Mon09242018

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home राज्य राजस्थान

ग्वालियर: मध्यप्रदेश के ग्वालियर में अदालत ने बेटी को बेचने के आरोप में मां-बाप सहित छह लोगों को दस-दस साल की सजा सुनाई है। न्यायालय के अष्टम सत्र जिला न्यायाधीश संगीता मदान ने शनिवार को बेटी को बेचने के आरोप में उसके मां-बाप सहित छह लोगों को दस-दस साल की सजा सुनाई है। 

अभियोजन के अनुसार 06 सितंबर 2012 को शिवपुरी के निवासी मां-बाप ने चार लोगों के साथ मिलकर रेड लाइट एरिया बदनापुरा में अपनी बेटी को देह व्यापार के लिए बेच दिया था। मां-बाप ने इसके एवज में बदनापुरा की चंद्रकला और रोहित से साठ हजार रूपए लिए थे। रूपए लेकर मां-बाप सहित इस मामले में लिप्त लोग निश्चिंत हो गए थे लेकिन कुछ ही दिनों बाद मौका पाकर किशोरी रेडलाइट एरिया से देहव्यापार के सौदागरों के चंगुल से छूटकर भाग आई और सीधे बहोडापुर थाना पुलिस की शरण ली। 

पुलिस ने किशोरी की शिकायत पर उसके मां-बाप सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर मामले की जांच पड़ताल की और चालान अदालत में पेश किया। यहां सुनवाई के पश्चात आरोप सिद्ध होने पर अष्टम सत्र जिला न्यायाधीश संगीता मदान ने आरोपियों को दस-दस साल की सजा से दंडित किया है। 

 
Published in राज्य