Sat11162019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home कला और साहित्य
कला और साहित्य - दिव्य इंडिया न्यूज़
नई दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने प्रायोगिक परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया है। इस बार कक्षा 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं में भाग लेने वाले छात्र डेट शीट जानने के लिए बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in पर जाकर अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं। सीबीएसई बोर्ड की अधिसूचना के अनुसार, कक्षा 10 और कक्षा 12 के छात्रों के लिए प्रायोगिक परीक्षा 1 जनवरी 2020 से 7 फरवरी 2020 के लिए औपचारिक रूप से सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों द्वारा आयोजित की जाएगी। इसकी जानकारी बोर्ड की ओर से सभी सीबीएसई स्कूलों को दे दी गई है। बताया गया है कि बोर्ड साफ-सुथरी प्रायोगिकि परीक्षा कराने के लिए केंद्रों पर आर्ब्जवर नियुक्त करेगा। इसके साथ एक्सटर्नल भी मौजूद रहेंगे।…
लखनऊ के रहने वाले एवं पेशे से अधिवक्ता वी0पी0 सुनील को लेखन का शौक छात्र जीवन में ही हो गया था और विश्वविद्यालय स्तर पर वर्ष 1985 में सामायिक विषय पर लिखे गये लेख को पुरस्कार के लिये भी चुना गया, इस लेखन के बाद के बाद लगभग तीस वर्षो के बाद अपना पहला उपन्यास तीन युवा किरदारों पर केन्द्रित करते हुये डिवाईडेड लाइफ लिखना शुरू किया जो अब बाजारों में आ चुकी है, और हाल ही में अमेजन में प्रमुख दस बेस्टरीड्स में भी यह उपन्यास शामिल हुआ है। उनके पहले ही उपन्यास को मिल रही इस सफलता पर उपन्यास के लेखक वी0पी0 सुनील से हुयी बातचीत के कुछ अंश :-   आपके उपन्यास ‘डिवाईडेड लाइफ’ का मूल सन्देश…
लखनऊ: बड़े तो बड़े किताबों की रंगबिरंगी दुनिया बच्चों को भी बेइंतिहा भा रही है। यहां राणाप्रताप मार्ग मोतीमहल वाटिका लान में चल रहे राष्ट्रीय पुस्तक मेले में युवाओं के संग लोग बच्चों को लेकर पूरे परिवार के संग आ रहे हैं। पुस्तक प्रेमियों का सिलसिला यहां आज भी देर रात तक जारी रहा। निःशुल्क प्रवेश व सुबह 11 बजे से रात नौ बजे तक 29 सितम्बर तक जारी किताबों के इस मेले में बच्चों के लिये बहुत कुछ है। स्टारडम के एक स्टाल पर बच्चों की देशी-विदेशी लाइब्रेरी में रखने योग्य किताबें, इन्साइक्लापीडिया, सामान्य ज्ञान, विज्ञान, कम्प्यूटर जैसे कई विषयों की सतरंगी किताबें हैं तो दूसरे स्टाल पर पढ़ने-पढ़ाने के उपकरण, चुम्बकीय उपकरण, माइंड गेम, पजल, जानवरों के कटआउट,…
मोतीमहल लान में राष्ट्रीय पुस्तक मेला शुरू, किताबों पर न्यूनतम 10 फीसदी छूट लखनऊ: सत्रहवां राष्ट्रीय पुस्तक मेला आज से राणाप्रताप मार्ग मोतीमहल वाटिका लान में प्रारम्भ हो गया। आज उद््घाटित हुआ यह मेला 29 सितम्बर तक चलेगा। दि फेडरेशन आफ पब्लिशर्स एण्ड बुकसेलर्स एसोसिएशन्स इन इण्डिया, नई दिल्ली के सहयोग से के.टी.फाउण्डेशन व फोर्सवन द्वारा संयोजित महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की थीम पर आधारित इस मेले में प्रवेश निःशुल्क है। यहां हर किताब पर न्यूनतम 10 फीसदी छूट मिलेगी। मेले का उद्घाटन एडवोकेट रामजी दास, संरक्षक मुरलीधर आहूजा, भाजपा नेता भारत दीक्षित व प्रदेश ओलम्पिक संघ के उपाध्यक्ष टीपी हवेलिया ने मिलकर किया। एडवोकेट रामजी दास ने पुस्तकों को बहुमूल्य बताते हुए कहा कि अगर हम पुस्तकों को…
लखनऊ: राणाप्रताप मार्ग मोतीमहल वाटिका लान लखनऊ में वर्ष 2003 से निरंतर होता आ रहा 10 दिवसीय सत्रहवां राष्ट्रीय पुस्तक मेला 20 से 29 सितम्बर तक चलेगा। दि फेडरेशन आॅफ पब्लिशर्स एण्ड बुकसेलर्स एसोसिएशन्स इन इण्डिया, नई दिल्ली के सहयोग से के.टी.फाउण्डेशन व फोर्सवन द्वारा संयोजित महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की थीम पर आधारित यह आयोजन बच्चो-बड़ों सभी को समर्पित होगा। उद्घाटन के लिये मुख्यअतिथि के तौर पर राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल को आमंत्रित किया गया है। निःशुल्क प्रवेश वाले मेले में पुस्तक प्रेमियों को हमेशा की तरह किताबों पर न्यूनतम 10 फीसदी की छूट मिलेगी। साहित्यिक-सांस्कृतिक नगरी का बहुप्रतीक्षित वार्षिक उत्सव बन चुके इस सत्रहवें राष्ट्रीय पुस्तक मेले के बारे में आयोजक फाउण्डेशन के संयोजक मण्डल मनोज सिंह चंदेल…
