Fri09182020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home दुनिया
दुनिया - दिव्य इंडिया न्यूज़
चीन में विकसित हो रही कोरोनावायरस वैक्सीन नवंबर तक आम जनता के इस्तेमाल के लिए तैयार हो सकती है. यह बात चाइनीज सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के एक अधिकारी ने कही है. चीन की 4 कोविड19 वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल्स के अंतिम चरण में हैं. इनमें से तीन वैक्सीन को जुलाई महीने में लॉन्च एक इमरजेंसी यूज प्रोग्राम के तहत जरूरी कामों से जुड़े वर्कर्स को ऑफर किया जा चुका है. CDC चीफ बायोसेफ्टी एक्सपर्ट Guizhen Wu ने एक इंटरव्यू में कहा है कि चीन की वैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण सुचारू रूप से आगे बढ़ रहा है. ऐसे में नवंबर या दिसंबर महीने में वैक्सीन आम जनता के लिए तैयार हो सकती है. अप्रैल महीने में…
नई दिल्ली: Astrazeneca ने ब्रिटेन में कोरोना वैक्सीन का ट्रायल फिर से शुरू किया है| कंपनी के मुताबिक यूके की मेडिसिन हेल्थ रेगुलेटरी अथॉरिटी से मंजूरी मिलने के बाद फिर से वैक्सीन का ट्रायल शुरू हुआ है| यूके में 1 वॉलंटियर की तबीयत बिगड़ने के बाद वैक्सीन का ट्रायल पहले यूके और फिर दुनिया भर में रोक दिया गया था| हालाँकि इस वैक्सीन का भारत में सिरम इंस्टीट्यूट द्वारा ट्रायल जारी था मगर ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के नोटिस जारी करने के बाद सिरम इंस्टीट्यूट का ट्रायल निलंबित कर दिया| फार्मा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एस्ट्राजेनेका ने शनिवार को कहा कि ब्रिटेन के एक वॉलंटियर के बीमार पड़ने के कारण रोके गए ट्रायल को ब्रिटिश नियामकों से अनुमति मिलने…
नई दिल्ली: लद्दाख में नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास भारत और चीन के बीच तनाव के बीच दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच आज रूस के मॉस्‍को शहर में मुलाकात हुुुई। विदेश मंत्री एस. जयशंकर और उनके चीनी समकक्ष वांग यी के बीच हुई इस मुलाकात को सरहद पर दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव को कम करने की कवायद के तौर पर देखा जा रहा है। दोनों देशों के विदेश मंत्री  इस समय शंघाई को-ऑपरेशन आर्गेनाइजेशन (एससीओ) की बैठक के सि‍लसिले में इस समय मॉस्‍को में हैं। इससे पहले दोनों देशों के रक्षा मंत्रियों के बीच भी मॉस्‍को में भेंट हो चुकी है। बता दें कि विदेश मंत्री जयशंकर ने हाल ही में पूर्वी लद्दाख की स्थिति को…
नई दिल्ली: चीनी मीडिया में भी भारत-चीन के बीच चल रहे तनाव को लेकर लगातार भड़काऊ समाचार जारी हैं । मंगलवार को ग्लोबल टाइम्स ने एक आर्टिकल में ‘अगर भारत सरहद पर गलती दोहराता है तो इतिहास दोहराया जाएगा’ शीर्षक के साथ लिखा। इस आर्टिकल में दावा किया गया कि भारत ने सीमा पर हथियार ना इस्तेमाल करने के समझौते को तोड़ा है। ग्लोबल टाइम्स ने आगे लिखा, ‘भारतीय पक्ष को लगता है कि हथियारों का इस्तेमाल ना करने की वजह से उसकी स्थिति कमजोर है इसलिए भारतीय सेना अपनी क्षमता को मजबूत करने के लिए हथियारों का इस्तेमाल करना चाहती है।’ इसके साथ ही इस लेख में कहा गया, ‘अगर भारतीय सेना बंदूकों का इस्तेमाल करती है तो चीनी…
नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का नाम साल 2021 के नोबल पीस प्राइज़ के लिए नॉमिनेट किया गया है. ट्रंप को इज़रायल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच शांति समझौते में योगदान देने के लिए नामित किया गया है. उनका नाम नॉर्वे के राइटविंग यानी दक्षिणपंथी सांसद Tybring-Gjedde ने नामित किया है. यह सांसद नॉर्वे में अपने एंटी-इमिग्रेशन यानी प्रवासी-विरोधी रुख के चलते जाने जाते हैं. वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप का पूरा कार्यकाल ही प्रवासियों को लेकर विवादों से भरा हुआ है. Tybring-Gjedde ने कहा कि ट्रंप इस सम्मान के लिए जरूरी तीन शर्तों पर खरे उतरते हैं. पहला- दुनियाभर के देशों के बीच सहयोग को बढ़ाना, जो उन्होंने नेगोसिएशन के जरिए बखूबी किया है. दूसरा, सेना की तादाद…
