Sat06062020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home लाइफ स्टाइल
लाइफ स्टाइल - दिव्य इंडिया न्यूज़
नई दिल्ली: केरल से शुरू हुए निपाह वायरस का खौफ पूरे भारत में है. दिल्ली-एनसीआर के लोगों को भी अलर्ट कर दिया गया है. इस अज्ञात इन्फेक्शन के चलते हाई अलर्ट घोषित किया गया है. केरल में हुई रहस्यमयी मौतों का कारण 'निपाह वायरस (NiV)' को बताया गया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने निपाह को एक उभरती बीमारी करार दे चुका है. WHO के मुताबिक, निपाह वायरस चमगादड़ की एक नस्ल में पाया जाता है. यह वायरस उनमें प्राकृतिक रूप से मौजूद होता है. चमगादड़ जिस फल को खाती है, उनके अपशिष्ट जैसी चीजों के संपर्क में आने पर यह वायरस किसी भी अन्य जीव या इंसान को प्रभावित कर सकता है. ऐसा होने पर ये जानलेवा बीमारी का…
गोरखपुर: नॉर्वे सरकार के पीपीपी उपक्रम 'एनएमआई' के साथ मिलकर देश की दूसरी सबसे बड़ी माइक्रोफाइनेंस कंपनी 'सैटिन क्रेडिटकेयर नेटवर्क लिमिटेड' ("एससीएनएल" या "सैटिन") देश भर में 'महिला नेतृत्व सशक्तिकरण' कार्यशालाओं का आयोजन कर रही है। महिलाओं में वित्तीय साक्षरता और नेतृत्व सशक्तिकरण के लिए ११ कार्यशालाओं का आयोजन आठ राज्यों में किया जा रहा है। इनमें से नौवीं कार्यशाला का आयोजन उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में किया गया। जिसमें कंपनी के गोरखपुर क्षेत्रीय कार्यालय के अंतर्गत आने वाली गोरखपुर, मोहद्दीपुर, पीपीगंज और भटहट शाखाओं से जुड़ी लगभग ३०० से अधिक महिला 'सेंटर लीडर' ने उत्साहपूर्वक हिस्सा लिया। कार्यशाला में मुख्य रूप से महिला नेतृत्व सशक्तिकरण, विभिन्न वित्तीय साधन और सरकारी सामाजिक योजनाओं पर जोर दिया गया। कार्यशाला में बतौर…
नई दिल्ली: आउटडोर एलईडी स्क्रीन्स से निकलने वाली नीली रोशनी से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है. अंतर्राष्ट्रीय शोधकर्ताओं के एक दल ने यह निष्कर्ष निकाला है. ब्रिटेन के यूनिवर्सिटी ऑफ एक्सेटेर और बार्सिलोना इंस्टीट्यूट फॉर ग्लोबल हेल्थ (आईएसग्लोबल) ने मैड्रिड और बार्सिलोना में 4,000 लोगों पर किए गए एक अध्ययन में पाया कि जो लोग लेड की रोशनी में ज्यादा रहते हैं, उन्हें ऐसी रोशनी में कम रहने वालों की तुलना में स्तन और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा डेढ़ गुना बढ़ जाता है. यह शोध एनवायर्नमेंटल हेल्थ पर्सपेक्टिव्स नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है. इसमें पाया गया कि एलईडी लाइट्स से निकलने वाली 'नीली रोशनी' शरीर की जैविक घड़ी को प्रभावित करती है, जिससे नींद का पैटर्न बदल जाता…
नई दिल्ली: उपग्रहीय सूचना-संकेतों से चेतावनी मिली है कि स्पेन, मोरक्को और इराक समेत भारत में जलाशयों के सूखने से आगे पानी का संकट गहरा सकता है। मध्यप्रदेश स्थित इंदिरा सागर बांध और गुजरात के सरदार सरोवर जलाशय के जल स्तर में कमी आई है जिसकी वजह बरसात में कमी बताई जा रही है। इन जलाशयों से लाखों लोगों को पीने का पानी मिलता है। अंग्रेजी अखबार ‘गार्जियन’ की गुरुवार की रपट के मुताबिक, उपग्रह से प्राप्त संकेतों के आधार पर पूर्वानुमान जाहिर करने वालों के अनुसार, जलाशयों के सिकुड़ने से आगे पानी का संकट बढ़ सकता है। वर्ल्ड रिसोर्सेस इंस्टीट्यूट (डब्ल्यूआरआई) के मुताबिक, बढ़ती मांग, कुप्रबंधन और जलवायु परिवर्तन के कारण कई अन्य देश भी इसी प्रकार के संकट…
फेसबुक अपना डेटा लीक होने के बाद से लगातार अपनी पॉलिसीज में बदलाव कर रही है। अब कंपनी ने यूजर्स के लिए एक बहुत बड़ा बदलाव कर दिया है। दरअसल अब फेसबुक पर अपने दोस्तों को सर्च करना मुश्किल हो गया है। पहले यूजर किसी का मोबाइल नंबर डालकर उसे सर्च कर लेते थे। अब कंपनी ने इस फीचर को बंद कर दिया है। अब यूजर किसी को भी उसके मोबाइल नंबर से सर्च नहीं कर पाएंगे। दरअसल एक ही नाम के कई प्रोफाइल होने के कारण लोग मोबाइल नंबर से फेसबुक पर अपने दोस्तों को सर्च कर रहे थे लेकिन इस फीचर का गलत इस्तेमाल भी हो रहा था। कई अपराधी किस्म के लोग मोबाइल नंबर की मदद से…
