Tue09222020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home कला और साहित्य
कला और साहित्य - दिव्य इंडिया न्यूज़
नई दिल्ली: ‘नई शिक्षा नीति 2020’ को नरेंद्र मोदी सरकार की हरी झंडी मिल गई है। इस शिक्षा नीति के बारे में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और रमेश पोखरियाल ने जानकारी दी है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को नई शिक्षा नीति को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में 21वीं सदी की नई शिक्षा नीति को मंजूरी दी गई। यह बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि 34 सालों से शिक्षा नीति में कोई परिवर्तन नहीं हुआ था। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि देशवासी इसका स्वागत करेंगे। इस क्षिक्षा नीति के तहत आज की जरूरतों को देखते हुए कई सारे अहम बदलाव सरकार…
नई दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (cbse)ने 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया है। इस संबंध में मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (nishank) ने ट्वीट कर जानकारी दी। इस साल 10वीं के रिजल्ट में छात्राओं ने बाजी मारी है। वहीं कुल मिलाकर 91.46 फीसदी छात्र-छत्राएं पास हुए हैं। पिछले साल 91.10 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए थे। छात्र अपना रिजल्ट बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट www.cbse.nic.in. पर जाकर भी देख सकते हैं। इस साल सीबीएसई की 10वीं की बोर्ड परीक्षा में 18 लाख, 73 हजार, 15 छात्र बैठे थे, जिनमें से 17 लाख, 13 हजार, 121 छात्र पास हुए हैं। परीक्षा करवाने के लिए बोर्ड ने 5377 केंद्र बनाए थे। इस साल सबसे ज्यादा छात्र त्रिवेंद्रम (trivandram) में पास हुए…
नई दिल्ली: मानव संसाधन विकास मंत्री (एमएचआरडी) रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने कहा है कि जो छात्र अपने घर वापस जा चुके हैं, उनकी परीक्षा उसी जिले में ली जाएगी। उन्होंने बुधवार को कहा कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने फैसला किया है कि जो छात्र अपने राज्य/ जिला में वापस आ चुके हैं, वे अपने स्कूल को सूचित कर सकते हैं। जिसके बाद छात्रों को उसी जिले में परीक्षा में शामिल होने की अनुमति होगी जहां वे वर्तमान में हैं। निशंक ने कहा कि जून के पहले सप्ताह में छात्रों को सूचित किया जाएगा कि वे किस स्कूल में परीक्षा दे पाएंगे। 18 मई को सीबीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वी की बची हुई परीक्षाओं के लिए नई डेटशीट…
नई दिल्ली: पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित वरिष्ठ हिंदी साहित्यकार गिरिराज किशोर का रविवार सुबह कानपुर में उनके आवास पर हृदय गति रुकने से निधन हो गया. वह 83 वर्ष के थे. उनके निधन से साहित्य के क्षेत्र में शोक की लहर छा गई. बता दें, मूलत: मुजफ्फरनगर निवासी गिरिराज किशोर कानपुर में बस गए थे और यहां के सूटरगंज में रहते थे. गिरिराज किशोर के परिवारिक सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने अपना देह दान किया है इसलिए सोमवार को सुबह 10:00 बजे उनका अंतिम संस्कार होगा. उनके परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है. तीन महीने पहले गिरने के कारण गिरिराज किशोर के कूल्हे में फ्रैक्चर हो गया था जिसके बाद से वह लगातार…
नई दिल्ली: मशहूर शायर राहत इंदौरी ने तंज कसते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा है कि उन्हें किसी शिक्षित व्यक्ति से देश का संविधान पढ़वाकर समझने की कोशिश करनी चाहिये कि इसमें क्या लिखा है और क्या नहीं. इंदौरी ने यह बात संशोधित नागरिकता कानून (सीएए), राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (एनपीआर) के खिलाफ पिछले कई दिनों से शहर के बड़वाली चौकी इलाके में जारी विरोध प्रदर्शन के मंच से बृहस्पतिवार रात कही. इस मंच से 70 वर्षीय शायर के संबोधन के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. इंदौरी ने कहा, "मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दरख्वास्त करना चाहूंगा कि अगर वह संविधान पढ़ नहीं पाये हैं, तो किसी पढ़े-लिखे आदमी को बुला लें…
