Mon09212020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home देश
देश - दिव्य इंडिया न्यूज़
नई दिल्लीः आईसक्रीम बनाने वाली कंपनी क्वालिटी लिमिटेड का नाम एक बड़े बैंकिंग धोखधड़ी में सामने आ रहा है। डेयरी प्रोडक्ट्स कंपनी पर बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व वाले कंसोर्टियम से कथित धोखाधड़ी कर उसे करीब 1,400 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने का आरोप है। इस संबंध में सीबीआई ने क्वालिटी लिमिटेड और उसके निदेशकों के आठ ठिकानों पर सोमवार को छापे मारे। अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने क्वालिटी लिमिटेड और इसके निदेशकों संजय ढींगरा, सिद्धांत गुप्ता, अरुण श्रीवास्तव के अलावा अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सीबीआई के प्रवक्ता आर. के. गौड़ ने कहा कि शिकायत में आरोप लगाया गया है कि आरोपियों ने बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व वाले सहायत संघ को करीब 1400.62…
नई दिल्लीः केंद्र ने उच्चतम न्यायालय से कहा है कि प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया अपने काम के तरीके की वजह से ‘बहुत ही कम सीमा लांघते’ हैं लेकिन डिजिटल मीडिया ‘पूरी तरह अनियंत्रित’ है। सरकार ने कहा कि अगर शीर्ष अदालत मुख्य धारा की इलेक्ट्रानिक मीडिया और प्रिंट मीडिया के लिये दिशा निर्देश प्रतिपादित करना जरूरी समझती है तो ‘समय की दरकार है’ कि यह कवायद पहले वेब आधारित डिजिटल मीडिया से शुरू की जानी चाहिए। सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने अपने नये हलफनामे में कहा है कि शीर्ष अदालत को व्यापक मुद्दे केन्द्र सरकार और सक्षम विधायिका के निर्णय के लिये छोड़ देने चाहिए या फिर डिजिटल मीडिया से यह कवायद शुरू करनी चाहिए। मंत्रालय ने यह हलफनामा सुदर्शन…
नई दिल्ली: केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को 8 निलंबित सांसदों पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इन सांसदों को अगर मार्शल न रोकते तो यह राज्यसभा के उप सभापति हरिवंश जी पर शारीरिक हमला कर देते। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कल का दिन (रविवार) संसद के इतिहास का सबसे शर्मनाक दिन था। बता दें कि कृषि बिल पर कल राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ। उप सभापति का माइक तोड़ दिया गया। आज सभापति वेंकैया नायडू ने कार्रवाई करते हुए 8 सांसदों को शेष सत्र के लिए निलंबित कर दिया। इसके बावजूद ये सांसद सदन से बाहर जाने को राजी नहीं थे। रविशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि संसद के इतिहास में कल का दिन सबसे…
नई दिल्ली: मानसून सत्र के आठवें दिन लोकसभा और राज्यसभा में रविवार को कृषि बिलों को लेकर जोरदार हंगामा हुआ। इसके बाद सोमवार को कार्यवाही शुरू होते ही सभापति वेंकैया नायडू ने राज्यसभा के 8 विपक्षी सांसदों को पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया। उधर सोमवार को ही कांग्रेस समेत 18 विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर बिलों पर साइन नहीं करने की अपील की है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, इस वीडियो इसमें साफ देखा जा सकता है कि संसद परिसर स्थित गांधी प्रतिमा पर निलंबित सांसद डेरेक ओ’ब्रायन, राजीव सातव, संजय सिंह, केके रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सैयद नजीर हुसैन और इलामारन करीम धरना दे रहा…
नई दिल्लीः केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन क्षेत्र में मार्च के दौरान तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हुए लोगों के एकत्रित होने के कारण कोरोना वायरस संक्रमण ‘कई व्यक्तियों’ तक फैल गया। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने राज्यसभा में यह भी कहा कि दिल्ली पुलिस ने तबलीगी जमात के 233 सदस्यों को गिरफ्तार किया तथा 29 मार्च से संगठन के मुख्यालय से 2,361 लोगों को निकाला गया है। उन्होंने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, ‘‘हालांकि, जमात प्रमुख मौलाना मोहम्मद साद के बारे में जांच चल रही है। दिल्ली पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार, कोविड-19 के प्रकोप के संबंध में विभिन्न प्राधिकरणों द्वारा जारी दिशा-निर्देशों और आदेशों के बावजूद, एक…
