Sun05262019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home राज्य Displaying items by tag: Lucknow

लखनऊ:  लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित यूपी इनवेस्‍टर्स समिट में पीएम मोदी ने कहा कि जब परिवर्तन होता है, तो सामने दिखता है. उत्तर प्रदेश में इतने व्यापक स्तर पर इन्वेस्टर समिट होना, इन्वेस्टर समिट में इतने निवेशकों और उद्यमियों का एकजुट होना, अपने आप में एक बड़ा परिवर्तन है. उन्‍होंने कहा कि मैं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनके मंत्रिमंडल के उनके सहयोगियों, ब्यूरोक्रेसी, पुलिस, और उत्तर प्रदेश की जनता को बधाई देता हूं कि वो अपने उत्तर प्रदेश को इतने कम समय में समृद्धि और विकास के रास्ते पर ले आई है. उन्‍होंने कहा कि अब यूपी विकास के रास्‍ते पर है. समिट में पीएम ने योगी सरकार पूरी गंभीरता के साथ किसानों से किए गए, महिलाओं, नौजवानों से किए गए वायदे पूरे कर रही है. मैंने पहले भी कहा है, Potential + Policy + Planning+ Performance से ही Progress आती है. अब यूपी भी Super-Hit Performance देने के लिए तैयार है्. पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में संसाधन और सामर्थ्य का इतना विस्तार है कि यहां पर सैकड़ों वर्षों से लगभग हर क्षेत्र की अलग पहचान रही है. उन्‍होंने कहा कि उत्तर प्रदेश आज अनाज के उत्पादन में, गेहूं के उत्पादन में, गन्ने के उत्पादन में, दूध के उत्पादन में, आलू के उत्पादन में, पूरे देश का नंबर वन स्टेट है. देश में दूसरे नंबर पर सब्जियों और तीसरे नंबर पर फलों का उत्पादन यहीं होता है. उन्‍होंने कहा कि नेगेटिविटी भरे उस माहौल से राज्य को पॉजीविटी की तरफ लाना, हताशा-निराशा अलग करके उम्मीद की किरण जगाने का काम योगी सरकार ने किया है. मुझे बहुत खुशी है कि योगी जी की सरकार, इस बात को ध्यान में रखते हुए ही अपने निर्णय ले रही है, नीतियां बना रही है. उन्‍होंने कहा कि यूपी में औद्योगिक निवेश को रोजगार सृजन से जोड़ते हुए नीतिगत निर्णय लिए जा रहे हैं. योगी जी की सरकार द्वारा अलग-अलग सेक्टरों के हिसाब से अलग-अलग पॉलिसी बना कर काम किया जा रहा है. उन्‍होंने कहा कि यूपी की अर्थव्यवस्था में सूक्ष्म-लघु एवं मध्यम उद्योगों- जिन्हें हम MSME कहते हैं, उनका बहुत बड़ा योगदान है। एग्रीकल्चर के बाद MSME सेक्टर में ही रोजगार के सबसे ज्यादा अवसर बनते हैं. मुझे ये जानकर खुशी है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने इस महत्वपूर्ण तथ्य को ध्यान में रखते हुए One District-One Product योजना शुरू की है. One District-One Product योजना को Backup Power मिलेगी केंद्र सरकार के स्किल इंडिया मिशन से, स्टैंड अप इंडिया - स्टार्ट अप इंडिया मिशन से...इसके अलावा सबसे बड़ा लाभ मिलेगा प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के माध्यम से. समिट में पीएम मोदी ने कहा कि खेती से जुड़ी एक बड़ी चुनौती है, खेत से लेकर बाजार तक पहुंचने में बड़ी मात्रा में फसल और फल-सब्जियां खराब हो जाती हैं. फसल-अनाज-फल-सब्जियों की बर्बादी कम करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना शुरू की गई है. इस योजना के तहत पूरी सप्लाई चेन और इंफ्रास्ट्रक्चर का आधुनिकीकरण किया जा रहा है. उत्तर प्रदेश में कृषि उत्‍पादों, कृषि अवशेष से पैसा कमाने की भी असीम संभावनाएं मौजूद हैं. खासकर गन्ने के उत्पादन में यूपी के सबसे आगे रहने की वजह से यहां इथेनॉल प्रॉडक्शन का बहुत संभावना है. उन्‍होंने कहा कि आज इस अवसर पर मैं एक महत्वपूर्ण घोषणा भी करने जा रहा हूं. इस वर्ष बजट में प्रस्ताव रखा गया था कि देश में दो डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर्स का निर्माण किया जाएगा. इनमें एक यूपी में प्रस्तावित है. बुंदेलखंड के विकास को विशेषतौर पर ध्यान में रखते हुए, अब ये तय किया गया है कि यूपी में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का विस्तार आगरा, अलीगढ़, लखनऊ, कानपुर, झांसी और चित्रकूट तक होगा. उन्‍होंने कहा कि ऐसा इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करेंगे, जो उत्तर प्रदेश को 21वीं सदी में नई बुलंदियों पर ले जाएगा.