गर्मियों के मौसम का प्रमुख फल है आम। पका और मीठा आम खाना हर किसी को पसंद होता है। इसकी इसी विशेषता के चलते इसे फलों का राजा भी कहा जाता है लेकिन कच्चे आम का भी अपना महत्व है। कच्चे आम में विटामिन-ए,सी और ई के अलावा कैल्शियम, फॉस्फोरस और फाइबर जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। काला नमक के साथ कच्चे आम का सेवन बेहद फायदेमंद होता है। शुगर के मरीजों के लिए तथा लू से बचाव के लिए भी इसका सेवन बेहद फायदेमंद होता है। आज हम आपको कच्चा आम खाने के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताने वाले हैं जिनके बारे में आपने कभी नहीं सुना होगा। लीवर रखे दुरुस्त – कच्चे आम का सेवन…
गर्मियों के मौसम का प्रमुख फल है आम। पका और मीठा आम खाना हर किसी को पसंद होता है। इसकी इसी विशेषता के चलते इसे फलों का राजा भी कहा जाता है लेकिन कच्चे आम का भी अपना महत्व है। कच्चे आम में विटामिन-ए,सी और ई के अलावा कैल्शियम, फॉस्फोरस और फाइबर जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं। काला नमक के साथ कच्चे आम का सेवन बेहद फायदेमंद होता है। शुगर के मरीजों के लिए तथा लू से बचाव के लिए भी इसका सेवन बेहद फायदेमंद होता है। आज हम आपको कच्चा आम खाने के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताने वाले हैं जिनके बारे में आपने कभी नहीं सुना होगा। लीवर रखे दुरुस्त – कच्चे आम का सेवन…
नई द‍िल्‍ली : वैज्ञान‍िकों ने एक ऐसा अंग खोज निकाला है जो शायद मानव शरीर का सबसे बड़ा अंग हो सकता है. इस अंग का नाम है इंटरस्टिटियम (Interstitium). वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि इस नई खोज की मदद से मनुष्य के शरीर में कैंसर कैसे फैलता है इसे आसानी से समझा जा सकेगा. इंटरस्टिटियम मानव शरीर का 80वां अंग होगा. मानव शरीर में अंगों, कोश‍िका समूहों और ऊतकों के बीच मौजूद फ्लूइड यानी कि द्रव पदार्थों का नेटवर्क इंटरस्टिटियम है. अब से पहले इस अंग को शरीर में एक-दूसरे जुड़े उत्तकों की सघन संरचना समझा जाता था. व‍िशेषज्ञों के मुताबिक फ्लूइड से भरे कर्पाटमेंट का यह नेटवर्क 'शॉक एब्‍जॉर्बर' की तरह काम कर सकता है. इंटरस्टिटियम का ज्‍यादातर हिस्‍सा…
नई दिल्ली: किंगफिशर कंपनी के मालिक विजय माल्या इन दिनों भारत से भागकर लंदन में रह रहे हैं. उनपर स्टेट बैंक से 9000 करोड़ रुपये का लोन वापस न करने के आरोप लगा है. इन विवादों के बीच खबरें आ रही हैं कि 62 वर्षीय विजय माल्या गर्लफ्रेंड पिंकी लालवानी से शादी करने जा रहे हैं. यह माल्या की तीसरी शादी होगी. दिलचस्प यह है कि उन्होंने अब तक दूसरी पत्नी को तलाक नहीं दिया है. पिंकी लालवानी पेशे से एयर होस्टेस रही हैं. माल्या की कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस से वह बतौर एयर होस्टेस साल 2011 में जुड़ीं. यह कंपनी 2012 में बंद हो गई. पूर्व एयर होस्टेस रहीं पिंकी और माल्या पिछले तीन साल से रिलेशनशिप में हैं. हफ्ते…
मुख्यमंत्री और पर्यावरण मंत्री के जिलों में वायु प्रदूषण के हालात दिल्ली और लखनऊ से बदतर ! लखनऊ: 100 प्रतिशत उत्तर प्रदेश अभियान के अंतर्गत क्लाइमेट एजेंडा संस्था के द्वारा उत्तर प्रदेश में वायु प्रदूषण के हालात पर आज  यूपी प्रेस क्लब में एक विस्तृत, प्रादेशिक रिपोर्ट जारी की गयी. यह रिपोर्ट, 100 प्रतिशत उत्तर प्रदेश अभियान के अंतर्गत जुटाये गए 15 जिलों के वायु प्रदूषण के आंकड़ों पर आधारित है. विशिष्ट आंकड़ों के आधार पर तैयार की गयी इस रिपोर्ट को पर्पज क्लाइमेट लैब, नयी दिल्ली से आये श्री संदीप दहिया, प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमति ताहिरा हसन जी, प्रज्ञा इंटर्नेशनल संस्था के निदेशक श्री प्रमिल द्विवेदी जी और क्लाइमेट एजेंडा की मुख्य अभियानकर्ता एकता शेखर ने संयुक्त रूप से…