Wed07172019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home लाइफ स्टाइल
लाइफ स्टाइल - दिव्य इंडिया न्यूज़
नई दिल्ली: मौसम में नमी और तापमान बढ़ते ही मच्छरों की समस्या बढ़ने लगती है। जहां भी पानी जमा होता है वहां पानी में मच्छर पनपने लगते हैं। मलेरिया के मच्छर जहां गंदे पानी में पैदा होते हैं वही डेंगू के मच्छर साफ पानी में भी पैदा हो जाते है। इसलिए सबसे पहले तो घर और घर के आसपास पानी के जमाव को रोकना बड़ी जिम्मेदारी है। मच्छरों के कारण होने वाली ये बीमारियां जानलेवा हैं इसलिए इनसे बचने के लिए अपने स्तर से यानी घर से शुरुआत करें। घर में ऐसे पौधे या सुंगध का प्रयोग करें जो मच्छरों के दुश्मन हैं। साथ ही अन्य कई तरीके हैं जिनसे अपने घर को आप मच्छरों से मुक्त कर डेंगू जैसे…
नई दिल्ली: भारत में जल संकट की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। जिस गांव में पहले हैंडपंप से मिनटों में बाल्टियां भर जाती थी, अब वहां के लोग पीने के पानी को तरस रहे हैं। बात बिहार के जहानाबाद जिले के किसी गांव की हो या फिर तमिलानाडु की राजधानी चेन्नई की, हर जगह हालात एक समान हो रहे हैं। यदि हालात में सुधार नहीं हुआ तो आने वाले दिनों में देश के 21 शहरों में ‘वाटर इमरजेंसी’ आने वाली है। इससे सबसे ज्यादा प्रभावित दिल्ली, गुरुग्राम, मेरठ और फरीदाबाद होंगे। मैग्सेसे अवार्ड विजेता राजेंद्र सिंह ने इस संकंट से संबंधित कई पहलुओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, “आज नागपुर में एक फ्रेंच कंपनी विलोलिया इंडिया पानी उपलब्ध करवा…
आपको यह जानकर हैरानी होगी कि भारत में बाल मजदूरी करने वाले ज़्यादातर बच्चे किसी फैक्टरी या वर्कशाॅप में काम नहीं करते, न ही वे शहरी क्षेत्रों में घरेलू नौकर या गलियों में सामान बेचने का काम करते हैं; इसके बजाए ज़्यादातर बच्चे खेतों में काम करते हैं, वे फसलों की बुवाई, कटाई, फसलों पर कीटनाशक छिड़कना, खाद डालना, पशुओं और पौधों की देखभल करना जैसे काम करते हैं। 2016 में जारी 2011 की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार 18 वर्ष से कम उम्र के 62.5 फीसदी बच्चे खेती या इससे जुड़े अन्य व्यवसायों में काम करते हैं। आंकड़ों की बात करें तो काम करने वाले 40.34 मिलियन बच्चों और किशोरों में से 25.23 मिलियन बच्चे कृषि क्षेत्र में काम…
पूर्व न्यायाधीश एवं वरिष्ठ साहित्यकार डा. चन्द्रभाल सुकुमार का गज़ल संग्रह ‘आदमी अरण्यों में’ प्रकाशित। वर्तमान में उत्तर प्रदेश के जिला वाराणसी में निवासरत स्वभाव से मृदुभाषी लेखक डा. सुकुमार ने बताया कि ‘आदमी अरण्यों में’ शीर्षक भले ही तीन शब्दों का है लेकिन यह तीन शब्दों का शीर्षक ही बहुत कुछ कह सकने में समर्थ है। उन्होनें कहा कि हर आदमी के मन में एक ‘अरण्य’ होता है, चाहे कितना ही छोटा क्यों न हो। तुलसी के ‘मानस’ में भी एक ‘अरण्य’ है। राम का वह जीवन जो राम को ‘राम’ बनाता है, इसी ‘अरण्य’ से प्रारम्भ होता है। आज की गजल भी तरह-तरह के आरण्यक संदर्भों में खो गयी है। कलम रुकनी नहीं चाहिए। बस, इसी साधना-याचना-आराधना-अर्चना-आशा- अभिलाषा…
नई दिल्ली: सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय द्वारा हाल में जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में बेरोजगारी चार दशकों में सबसे ज्यादा 6.1 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है। इसमें भी हैरान करने वाली बात ये है कि इसमें सबसे ज्यादा प्रभावित 15 से 29 साल के शहरों में रहने वाले युवा हैं। मिंट ने पीएलएफएस के वर्ष 2017-18 के डेटा के अनुसार बताया है कि दिसंबर तिमाही के दौरान लगभग एक चौथाई शहरी युवा जो रोजगार की तलाश में थे, बेरोजगार रह गए। तीन तिमाहियों में लगातार बढ़ने के बाद, वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में शहरी युवाओं में बेरोजगारी की दर 23.7 प्रतिशत थी। यह कहानी उन युवाओं की है जो अपनी औपचारिक शिक्षा पर औसतन 11 साल…