लोक संस्कृति को समर्पित हुआ जश्न ए हिंदुस्तान कार्यक्रम लखनऊ। निर्धन बच्चो की शिक्षा में मदद एवं भारतीय संस्कृति को नृत्य एवं नाटक के माध्यम से लोगो मे पहुचाने के लिये सिटीसीएस संस्था एवं रुद्र कला अकादमी के द्वारा जश्न ए हिंदुस्तान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ राष्ट्र गान के साथ हुआ उसके बाद कार्यक्रम में प्रस्तुति दे रही बच्चियों के हाथों दीप प्रज्ज्वलन किया गया। इस दौरान भारतीय संस्कृति को दर्शाती विभिन्न कलाओं का प्रदर्शन नृत्य के रूप में बच्चो के द्वारा किया गया। 4 साल की बाल कलाकार स्वीटी श्रीवास्तव ने गणेश वंदना पर प्रस्तुति दी,इसके बाद शहर के कई कलाकारों ने एक एक करके भारतीय संस्कृति को प्रदर्शित करती नृत्य प्रस्तुतियां दी। अदाकारी एवं…
महर्षि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन  लखनऊ: आईआईएमरोड लखनऊ स्थित महर्षि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में नए शैक्षणिक सत्र की कक्षाएं मंगलवार से प्रारम्भ हुयीं। नए सत्र के विद्यार्थियों एवं अभिभावकों के लिए विश्वविद्यालय के प्रेक्षागृह में ओरिएंटेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत सरस्वती एवं महर्षि की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर हुई। विश्वविद्यालय के प्रेक्षागृह में आयोजित ओरिएंटेशन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में विश्वविद्यालय के कुलपति भानू प्रताप सिंह ने नवप्रवेशित विद्याथिर्यों को सम्बोधित करते हुये कहा कि विश्वविद्यालय विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण के साथ ही उन्हें सक्षम पेशेवर भी बनाता है। उन्होंने विद्यार्थियों को नकारात्मक विचारों से दूर रहने की सलाह दी। वहीं कार्यक्रम में उपस्थित कुलसचिव अखण्ड प्रताप सिंह ने छात्र-छात्राओं को सम्बोधित…
महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय 182 छात्र-छात्राओं को उपाधियां वितरित  लखनऊ: आईआईएम रोड स्थित महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय शिक्षा की बगिया गुरुवार को दिन भर गुलजार रही। छात्र-छात्राओं की चहल पहल, उनके चेहरे पर मुस्कान एक सुखद अनुभूति का अहसास करा रही थी। अवसर था विश्वविद्यालय में आयोजित उपाधि वितरण समारोह का। विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों में कुल 182 छात्र-छात्राओं को उपाधियां बांटी गयीं एवं अपने कर्तव्यों का निर्वहन ईमानदारी से करने की शपथ दिलायी गयी। समारोह की शुरुआत सरस्वती वन्दना एवं महर्षि जी की प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलन से हुयी। बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित डा0 एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय के कुलपति विनय कुमार पाठक ने उपाधि धारकों को सम्बोधित करते हुये कहा कि शिक्षा एवं दीक्षा मनुष्य के जीवन…
आध्यात्मिक गुरुओं , विद्वानों ने समझाया मानवता के विकास मे नैतिक मूल्यों का महत्व लखनऊ: संस्कार, भारतीय संस्कृति, नैतिक मूल्यों एवं परम्पराओं के पुनुुरुत्थान विषय पर विचार संगोष्ठी , भजन संध्या एवं लोकगीत उत्सव कार्यक्रम का आयोजन आर0एल0बी0 स्कूल सेक्टर-08 इंदिरानगर लखनऊ में किया गया। संगोष्ठी संयुक्त रूप से खुशहाल स्वास्थ्य सेवा संस्थान, जीवन ज्योति हास्ययोग लांिफंग क्लब तथा ब्राहम्ण मिलन मंच लखनऊ द्वारा आयोजित की गयी। कार्यक्रम का शुभारंभ स्वामी डा0 सौमित्रिप्रपन्नाचार्य जी महाराज के कर कमलों द्वारा दीप प्रज्वलित करके किया गया। इस अवसर पर समाजसेवा के क्षेत्र मे उत्कृष्ट कार्य करने वाली चार विभूतियों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का उद्देश्य समाज मे गिरते मानव मूल्यों के प्रति जनजागरण कर समाज को संवेदनशील बनाते हुए राष्ट्र निर्माण…
पुस्तक समीक्षा  -फ़िरदौस ख़ान  उर्दू पत्रकारिता की अहमियत से किसी भी सूरत में इंकार नहीं किया जा सकता. पत्रकारिता का इतिहास बहुत पुराना है. या यूं कहें कि जब से इंसानी नस्लों ने एक-दूसरे को समझना और जानना शुरू किया, तभी से पत्रकारिता की शुरुआत हो गई थी. उस वक़्त लोग एक-दूसरे से बातचीत के ज़रिये अपनी बात अपने रिश्तेदारों या जान-पहचान वालों तक पहुंचाते थे. बादशाहों के अपने क़ासिद होते थे, जो ख़बरों को दूर-दराज के मुल्कों के बादशाहों तक पहुंचाते थे. गुप्तचर भी बादशाहों के लिए ख़बरें एकत्रित करने का काम करते थे. बादशाहों के शाही फ़रमानों से अवाम में मुनादी के ज़रिये बात पहुंचाई जाती थी. फ़र्क़ बस इतना था कि ये सूचनाएं विशेष लोगों के लिए…
Page 1 of 8