Thu10292020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home लाइफ स्टाइल
लाइफ स्टाइल - दिव्य इंडिया न्यूज़
नई दिल्ली: आरोग्य सेतु ऐप पर सूचना आयोग के साथ विवाद के बाद सरकार की तरफ से स्पष्टीकरण सामने आया है. सरकार की तरफ से कहा गया है कि आरोग्य सेतु ऐप के संबंध में कोई संदेह नहीं होना चाहिए और भारत में COVID-19 महामारी को रोकने में मदद करने में इसकी काफी भूमिका रही है. सरकार ने कहा कि कोरोनोवायरस से लड़ने के लिए रिकॉर्ड समय में सार्वजनिक-निजी सहयोग से आरोग्य सेतु ऐप को तैयार किया गया. साथ ही इसे काफी पारदर्शी तरीके से विकसित किया गया था.सरकार ने कहा कि आरोग्य सेतु ऐप को लगभग 21 दिनों के रिकॉर्ड समय में विकसित किया गया था. गौरतलब है कि केंद्रीय सूचना आयोग ने मंगलवार को नेशनल इन्फॉर्मेटिक सेंटर (NIC)…
नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन को लेकर एक नया अपडेट आया है. ब्रिटिश सरकार द्वारा गठित वैक्सीन वर्कफोर्स के प्रमुख केट बिंघम के मुताबिक इस साल के अंत तक वैक्सीन आ सकती है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा है कि अगर इस साल के अंत तक वैक्सीन संभव नहीं हो सकी तो यह अगले साल के मध्य तक ही संभव हो पाएगा. बिंघम ने इससे जुड़ी जानकारी लैनसेंट की 27 अक्टूबर की रिपोर्ट में प्रकाशित किया है. लैनसेंट की रिपोर्ट में है कि जो लोग बहुत गरीब और कम शिक्षित हैं, कोरोना के कारण उनके हॉस्पिटलाइजेशन की संभावना अधिक होती है और उनके मरने की संभावना भी 1.9 गुना अधिक है. ब्रिटेन कोरोना महामारी से निपटने के लिए वैक्सीन बनाने की…
वॉशिंगटन:अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) को बड़ी सफलता हाथ लगी है। नासा ने चांद पर पानी की खोज कर ली है। इस बात की जानकारी खुद नासा ने सोमवार को दी है। नासा के Stratospheric Observatory for Infrared Astronomy (SOFIA) ने चंद्रमा के सनलिट सरफेस पर पानी होने की पुष्टि की है।सोफिया (SOFIA) ने क्लेवियस क्रेटर में पानी के मॉलिक्यूल (H2O) का पता लगाया है। चांद पर पानी मिलना एक बड़ी सफलता है। भविष्य में चांद पर जानेवाले अंतरिक्ष यात्रियों के लिए यह अच्छी खबर है। बता दें कि इससे पहले अपने मून मिशन में जुटी नासा को चांद के बारे में कुछ ‘खास’ पता चला है। इस खोज के बारे में नासा एक प्रेस ब्रीफिंग के जरिए जानकारी देगी।
व्हाट्सऐप (WhatsApp) अपने ऐप के एंड्रॉयड वर्जन पर कई नए फीचर्स लाने पर काम कर रहा है. कंपनी एक नया कॉल बटन, डूडल ऑप्शन और बिजनेस अकाउंट के लिए नया कैटलॉग शॉर्टकट लाने वाली है. WABetaInfo की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी इन फीचर्स पर काम कर रही है और इन्हें एंड्रॉयड के लिए बीटा वर्जन में देखा गया है. ऐप के फीचर ट्रैक करने वाले प्लेटफॉर्म का कहना है कि इन नए फीचर्स को एंड्रॉयड के लिए लेटेस्ट व्हाट्सऐप 2.20.200.3 बीटा में टेस्ट किया जा रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी अब अलग से कॉल बटन पर काम कर रही है. इसे अभी विकसित किया जा रहा है. यह कॉल बटन वीडियो और वॉयस कॉल के लिए दिए गए…
नई दिल्ली: देश के पहले दृष्टि बाधित आइएएस अधिकारी राजेश कुमार सिंह झारखंड के बोकारो जिला के डीसी यानी जिलाधिकारी बनाये गये हैं । उनको भले देखने में परेशानी हो मगर दुनिया उन्‍हें देख रही है । बोकारो में उन्‍होंने अपना योगदान दे दिया है । गुरूवार की शाम व अधिकारियों के साथ बैठक में व्‍यस्‍त थे। बोकारो डीसी बनने के बाद उन्‍होंने झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन और मुख्‍य सचिव सुखदेव सिंह के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि पहली बार किसी दृष्टिबाधित अधिकारी को जिले की कमान सौंपी गई है । विश्‍वास दिलाता हूं कि उनकी उम्‍मीदों पर खरा उतरूंगा । अभी वे झारखंड में उच्‍च शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग में विशेष सचिव के पद पर…
