Sat06062020

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home कारोबार
कारोबार - दिव्य इंडिया न्यूज़
नई दिल्ली: कोरोना महामारी के कारण भारत के साथ-साथ विश्व की अर्थव्यवस्था में मंदी छाई हुई है। शुक्रवार को रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि इस वायरस का देश की इकॉनमी पर असर उम्मीद से कहीं ज्यादा गंभीर है। मांग में भयानक गिरावट आई है। बेरोजगारी संकट के कारण यह आने वाले दिनों में और गहरा सकता है। इन तमाम परिस्थितियों के बीच Chief Economic Advisor केवी सुब्रमण्यम ने एक निजी चैनल से बातचीत में कहा कि लोगों के खाते में पैसे डालने से हालात नहीं सुधरने वाले हैं। इधर राहुल गांधी और कांग्रेस पिछले कई हफ्तों से सरकार से यह मांग कर रहे हैं कि गरीबों, मजदूरों और एमएसएमई की वित्तीय मदद की जाए। उनका कहना…
नई दिल्ली: वित्त मंत्रालय ने कहा है कि चालू वित्तीय वर्ष (2020-21) में नई योजनाओं की शुरूआत नहीं होगी। मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना संकट के मद्देनजर ये फैसला लिया गया है। हालांकि, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज, आत्मनिर्भर भारत अभियान पैकेज और अन्य विशेष पैकेज के तहत योजनाओं के लिए धन आवंटित किया जाएगा। वित्त मंत्रालय ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष के लिए पहले से स्वीकृत योजनाओं को भी अगले साल 31 मार्च तक या अगले आदेशों तक निलंबित रखा जाएगा। इसमें उन योजनाओं को भी शामिल किया जाएगा जिसकी मंजूरी विभाग की तरफ से मिल चुकी है।  वित्त मंत्रालय की ओर से जारी मेमो के अनुसार सभी मंत्रालयों और विभागों द्वारा भेजी गई स्वीकृत योजनाओं पर…
नई दिल्ली: भारत की सॉवरेन रेटिंग घटाने के एक ही दिन बाद मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने मंगलवार को 11 कंपनियों की रेटिंग भी गिरा दी। इनमें टीसीएस और इनफोसिस समेत आठ नॉनफाइनेंशियल कंपनियां और तीन बैंक एसबीआई, एचडीएफसी बैंक और एक्जिम शामिल हैं। मूडीज ने कहा है कि कोरोनावायरस महामारी के चलते बिजनेस में पहुंची बाधा और भारत की सॉवरेन रेटिंग घटाने घटाए जाने के कारण ही इन कंपनियों की रेटिंग भी नीचे की गई है। सोमवार को मूडीज ने 22 साल में पहली बार भारत की रेटिंग घटाते हुए बीएए3 कर दी थी। यह निवेश ग्रेड में सबसे निचली रैंकिंग है। इसके नीचे की रैंकिंग को जंक माना जाता है। जिन आठ नॉनफाइनेंशियल कंपनियों की रेटिंग घटाई गई है…
नई दिल्ली: लॉकडाउन के कई चरणों के बाद अनलॉक के चरण शुरू होने से अर्थव्यवस्था दोबारा पटरी पर लौटने की उम्मीद में निवेशक सोमवार को खासे उत्साहित दिखाई दिए। शेयर बाजारों में निवेशकों की जोरदार लिवाली से तेजी दिखाई दी। कारोबार के अंत में बीएसई 879.42 अंक या 2.71% बढ़कर 33,303.52 पर और निफ्टी 245.85 अंक या 2.57% बढ़कर 9,826.15 पर बंद हुआ। सप्ताह के पहले दिन सोमवार को बीएसई और निफ्टी बढ़त के साथ बंद हुए। सुबह बीएसई 481.95 अंक ऊपर और निफ्टी 146.55 प्वाइंट की बढ़त के साथ खुला। दिनभर की ट्रेडिंग के दौरान बीएसई 1249.73 अंक तक और निफ्टी 351.30 प्वाइंट तक ऊपर जाने में कामयाब रहा। आज आइडीबीआइ बैंक के शेयर में 19.95 फीसदी का उछाल…
नई दिल्ली: पिछले महीने आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत एमएसएमई के लिए घोषित स्कीमों को कैबिनेट ने सोमवार को मंजूरी दे दी। इसमें इक्विटी में मदद के लिए 50,000 करोड़ रुपये की स्कीम और 20,000 करोड़ रुपये की सबॉर्डिनेट कर्ज स्कीम के साथ 10,000 करोड़ रुपये का ‍विशेष फंड बनाने का भी फैसला शामिल है। इस विशेष फंड के अधीन कई छोटे-छोटे फंड होंगे। कैबिनेट ने मझोली कंपनियों के लिए टर्नओवर की सीमा भी बढ़ाकर 250 करोड़ रुपये कर दी है। इंडस्ट्री के जानकारों का कहना है कि सीमा बढ़ाने से इन कंपनियों को ही पैकेज का ज्यादा लाभ मिलेगा। कर्ज देने में बैंक छोटी कंपनियों को तरजीह कम देंगे। कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए सूचना एवं प्रसारण…