Published in राज्य

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने मुलायम सिंह के गायत्री प्रजापति का बचाव किए जाने पर तंज कसते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव जी को उम्र के इस पड़ाव पर गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए। मुलायम सिंह यादव का जेल जाकर दुष्कर्म व भ्रष्टाचार के आरोपी गायत्री प्रजापति को निर्दोष होने का प्रमाण पत्र देना निन्दनीय है। 

श्री त्रिपाठी ने कहा कि मुलायम सिंह यादव वरिष्ठ व परिपक्व राजनीतिज्ञ है लेकिन उनका महिला विरोधी चेहरा पहले भी जनता ने देखा है जब उन्होंने विवादित बयान देकर बलात्कार के आरोपियों का बचाव किया था। जेल में मुलाकात कर गायत्री को क्लीन चिट देना मुलायम सिंह यादव की इसी महिला विरोधी व अपराध संरक्षण की मानसिकता को दर्शाता है।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि गायत्री प्रजापति विचाराधीन कैदी है और उनके भ्रष्टाचार की इमारत को योगी सरकार ने ढहाना शुरू किया है जिसको पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार का पूरा समर्थन व संरक्षण था। अखिलेश सरकार के रहते पुलिस दबाव व प्रभाव में काम कर रही थी, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद मुकदमा दर्ज हो पाया था। अब उ0प्र0 में योगी राज में शत प्रतिशत एफआईआर दर्ज की जा रही है और पुलिस बिना दबाव-प्रभाव के तत्काल कार्यवाही कर रही है।

श्री त्रिपाठी ने कहा कि योगी सरकार संवेदनशील सरकार है। एण्टी रोमियों स्वायड का गठन और कन्या भ्रूण हत्या की रोकथाम के लिए मुखबिर योजना, महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता को दिखाता है। योगी सरकार में महिलाओं के विरूद्ध अपराध पर प्राथमिकता से कठोर कार्यवाही लिए जाने के निर्देश दिए है। सरकार की इस संकल्प शक्ति से नारी शक्ति स्वयं को सुरक्षित और शक्तिशाली महसूस कर रही है।

Published in राज्य

रेडियो उपकरण में आयी अचानक खराबी 

लखनऊ। राजधानी लखनऊ स्थित चौधरी चरण सिंह अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आज शाम तकनीकी खराबी आने से विमानों की आवाजाही रोक दी गयी। हवाई अड्डे के निदेशक के विशेष कार्याधिकारी संजय नारायण ने बताया कि शाम करीब साढ़े चार बजे हवाई अड्डे पर लगा बीओआर उपकरण (रेडियो उपकरण) अचानक खराब हो गया, जिसके बाद से विमानों की आवाजाही रोक दी गई। उन्होंने कहा कि उपकरण को ठीक करने की कोशिश की जा रही है। जब तक वह ठीक नहीं हो जाता, तब तक हवाई अड्डे पर ना तो कोई विमान उड़ेगा और ना ही उतरेगा। नारायण ने बताया कि इस खराबी के कारण शेड्यूल की कुल 20 विमानों की उड़ान और लैंडिंग रोकी गयी है। हालांकि, इस दौरान जो विमान उतरे वे वैकल्पिक व्यवस्था के जरिये उड़ान भर चुके हैं, मगर साढ़े छह बजे के बाद जो विमान उतरे, वे सभी हवाई अड्डे पर रोक लिये गये हैं। उन्होंने कहा कि खराबी के कारण किसी भी विमान को वैकल्पिक रास्ते से भेजने का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। हवाई अड्डे के वरिष्ठ अधिकारी खराब उपकरण को जल्द ठीक कराने की कोशिश में जुटे हैं। विमानों की आवाजाही के लिए यात्रियों को दिक्कत हो रही है।