नई दिल्ली: भारत के पहले स्वदेशी कोरोना वायरस टीके को भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) से मानव पर परीक्षण की मंजूरी मिल गई है। ‘कोवैक्सिन’ नामक टीके का विकास भारत बायोटेक ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) के साथ मिलकर तैयार किया है। देश में अगले महीने से इस टीके का पहले और दूसरे चरण का परीक्षण शुरू होगा। कंपनी ने एक बयान में कहा कि टीके के विकास में आईसीएमआर और एनआईवी का सहयोग महत्वपूर्ण रहा। कंपनी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि सार्स-सीओवी-2 स्ट्रेन को पुणे स्थित एनआईवी में अलग किया गया और उसे भारत बायोटेक को हस्तांतरित किया गया। घरेलू, इनएक्टिवेटेड वैक्सीन को हैदराबाद के जीनोम वैली…
नई दिल्ली: कोविड-19 जैसे घातक वायरस का खतरा मधुमेह वाले मरीजों में 50 प्रतिशत तक अधिक है। विशेषज्ञों ने बेहतर शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए ब्लड ग्लूकोज संतुलित रखने और घरों में नियमित रूप से व्यायाम करने की सलाह दी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक मधुमेह के अलावा उच्च रक्तचाप, किडनी समस्या और दिल से संबंधित बीमारी वाले मरीजों के लिए यह महामारी अत्यधिक जोखिमभरा साबित हो सकती है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), दिल्ली में एंडोक्राइनोलॉजी विभाग के प्रमुख डॉ. निखिल टंडन ने ये बाते कही हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, कोरोना की वजह से हुई कुल मौत में 70 प्रतिशत से अधिक जान गंवाने वाले लोगों में इन बीमारियों के लक्षण पाए गए हैं।  उन्होंने कहा कि…
न्यूयॉर्क: कोरोनावायरस और COVID-19 के इलाज के लिए प्रायोगिक रूप से इस्तेमाल की गई दवा Remdesivir रैन्डमाइज़्ड क्लिनिकल ट्रायल में नाकाम हो गई है. यह बात गुरुवार को अचानक जारी हुए नतीजों से सामने आई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की वेबसाइट पर कुछ देर के लिए ड्राफ्ट समरी सामने आई, और इसकी ख़बर सबसे पहले 'फाइनेंशियल टाइम्स' और 'स्टैट' ने एक स्क्रीनशॉट के साथ दी थी. लेकिन इस दवा (Remdesivir) को बनाने वाली कंपनी Gilead Sciences ने WHO की अब डिलीट की जा चुकी पोस्ट में दिए नतीजों को नकारते हुए कहा है कि डेटा से 'संभावित लाभ' हुआ है. समरी में बताया गया कि चाइनीज़ ट्रायल में कुल 237 मरीज़ों को शामिल किया गया, जिनमें से 158 को यह…
वॉशिंगटन: अमेरिका के अधिकारियों ने एक रिसर्च के हवाले से बताया है कि सूरज की किरणों के संपर्क में आते ही कोरोनावायरस जल्दी खत्म हो जाता है. हालांकि इस रिसर्च को अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है क्योंकि बाहरी तौर पर इसका मूल्यांकन किया जा रहा है. होमलैंड सिक्योरिटी के साइंस एंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के एडवाइजर विलियम ब्रायन ने व्हाइट हाउस में पत्रकारों को बताया कि सरकारी वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च में पाया है कि सूरज की किरणों का पैथोगेन पर संभावित असर पड़ता है. उन्होंने कहा, 'आज तक की हमारी रिसर्च में सबसे खास बात यह पता चली है कि सौर प्रकाश सतह और हवा में इस वायरस को मारने की क्षमता रखता है. तापमान और नमी में भी…
मलेरिया की जिस दवा (हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन) को लेकर भारत, अमेरिका और जर्मनी सहित कई देशों में हंगामा हो रहा है, वो दवा कोरोना वायरस का पुख्ता इलाज नहीं है इस दवा के अधिक सेवन से आपको दिल की धड़कन और ब्लड ग्लूकोज लेवल कम होना जैसी गंभीर समस्याओं का सामना जरूर करना पड़ सकता है। यह बात एक कैनेडियन मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में सामने आई है। डेकन हेराल्ड की एक रिपोर्ट के अनुसार, शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि क्लोरोक्वाइन, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन का उपयोग कोरोना वायरस के उपचार और रोकथाम के लिए किया जा रहा है। इन दवाओं के सेवन से अनियमित दिल की धड़कन और ब्लड ग्लूकोज लेवल कम होना जैसी समस्याएं हो सकती हैं।…
Page 1 of 19