नई दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने प्रायोगिक परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया है। इस बार कक्षा 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं में भाग लेने वाले छात्र डेट शीट जानने के लिए बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट cbse.nic.in पर जाकर अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं। सीबीएसई बोर्ड की अधिसूचना के अनुसार, कक्षा 10 और कक्षा 12 के छात्रों के लिए प्रायोगिक परीक्षा 1 जनवरी 2020 से 7 फरवरी 2020 के लिए औपचारिक रूप से सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों द्वारा आयोजित की जाएगी। इसकी जानकारी बोर्ड की ओर से सभी सीबीएसई स्कूलों को दे दी गई है। बताया गया है कि बोर्ड साफ-सुथरी प्रायोगिकि परीक्षा कराने के लिए केंद्रों पर आर्ब्जवर नियुक्त करेगा। इसके साथ एक्सटर्नल भी मौजूद रहेंगे।…
लखनऊ के रहने वाले एवं पेशे से अधिवक्ता वी0पी0 सुनील को लेखन का शौक छात्र जीवन में ही हो गया था और विश्वविद्यालय स्तर पर वर्ष 1985 में सामायिक विषय पर लिखे गये लेख को पुरस्कार के लिये भी चुना गया, इस लेखन के बाद के बाद लगभग तीस वर्षो के बाद अपना पहला उपन्यास तीन युवा किरदारों पर केन्द्रित करते हुये डिवाईडेड लाइफ लिखना शुरू किया जो अब बाजारों में आ चुकी है, और हाल ही में अमेजन में प्रमुख दस बेस्टरीड्स में भी यह उपन्यास शामिल हुआ है। उनके पहले ही उपन्यास को मिल रही इस सफलता पर उपन्यास के लेखक वी0पी0 सुनील से हुयी बातचीत के कुछ अंश :-   आपके उपन्यास ‘डिवाईडेड लाइफ’ का मूल सन्देश…
लखनऊ: बड़े तो बड़े किताबों की रंगबिरंगी दुनिया बच्चों को भी बेइंतिहा भा रही है। यहां राणाप्रताप मार्ग मोतीमहल वाटिका लान में चल रहे राष्ट्रीय पुस्तक मेले में युवाओं के संग लोग बच्चों को लेकर पूरे परिवार के संग आ रहे हैं। पुस्तक प्रेमियों का सिलसिला यहां आज भी देर रात तक जारी रहा। निःशुल्क प्रवेश व सुबह 11 बजे से रात नौ बजे तक 29 सितम्बर तक जारी किताबों के इस मेले में बच्चों के लिये बहुत कुछ है। स्टारडम के एक स्टाल पर बच्चों की देशी-विदेशी लाइब्रेरी में रखने योग्य किताबें, इन्साइक्लापीडिया, सामान्य ज्ञान, विज्ञान, कम्प्यूटर जैसे कई विषयों की सतरंगी किताबें हैं तो दूसरे स्टाल पर पढ़ने-पढ़ाने के उपकरण, चुम्बकीय उपकरण, माइंड गेम, पजल, जानवरों के कटआउट,…
मोतीमहल लान में राष्ट्रीय पुस्तक मेला शुरू, किताबों पर न्यूनतम 10 फीसदी छूट लखनऊ: सत्रहवां राष्ट्रीय पुस्तक मेला आज से राणाप्रताप मार्ग मोतीमहल वाटिका लान में प्रारम्भ हो गया। आज उद््घाटित हुआ यह मेला 29 सितम्बर तक चलेगा। दि फेडरेशन आफ पब्लिशर्स एण्ड बुकसेलर्स एसोसिएशन्स इन इण्डिया, नई दिल्ली के सहयोग से के.टी.फाउण्डेशन व फोर्सवन द्वारा संयोजित महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की थीम पर आधारित इस मेले में प्रवेश निःशुल्क है। यहां हर किताब पर न्यूनतम 10 फीसदी छूट मिलेगी। मेले का उद्घाटन एडवोकेट रामजी दास, संरक्षक मुरलीधर आहूजा, भाजपा नेता भारत दीक्षित व प्रदेश ओलम्पिक संघ के उपाध्यक्ष टीपी हवेलिया ने मिलकर किया। एडवोकेट रामजी दास ने पुस्तकों को बहुमूल्य बताते हुए कहा कि अगर हम पुस्तकों को…
लखनऊ: राणाप्रताप मार्ग मोतीमहल वाटिका लान लखनऊ में वर्ष 2003 से निरंतर होता आ रहा 10 दिवसीय सत्रहवां राष्ट्रीय पुस्तक मेला 20 से 29 सितम्बर तक चलेगा। दि फेडरेशन आॅफ पब्लिशर्स एण्ड बुकसेलर्स एसोसिएशन्स इन इण्डिया, नई दिल्ली के सहयोग से के.टी.फाउण्डेशन व फोर्सवन द्वारा संयोजित महात्मा गांधी की 150वीं जयंती की थीम पर आधारित यह आयोजन बच्चो-बड़ों सभी को समर्पित होगा। उद्घाटन के लिये मुख्यअतिथि के तौर पर राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल को आमंत्रित किया गया है। निःशुल्क प्रवेश वाले मेले में पुस्तक प्रेमियों को हमेशा की तरह किताबों पर न्यूनतम 10 फीसदी की छूट मिलेगी। साहित्यिक-सांस्कृतिक नगरी का बहुप्रतीक्षित वार्षिक उत्सव बन चुके इस सत्रहवें राष्ट्रीय पुस्तक मेले के बारे में आयोजक फाउण्डेशन के संयोजक मण्डल मनोज सिंह चंदेल…
Page 1 of 9