Published in राज्य

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की ओर से शनिवार को जारी प्रत्याशियों की सूची एक बार फिर चाचा-भतीजे के बीच कलह की वजह बन सकती है, क्योंकि गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी के भाई और एक अन्य माफिया अतीक अहमद के नामों पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सहमति संभवत: नहीं बने. शिवपाल ने विधानसभा चुनाव के लिए कल 23 उम्मीदवारों की सूची जारी की. अंसारी के भाई एवं कौमी एकता दल के वर्तमान विधायक सिगबततुल्लाह अंसारी को मोहम्मदाबाद (गाजीपुर) सीट से प्रत्याशी बनाया गया है. वह फिलहाल इसी सीट से विधायक हैं. कौएद के सपा में विलय का मुख्यमंत्री ने खुलकर विरोध किया था. सूची में एक अन्य विवादित नाम अतीक अहमद का है, जिन्हें सपा ने कानपुर कैंट से प्रत्याशी बनाया है. बसपा विधायक राजू पाल की हत्या के आरोपी अतीक अखिलेश की काली सूची में हैं और कौशांबी की एक रैली में उन्हें मुख्यमंत्री ने मंच से उतार दिया था. फूलपुर से सांसद रह चुके अतीक वर्ष 1999 से 2003 के बीच अपना दल के अध्यक्ष रहे. शिवपाल का कहना है कि जीतने की संभावनाओं और पार्टी के प्रति निष्ठा को देखते हुए उम्मीदवारों का चयन किया गया है. सपा ने कुछ प्रत्याशी बदले हैं. हालांकि पत्नी सारा सिंह की हत्या के आरोपी अमन मणि त्रिपाठी का नाम सूची में बरकरार है. खबर है कि मुख्यमंत्री अमन मणि को नहीं चाहते और उनकी जगह किसी अन्य को प्रत्याशी बनाया जा सकता है.

Published in राज्य

विरासत और सम्मान की सुरक्षा के लिए स्टार एक्टिविस्ट सिद्धार्थ नारायण की मुहिम

लखनऊ: लखीमपुर खीरी एक वन्य क्षेत्र है पर यह केवल वन्य क्षेत्र ही नहीं बल्कि यहाँ अब भी नौकरशाही का जंगल राज चलता है । इस जंगल राज के शिकार गरीब और असहाय तो होते ही रहे हैं मगर यहाँ जिस व्यक्ति की बात हो रही है वह किसी परिचय का मोहताज नहीं है, न ही असहाय है ।  वह शख्स हैं  कोटवारा राजघराने के चश्मो चिराग़ मशहूर फिल्म निर्माता निर्देशक मुजफ्फर अली जिनकी पुश्तैनी ज़मीन पर वन विभाग ने कब्ज़ा कर लिया है और श्री मुज़फ्फर अली की स्वर्गीय माताश्री पर जिनका देहांत 56 वर्ष पहले हो चूका है अनर्गल और बेबुनियाद आरोप भी लगाए जिससे मुज़फ्फर अली जैसे फनकार बेहद आहत  हैं। मुज़फ्फर अली जिनकी पहुँच सरकार और शासन तक भी काफी ऊपर तक है पर अपनी लड़ाई आम नागरिक की तरह क़ानून के दायरे में ही लड़ रहे हैं और पिछले तीन वर्षों से अपनी कला सृजन को भूलकर अपनी पुश्तैनी विरासत और सम्मान बचाने में लगे हैं। 