नई दिल्ली: कोरोना काल में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कभी मास्क ना पहनने को लेकर तो कभी मास्क को जरूरी ना बताकर चर्चा में रहे हैं। डोनाल्ड ट्रंप इस बार एक पत्रकार को कहा कि वह मास्क हटाकर सवाल पूछे। लेकिन पत्रकार ने साफतौर पर इस बात से इनकार कर दिया। असल में व्हाइट हाउस में हो रही एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने रॉयटर्स के पत्रकार Jeff Mason को मास्क उतारकर सवाल पूछने को कहा। लेकिन रिपोर्टर Jeff Mason ने मना कर दिया। ये घटना सोमवार (7 मार्च) की है। रॉयटर्स के रिपोर्टर Jeff Mason डोनाल्ड ट्रंप से सवाल पूछ रहे थे लेकिन मास्क की वजह से आवाज धीमी आ रही थी। जिसके बाद ट्रंप ने…
बीजिंग: भारत से तनाव को देखते हुए चीन तिब्बत में 1 ट्रिलियन युआन (146 बिलियन डॉलर) निवेश करने की योजना बना रहा है। इसके तहत पुराने प्रोजेक्ट के साथ ही चीन तिब्बत में कई नए प्रोजेक्ट भी लॉन्च करेगा। जिनमें दूर-दराज के इलाकों को सड़क मार्ग से जोड़ना और रेल लाइन का निर्माण प्रमुख है। तिब्बत में इतने बड़े निवेश की वजह क्षेत्र की एकता को बढ़ावा देना है। इसके साथ ही चीन तिब्बत को नेपाल से भी रेल मार्ग द्वारा जोड़ने जा रहा है। इससे तिब्बत में चीनी सेना भी मजबूत होगी। बता दें कि भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद चरम पर है और दोनों तरफ से युद्ध की तैयारियां चल रही हैं। हालांकि अभी भी…
नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है और अब कोविड-19 के संक्रमण की खराब स्थिति वाले देशों की सूची में दूसरे स्थान पर पहुंच गया। भारत में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या 42 लाख से ज़्यादा हो गई और इसके साथ ही भारत ने सबसे ज्यादा संक्रमितों के मामले में ब्राजील को पीछे छोड़ दिया। worldometers के आंकड़ों के अनुसार ब्राजील में अब तक 41.37 लाख लोग कोरोना वायरस के चपेट में आ चुके हैं, जिसमें से 1.26 लाख लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। देश में अब तक 33.17 लाख लोग इस महामारी से ठीक भी हुए हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका में सामने आए हैं…
मास्को: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि एससीओ क्षेत्र में शांति और सुरक्षा के लिए विश्वास का माहौल, गैर-आक्रामकता, अंतरराष्ट्रीय नियमों के प्रति सम्मान तथा मतभेदों का शांतिपूर्ण समाधान आवश्यक है। उनके इस बयान को पूर्वी लद्दाख में भारत के साथ सीमा विवाद में संलिप्त चीन को परोक्ष संदेश के तौर पर देखा जा रहा है। रूस की राजधानी में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के एक मंत्री स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए सिंह ने द्वितीय विश्व युद्ध का भी उल्लेख किया और कहा कि उसकी स्मृतियां दुनिया को सबक देती हैं कि एक देश की दूसरे देश पर ‘आक्रमण की अज्ञानता’ सभी के लिए विनाश लाती हैं। भारत और चीन दोनों ही देश आठ सदस्यीय क्षेत्रीय…
नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच जारी तनातनी बरकारर है। इस बीच विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह स्पष्ट है कि बीते चार महीने में हमने जो हालात देखे हैं वे प्रत्यक्ष रूप से चीनी पक्ष की गतिविधियों का परिणाम है। विदेश मंत्रालय की तरफ से अनुराग श्रीवास्तव ने अपने एक बयान में कहा कि भारत और चीन के बीच आगे आर्मी और राजनयिक बातचीत होगी। भारत शांतिपूर्ण बातचीत के जरिए मामले के समाधान के लिए प्रतिबद्ध हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि मामले को जिम्मेदाराना तरीके से स्थिति को संभाला जाना चाहिये। यह स्पष्ट है कि बीते चार महीने में हमने जो हालात देखे हैं वे प्रत्यक्ष रूप से चीनी पक्ष की गतिविधियों का नतीजा हैं। विदेश मंत्रालय…
Page 1 of 96