नई दिल्ली: कृषि विधेयकों पर चर्चा के दौरान राज्यसभा में हंगामा करने वाले आठ सांसदों को एक सप्ताह के लिए निलंबित कर दिया गया है। साथ ही उपसभापति के खिलाफ विपक्षी दलों द्वारा अविश्वास प्रस्ताव को भी उन्होंने खारिज कर दिया है। राज्यसभा सभापति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि डेरेक ओ’ब्रायन, संजय सिंह, राजीव सातव, के.के. रागेश, रिपुन बोरा, डोला सेन, सैयद नजीर हुसैन और एलामरम करीम को एक सप्ताह के लिए सदन से निलंबित किया जाता है। राज्यसभा के सभापति ने कल की घटना पर कहा कि राज्यसभा के लिए यह सबसे खराब दिन था। कुछ सांसदों ने पेपर को फेंका। माइक को तोड़ दिया। रूल बुक को फेंका गया। इस घटना से मैं बेहद दुखी हूं। उपसभापति…
नयी दिल्ली. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. हर्षवर्द्धन ने रविवार को कहा कि देश में कोविड-19 रोधी टीके के विकास का काम प्रगति पर है लेकिन जब तक यह नहीं आता है तब तक दो गज दूरी सहित सामाजिक व्यवहार ही ‘टीका’ है। लोकसभा में नियम 193 के तहत कोविड-19 वैश्विक महामारी पर हुई चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए हर्षवर्द्धन ने कहा कि दुनिया में कोविड-19 रोधी 145 टीका ‘प्री क्लिनिकल’ मूल्यांकन के स्तर पर हैं और इसमें से 35 का क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है। उन्होंने कहा कि भारत में 30 टीकों के लिये समर्थन दिया गया है जो विकास के विभिन्न स्तरों पर हैं । इसमें से 3 वैक्सीन ट्रायल के प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण में…
नयी दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कृषि संबंधी दो विधेयकों को संसद से मंजूरी मिलने की सराहना करते हुए रविवार को कहा कि इन दोनों विधायकों के पारित होने से कृषि क्षेत्र में वृद्धि और विकास का एक नया इतिहास लिखा जाएगा। सिंह ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘इन दोनों विधेयकों के पारित होने से न केवल भारत की खाद्य सुरक्षा मजबूत होगी, बल्कि किसानों की आय को दोगुना करने की दिशा में भी यह एक बड़ा प्रभावी कदम सिद्ध होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘संसद में इन दोनों विधेयकों के पारित हो जाने के बाद कृषि क्षेत्र में वृद्धि और विकास का एक नया इतिहास लिखा जाएगा।’’ राज्यसभा में रविवार को कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों…
चंडीगढ़. संसद में कृषि विधेयकों के पारित होने के विरोध में किसानों ने रविवार को हरियाणा में सड़क जाम कर दिया और राज्य में भाजपा नीत गठबंधन सरकार में शामिल जननायक जनता पार्टी (जजपा) के दो विधायकों ने भी प्रदर्शन में हिस्सा लिया। वहीं, पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया। कृषि विधेयकों के खिलाफ भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) की हरियाणा इकाई के आह्वान के बाद राज्य में कई स्थानों पर किसानों ने दोपहर 12 से तीन बजे के बीच सड़क और राजमार्ग को अवरूद्ध कर दिया। रविवार को ऐसे दो विधेयक राज्यसभा में पारित किये गये। खबरों में कहा गया है कि दोपहर तीन बजे के बाद नाकेबंदी हटा ली गई, जिसके बाद दिन का प्रदर्शन समाप्त…
नयी दिल्ली. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने संसद में कृषि संबंधी विधेयकों के पारित होने के बाद रविवार को आरोप लगाया कि सरकार ने इन विधेयकों के रूप में किसानों के खिलाफ ‘मौत का फरमान’ निकाला है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘जो किसान धरती से सोना उगाता है, मोदी सरकार का घमंड उसे ख़ून के आंसू रुलाता है। राज्यसभा में आज जिस तरह कृषि विधेयक के रूप में सरकार ने किसानों के ख़िलाफ़ मौत का फरमान निकाला, उससे लोकतंत्र शर्मिंदा है।’’ कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए कि जब अनाज मंडी ख़त्म हो जाएंगी, तो किसान को एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) कौन और कैसे देगा? क्या एफसीआई (भारतीय खाद्य निगम) 15.50 करोड़…
Page 1 of 690