आज मज़बूर होकर श्री मुज़फ्फर अली ने लखनऊ में पत्रकारों से अपनी व्यथा बयान की और वन विभाग के उन आरोपों की सच्चाई को तथ्यात्मक रूप से सबके सामने रखा। पत्रकार वार्ता में मामले के सारे तथ्य सामने रखने के बाद मुज़फ्फर अली ने कहा कि  कोटवारा राजघराने के ऊपर लगाए गए वन विभाग के सारे आरोप बेबुनियाद एवं हीनभावना से प्रेरित हैं । मुजफ्फर अली ने कहा कि ‘‘उत्तर प्रदेश वन विभाग उनकी जिन्दगी के 3 साल बर्बाद करने के पूर्णतः जिम्मेदार हैं और जो आर्थिक नुकसान राज्य को फिल्म निर्माण न होने के कारण हुआ, उसके लिए उत्तर प्रदेश वन विभाग दोषी है।’’

वरिष्ठ आरटीआई कार्यकर्ता एवं अधिवक्ता सिद्धार्थ नारायण पूरे मामले पर रौशनी डालते हुए कहा कि वर्ष 2013 में मुजफ्फर अली साहब ने राज्य सरकार से दरख्वास्त की थी कि एक जाँच वन विभाग के बेबुनियाद एवं तथ्यहीन पहलुओं पर बैठा दी जाय। राज्य सरकार ने मुख्य वन संरक्षक की अध्यक्षता में एक जांच आयोग बैठाया परन्तु वन विभाग के कुछ अधिकारी की वजह से यह जांच रिपोर्ट दबा दी गयी।

गोला गोकरननाथ के जिलास्तर के कुछ अधिकारियो ने मुजफ्फर अली के विरूद्ध एस0डी0एम0 न्यायालय गोला में एक प्रार्थनापत्र दाखिल कर उनकी पुश्तैनी जमीन का दाखिल-खारिज रद्द करने की फरियाद डाली थी। परिवार के ऊपर लांछन लगाकर झूठे तथ्य सामने लाकर पूर्णतरीके से मानसिक उत्पीड़न किया गया। मुलायम आवास योजना नाम की गरीबों के लिए आवासीय योजना के अंतर्गत बने भवनों को रेंजर रविशंकर वाजपेयी ने बिना किसी आदेश के ध्वस्त कर दिया। 80 साल के एक वृद्ध नौकर से रेंजर उमेश चन्द्र राय ने हाथापाई की एवं उसको चोटिल किया, दलित मजदूरों को बेरहमी से मारा पीटा गया। एक बिना दिनांक का प्रार्थनापत्र एस0डी0एम0 गोला गोकरननाथ में मुजफ्फरअली एवं उनके परिवारजनों के विरूद्ध वन विभाग (उमेश चन्द्र राय) द्वारा दाखिल किया गया। 

21 अक्टूबर 2016 को मुजफ्फरअली का 72वां जन्मदिन था। वरिष्ठ आरटीआई कार्यकर्ता एवं अधिवक्ता सिद्धार्थ नारायण ने उनको उनकी पुश्तैनी जमीन, सरकारी इन्क्वायरी रिपोर्ट की सर्टिफाइड कापी जनसूचना अधिकार अधिनियम 2005 के अंतर्गत उपलब्ध कराई। सिद्धार्थ नारायण ने कहा कि ‘‘मुजफ्फर अली साहब मां को वह बहुत प्यार करते हैं और उनके दुनियां सेरूखसत होने के 56 साल बाद आज वह सारे पहलू इस आरटीआई से उजागर हुए हैं, जो कि स्व0 महारानी कनीज़ हैदर को पूरी तरीके से वन विभाग के आरोपों से बरी करते हैं जो  विभाग ने उन पर और कोटवारा रियासत पर लगाए थे।

Published in राज्य

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने जनता को भाजपा और बसपा से होशियार रहने की सलाह दी है. अखिलेश ने कहा है कि जहां बसपा ने कीमती जमीनों पर कब्जा करके मूर्तियां लगवायी, वहीं भाजपा अब चुनाव को सांप्रदायिक एजेंडे की तरफ ले जा रही है. मुख्यमंत्री ने धनतेरस के मौके पर प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों के बच्चों को एक थाली और गिलास के वितरण अवसर पर कहा ‘भाजपा के लोग चुनाव प्रचार के दौरान क्या कह देंगे, कुछ नहीं पता इसलिये भाजपाइयों से बचकर रहना.’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा दशहरे के दिन लखनऊ में और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा इटावा में अपने भाषण के दौरान ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाये जाने की तरफ इशारा करते हुए अखिलेश ने कहा ‘याद रखना, ये वही लोग हैं जो पहले दूसरा नारा देते थे. पहले उनका भाषण भारत माता की जय पर खत्म होता था, अब किस बात पर खत्म हो रहा है... इसलिये होशियार रहिये.’

