Wed04012020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home लाइफ स्टाइल
लाइफ स्टाइल - दिव्य इंडिया न्यूज़
प्राचीन चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद में आंसू रोकने से होने वाले रोगों का उल्लेख किया गया है। आंसुओं के निकल जाने से विभिन्न प्रकार के रोग जैसे सिर एवं ह्वदय में पीड़ा, जुकाम, चक्कर आना, गर्दन का अकडना आदि दूर हो जाते हैं। इसी प्रकार आधुनिक चिकित्सा पद्धति में भी रोना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक माना गया है। जोर से रोने पर मनुष्य के मस्तिष्क में दबी भावनाओं का तनाव दूर हो जाता है, जिससे काफी राहत महसूस होती है एवं शक्ति की भी अनुभूति होती है। महिलाओं में रोने का गुण होने के  कारण ही पुरूषों की अपेक्षा çस्त्रयों को दिल के दौरे कम पड़ते हैं। çस्त्रयां रोकर अपने दिल का बोझ हल्का कर लेती हैं। स्वास्थ्य के लिए हंसना…
जो लोग शारीरिक रूप से कमजोर हों, लंबी बीमारी से उठे हों, जिनकी प्रतिरोधक शक्ति क्षीण हो, उनको लू लगने का भय अधिक होता है। जिस व्यक्ति को लू लग जाती है वह अत्यधिक उत्तेजित और विचलित हो घबराने लगता है। इसके अलावा सिर में दर्द, उल्टी आना या उल्टी का मन करना, दिल घबराना, आंखों के आगे अंधेरा आना, त्वचा का रंग लाल होना और नाड़ी की गति तेज हो जाना आदि ऐसे लक्षण हैं, जिनसे पता लगता है कि फलां व्यक्ति को लू लग गयी है। तेज धूप के कारण वातावरण अधिक गर्म हो जाता है। इस दौरान चलने वाली तेज गर्म हवाएं, जिन्हें लू के नाम से जानते हैं, से सांस लेने में भी परेशानी होने लगती…
बढ़ते तापमान को देखते हुए यहां हम विशेषज्ञों से राय लेकर बता रहे हैं कि इस गर्मी में आप क्या खायें और क्या नहीं, जिससे आपका शरीर कूल रहे। गर्मी में हेल्दी रहने के लिये इन्हें अपनायें पानी  हर रोज तीन लीटर पानी पीएं। पसीने के कारण शरीर में आयी पानी की कमी को दूर करने के लिये कोई भी शारीरिक श्रम करने से पहले, उसके दौरान और उसे करने के बाद पानी जरूर पीयें। डाइट गर्मी में अपनी डाइट में सूप, सलाद और फल शामिल करें। दिन में हल्का खाना खायें। सफाई गर्मी में सफाई का खास ख्याल रखें। इस मौसम में पानी से होने वाली बीमारियां अधिक होती हैं। हाथ धोकर, ताजा खाना खाकर और बाहर के खाने…
लखनऊ: उनकी हर कोशिश एक कलाकृति है और हर हस्ती के बाल फैशन के एक नए ट्रैंड को कायम करने वाला एक कैन्वस। स्टाइल इंक. विद आलिम हाकिम टी एल सी की एक ऐसी ताजातरीन श्रृंखला है जो भारत के बेहद लोकप्रिय और प्रसिद्ध फिल्मी सितारों के ग्लैमरस स्टाइल को पेश करती है। दर्शक इस श्रृंखला में प्रख्यात हेयर स्टाइलिस्ट आलिम हाकिम को देखेंगे जो रणबीर कपूर, अजय देवगन, हिृतिक रौशन, सैफ अली ख़ान और शाहिद कपूर जैसे सितारों पर अपना जादू चला रहे हैं। आपने ऐसी शानदार कार्यशैली पहले कभी नहीं देखी होगी। स्टाइल इंक. विद आलिम हाकिम में दर्शक इन कलाकारों के ग्रीन रूम में जाकर इनके ऐसे रूप परिवर्तनों को देखेंगे जो आपको मुमकिन ही नहीं लगेंगे।…