नई दिल्ली: अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 महामारी का असर दिखने लगा है। मैन्युफैक्चरिंग और कंस्ट्रक्शन गतिविधियों में गिरावट के चलते जनवरी-मार्च तिमाही में भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) विकास दर सिर्फ 3.1 फीसदी दर्ज हुई है। यह आठ साल में सबसे कम है। विकास दर में लगातार आठवीं तिमाही गिरावट आई है। गुरुवार को सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय की तरफ से ये आंकड़े जारी किए गए। एक साल पहले 2018-19 की चौथी तिमाही विकास दर 5.7 फीसदी दर्ज हुई थी। पूरे वित्त वर्ष 2019-20 में जीडीपी विकास दर घटकर 4.2 फीसदी रह गई। 2018-19 में यह 6.1 फीसदी थी। मौजूदा सीरीज में यह सबसे कम विकास दर है। मौजूदा मूल्यों के आधार पर देखें तो विकास दर 7.2 फीसदी…
नई दिल्ली: कोविड-19 हर रोज नई चुनौती लेकर आ रहा है। एक तरफ जहां लाखों लोगों के जान पर बन आई है, वहीं 60 दिनों से ज्यादा के लॉकडाउन ने देश में अब तक का सबसे बड़ा रोजगार संकट खड़ा कर दिया है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी प्राइवेट लिमिटेड (सीएमआइइ) के अनुसार अकेले अप्रैल महीने में 11.4 करोड़ लोगों ने अपनी नौकरियां गंवा दी है। इसमें सबसे ज्यादा मार श्रमिकों पर पड़ी है। करीब 9.1 करोड़ श्रमिकों को अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ा है। इसी तरह 1.8 करोड़ छोटे बिजनेसमैन और 1.78 करोड़ वेतनभोगी लोगों की नौकरियां गई हैं। सीएमआइइ के एमडी और सीइओ महेश व्यास के अनुसार सर्वेक्षण में मार्च के मुकाबले अप्रैल में नौकरी पेशा लोगों…
कैब सेवा प्रदाता ओला के बाद इसके प्रतियोगी उबर इंडिया ने भी 600 कर्मचारियों की छंटनी कर दी है। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से आर्थिक हालात खराब हो रहे हैं। कंपनियां आर्थिक संकट से जूझ रही हैं। इस बीच उबर इंडिया ने मंगलवार को कहा कि वो अपने 600 कर्मचारियों निकालने का फैसला लिया है। जिसमें ड्राइवर, बिजनेस डेवलपमेंट, मार्केटिंग, और दूसरे विभागों से जुड़े हुए लोग हैं। यह देश में 2,400 कर्मचारियों का एक चौथाई है। गौरतलब है कि कंपनी ने ग्लोबल रिस्ट्रक्चरिंग करने की घोषणा की थी। भारत में जो कमर्चारियों की छंटनी की गई है, यह उसी का एक हिस्सा है। पूरे देश में कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन घोषित किया गया है। लिहाजा कंपनी आर्थिक…
महाराष्ट्र सरकार मुंबई से घरेलू उड़ानों के लिए हर रोज 25 टेक ऑफ और 25 लैंडिंग की अनुमति देने पर सहमत हो गई है। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने सोमवार को कहा कि यह संख्या धीरे-धीरे बढ़ाई जाएगी। राज्य सरकार जल्द ही इस संबंध में विवरण और दिशानिर्देश जारी करेगी। बता दें कि लॉकडाउन के बीच केंद्र सरकार ने 25 मई से चरणबद्ध तरीकों से शुरू करने का फैसला किया है। इससे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राज्य में घरेलू उड़ान सेवा के लिए नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से बात की और उनसे अनुरोध किया कि घरेलू हवाई यात्रा फिर से शुरू करने के लिए वे हमें कुछ समय दें। उन्होंने कहा है कि हम…
केनरा बैंक ने कोविड-19 से प्रभावित अपने सभी लेनदारों के लिए ‘कैनरा क्रेडिट सपोर्ट’ योजना की घोषणा की है जिसके तहत बैंक नकदी की तात्कालिक दिक्कतों से जूझ रहे लेनदारों को तुरंत और बिना किसी दिक्कत के लोन मुहैया कराएगा। इस लोन का इस्तेमाल लेनदार वैधानिक बकाया राशि के भुगतान, वेतन, बिजली बिल के भुगतान और किराए देने के लिए कर सकते हैं।  बैंक की ओर से एक बयान में कहा गया है कि कंपनी ने कृषि क्षेत्र, स्वयं सहायता समूहों और रिटेल कैटेगरी के लिए 4,300 करोड़ रुपये मूल्य के करीब 6 लाख लोन मंजूर किए हैं। बैंक एसएमएस, कॉल सेंटर, ईमेल और फोन के जरिए पात्र लेनदारों से संपर्क कर इस योजना के बारे में बता रहा है। …
Page 1 of 97