हर साल तंबाकू और धूम्रपान से लाखों जिंदगियाँ बरबाद हो रही हैं। दुनिया भर में तंबाकू का इस्तेमाल अकाल मृत्यु और बीमारी का प्रमुख कारण है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, 1 अरब लोग धूम्रपान और तंबाकू का सेवन करते हैं जिनमें से आधे प्रतिशत लोगो की सामान्य उम्र से पहले मृत्यु होने की सम्भावना बढ़ जाती है। 60 लाख लोग हर साल तम्बाकू के सेवन से मर रहे हैं। भारत की यह संख्या तक़रीबन 10 लाख प्रति वर्ष है। इस बार वल्र्ड नो तंबाकू दिवस की थीम “तंबाकू और हृदय रोग” रखी गई है। इससे अभिप्राय है कि वल्र्ड स्तर पर तंबाकू के कारण पैदा होने वाली हृदय और इससे जुडी अन्य गंभीर समस्याओं से लोगों को अवगत…
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव प्रचार से फुरसत पाने के बाद केदारनाथ धाम के दर्शन किए और वहां उनकी गुफा के अंदर साधना करते हुए फोटो जमकर वायरल भी हुई. पीएम नरेंद्र मोदी की इस फोटो ने सोशल मीडिया पर जमकर सुर्खियां लूटीं और बॉलीवुड से इसे लेकर जोरदार रिएक्शन भी आए. बॉलीवुड एक्ट्रेस और राइटर ट्विंकल खन्ना  ने साधना को लेकर अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर चुटकी ली है और मेडिटेशन करते हुए अपनी एक फोटो भी पोस्ट की है. वैसे भी ट्विंकल खन्ना सोशल मीडिया पर चुटकी लेने का कोई भी मौका छोड़ती नहीं हैं.  ट्विंकल खन्ना  ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साधना की फोटो का मुकाबला करते हुए अपनी एक फोटो पोस्ट की है. ट्विंकल…
लखनऊ:  प्रज्ञा इंटरनेशनल ट्रस्ट और नान-वायलेन्स प्रोजेक्ट फ़ाउंडेशन इंडिया ने दो दिवसीय (29 और 30 अप्रैल) "स्कूलों में शांति के लिए" प्राथमिक स्तर की "प्रशिक्षकों के लिए प्रशिक्षण" कार्यक्रम आज दिनांक 30 अप्रैल को सम्पन्न हो गया, यह कार्यक्रम रिंग रोड , इन्दिरा नगर स्थित  आईसीसीएमआरटी  (सहकारी और कॉर्पोरेट प्रबंधन अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान) लखनऊ मे आयोजित किया गया था । इस चरणबद्ध प्रशिक्षण कार्यक्रम मे उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से पधारे 34 महिला व पुरुष प्रतिभागियों ने प्रशिक्षण पूरा किया।  कार्यशाला के समापन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं भारतीय प्रबंध संस्थान (आई आई एम ) लखनऊ के पूर्व डीन श्री सुब्रत चक्रवर्ती ने अपना प्रशिक्षण पूरा कर चुके भावी प्रशिक्षकों को बधाई दी और प्रमाणपत्र वितरित किया ।…
दुनियाभर में आम बीमारियों में से एक बन गया है. इसे मरीज़ के ब्लड शुगर के स्तर के आधार पर पहचाना जाता है. हालांकि इसे पूरी तरह से ठीक करना आसान नहीं है, लेकिन अपनी डाइट (Diabetic Food Chart) में कुछ परिवर्तन करने से इसे काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकता है. खून में अगर शुगर लेवल बढ़ा हो तो ऐसे फलों का इस्तेमाल करना लाभदायक होता है जिनमें फाइबर की मात्रा ख़ूब हो. खूब सारा पानी पीना भी शुगर लेवल ( Sugar Levels) को ठीक रखने में मदद करता है. शुगर लेवल को ठीक रखने के लिए ऐहतियात बरतनी बहुत ज़रूरी होती है. ऐसा माना जाता है कि जंक फूड और ट्रांस फूड के कम सेवन से शुगर…
हिंदुत्व के खिलाफ बोलना हुआ खतरनाक, पत्रकारों के लिए स्थितियां ठीक नहीं नई दिल्ली: देश में लोकसभा चुनाव के बीच में वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स 2019 जारी किया गया है। रिपोर्टर्स  विदाउट बॉडर्स ने बृहस्पतिवार को इस रैंकिंग को जारी किया। भारत ने प्रेस की आजादी की इस रैंकिंग में पिछले साल के मुकाबले इस बार पिछड़ गया है। सूची में नॉर्वे शीर्ष स्थान पर है। भारत इस वैश्विक रैंकिंग में दो स्थान लुढ़कर 140वें स्थान पर पहुंच गया है। भारत में पत्रकारों के लिए स्थितियां ठीक नहीं है। माना जा रहा है कि यहां हिंदुत्व के खिलाफ बोलना खतरनाक हो सकता है। रिपोर्ट में पाया गया है कि ऐसे पत्रकार जो हिंदुत्व के खिलाफ लिखते या बोलते हैं, उनके…
Page 1 of 16