हमेशा एक सवाल लोगों के मन में उठता है कि क्या मासिक धर्म के दौरान सेक्स किया जा सकता है, अगर हां तो इस दौरान क्या-क्या सावधानियां बरतने की जरुरत होती है। अगर कोई मासिक धर्म के दौरान सेक्स करना चाहे, तो कर सकता है, बशर्ते कि उसके पार्टनर को इस संबंध में कोई आपत्ति न हो। अगर आप चाहें तो मासिक धर्म के दौरान बगैर कंडोम का इस्तेमाल किए भी इंटरकोर्स कर सकते हैं। ऐसा करने से कोई बीमारी नहीं लगती, जैसी कि लोगों के मन में अक्सर शंका बनी रहती है। मासिक धर्म के दौरान सेक्स करने से किसी तरह की बीमारी होने का भय नहीं होता और न ही किसी तरह का कोई शारीरिक विकार ही पैदा…
सर गंगा राम अस्पताल में आईएमएएस (इंस्टीच्यूट ऑफ मिनिमल एक्सेस, मेटाबोलिक एंड बैरिएट्रिक सर्जरी) ने भारत में सबसे अधिक संख्या में रोबोटिक सर्जरी कर एक कीर्तिमान स्थापित किया है। यहां हर महीने औसतन 25 रोबोटिक सर्जरी की जाती है जिसे आईएमएएस की 10 सदस्यीय टीम कुषलता पूर्वक अंजाम देती है जो कि विष्व में रोबोटिक सर्जरी की यकीनन सबसे बड़ी और सबसे कुषल टीम है। इसके अलाव आईएमएएस में सर्जरी के खर्च को वहन करने में असमर्थ जरूरतमंद और बंचित रोगियों के लिए रियायती दर पर रोबोटिक सर्जरी करने का भी प्रावधान है।  अन्य सभी रोबोटिक सर्जरी में आईएमएएस में रोबोटिक बैरिएट्रिक सर्जरी न सिर्फ भारत में बल्कि पूरी दुनिया के रोगियों में काफी लोकप्रिय हो गयी है। आईएमएएस में…
महिलाएं पुरुषों के साथ सेक्स सिर्फ इसलिए करती हैं ताकि उनकी शादीशुदा जिंदगी में शांति बनी रहे , या वह बिना वजह के सिरदर्द से बचना चाहती हैं| महिलाओं पर हुई एक स्टडी पर बाज़ार में आई किताब कुछ ऐसा ही कहती है| टेक्सस यूनिवर्सिटी में साइकॉलजी के प्रोफेसर्स सिंडी मेस्टन और डेविड बस की लिखी किताब – वाय वुमेन हेव सेक्स ( महिलाएं सेक्स क्यों करती हैं ? ) में करीब 200 कारणों को हाईलाइट किया गया है| इस किताब के लिए रिसर्च के दौरान एक महिला ने तो यहां तक स्वीकार किया कि वह सेक्स सिर्फ इसलिए करती हैं ताकि उसके पति अपने स्पर्म बाहर निकाल सके| रिसर्च के दौरान देखा गया कि ज्यादातर पुरुषों को महिलाएं सेक्सुअली…
मानसून ने दस्तक दे दी है इसका जादू सभी पर छाने लगा है, ऐसे में फैशन भी यदि मौसम के अकॉर्डिग ही हो तो पर्सनालिटी में चार चांद लग जाते हैं। हर कोई इस बारिश के मौसम का लुत्फ उठाना चाहता है, लेकिन बारिश के दिन हों और आप सड़कों पर सलवार, साड़ी या जींस को किसी तरह बचाकर, संभालकर चलने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन लाख बचाने के बाद भी आपके कपड़े नीचे से कीचड़ में सन ही जाते हैं। आप झुंझला कर बारिश, मौसम और सड़कों को कोस डालती हैं। ऐसा न कीजिए। ये मौसम तो भीग जाने और लुत्फ उठाने के लिए है और कपड़ों के फिक्र को दूर करने के लिए बरमूडा का फैशन भी…
बरसात के मौसम के पर्यटन स्थल की बात हो तो मांडू का नाम ऐसे 2-4 हिल स्टेशनों में प्रमुखता से शामिल हो जाता है, जहां बारिश के मौसम का आनन्द कई गुना बढ़ जाता है। यहां का बेस्ट सीजन ही मानसून है। 13वीं शताब्दी के अंत में इसे मालवा के राजा ने बसाकर इसे शदियाबाद यानी खुशियों के शहर का नाम दिया। इसके बाद इस पर राज करने वाले हर शासक ने इसे किसी न किसी खास इमारत का तोहफा दिया। इन खास इमारतों में से कुछ बाज बहादुर और रानी रूपमति की प्रेम कहानी भी पूरे दिल से सुनाती हैं। यह शहर मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से 283 किलोमीटर की दूरी पर और इंदौर से सिर्फ 99 किलोमीटर…
Page 18 of 18