह उम्मीद की जा रही है कि कोरोना की वैक्सीन हमारे सामने होगी। डब्ल्यूएचओ की गाइड लाइन के अनुसार वैक्सीनेशन के पहले चरण में फ्रण्टलाइन वर्कर, 65 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के लोग व बीमार व्यक्तियों को प्राथमिकता के आधार पर यह वैक्सीनेशन उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सभी मुख्यमंत्री स्टेट स्टेयरिंग कमेटी की बैठक करके वैक्सीन की कोल्ड चेन तथा वितरण की कार्य योजना तैयार करें। हमें ब्लाॅक लेवल तक वैक्सीन की चेन को पहुंचाना है। साथ ही, कार्य के कुशल सम्पादन के लिये पर्याप्त वैक्सीनेटर्स की व्यवस्था भी करनी होगी। इसके लिए प्रशिक्षण की अवश्यकता होगी। कोरोना को रोकने के लिए प्रभावी रणनीति तैयार करें, क्योंकि सतर्कता और बचाव ही इसका उपचार है। कोरोना अभी गया नहीं है, इसलिए ढिलाई बरतने की भूल न करें। दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी, हाथ की सफाई आदि का ध्यान रखा जाए। लोगों को सतत जागरूक किया जाए।

Read 11 times