भाजपा को विकास के मामले में केन्द्र की अपनी सरकार और उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार के बीच तुलना करने की चुनौती देते हुए उन्होंने कहा ‘हम भाजपा के लोगों से पूछना चाहते हैं कि आपने लखनऊ में कौन सा बड़ा काम किया है. अगर आप काम में तुलना करेंगे तो समाजवादियों की तुलना नहीं की जा सकती.’

मुख्मयंत्री ने कहा कि भाजपा के लोग ऐसे शब्द ढूंढकर लाते हैं जो आसानी से समझ नहीं आते. खुद उन्होंने गूगल पर देखा तो पता लगा कि सर्जिकल स्ट्राइक क्या है.‘अखबारों में देखा तो पाया कि हमने भी सर्जिकल स्ट्राइक कर दी है. तब ठीक से जाना कि सर्जिकल स्ट्राइक क्या है.’

Published in राज्य

शहरी विकास मंत्रालय ने 13 शहरों के नाम घोषित किये

नई दिल्ली। शहरी विकास मंत्रालय ने मंगलवार को स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 'फास्ट ट्रैक कॉम्पिटिशन' के 13 विजेता शहरों का नाम घोषित किया जिसमें उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का नाम भी शामिल है । इनके अलावा वारांगल, धर्मशाला, चंडीगढ़, रायपुर, न्यू टाउन कोलकाता, भागलपुर, पणजी, पोर्ट ब्लेयर, इंफाल, रांची, अगरतला और फरीदाबाद हैं। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि इन 13 में से 9 शहरों ने पूर्व में पेश किए गए अपने प्रस्ताव से 25 अंक ज्यादा हासिल किए हैं। इस साल जनवरी में, पहले राउंड के तहत 20 विजेता शहरों के नाम का ऐलान हुआ था जिसमें 12 शहरों और केंद्र शासित प्रदेशों ने जगह बनाई थी। सरकार ने इसके बाद 'फास्ट ट्रैक कॉम्पिटिशन' आयोजित करने की योजना बनाई थी जिसमें अभी तक प्रतिनिधित्व न मिल पाने वाले राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के हाइएस्ट रैंक्ड सिटीज को यह अवसर दिया गया। इन सभी 23 शहरों ने बीते महीने संशोधित प्रस्ताव पेश किए थे और जो मानक पर खरे उतरे हैं उन्हें केंद्रीय मदद दी जाएगी। इन 23 शहरों में वारांगल, चंडीगढ़, लखनऊ, न्यू टाउन कोलकाता, गोवा, पासीघाट (अरुणाचल प्रदेश), धर्मशाला, फरीदाबाद, रायपुर, भागलपुर (बिहार), शिलॉन्ग (मेघायल), नामची (सिक्किम), पोर्ट ब्लेयर, दियू, ओलगारेट (पुड्डुचेरी), सिलवासा (दादर एंड नागर हवेली), इंफाल (मणिपुर), रांची, अगरतला, कोहिमा, कावारत्ती (लक्षदीप) और देहरादून हैं। इस बीच, दूसरे राउंड के तहत बाकी बचे 97 शहरों को संशोधित स्मार्ट सिटी प्लान इसी जून के अंत तक देना है। 23 शहरों में से जो फास्ट ट्रैक कॉम्पिटिशन में फेल हो गई हैं वह भी दूसरे राउंड में हिस्सा ले सकती हैं। केंद्रीय योजना के तहत, इन शहरों को 48 हजार करोड़ की राशि अगले 5 वर्षों में दी जाएगी। औसतन यह 100 करोड़ हर शहर को हर साल होगी।

Published in देश

जानकीपुरम विस्तार में निकली जनजागरण, ठेकों का किया घेराव

लखनऊ। शहर की जानकीपुरम विस्तार योजना के गोल चौराहा स्थित देशी और अंग्रेजी शराब के ठेकों को हटाये जाने की मांग को लेकर आज यहां क्षेत्रीय जनता सड़कों पर उतरकर जनजागरण रैली निकालकर ठेकों का घेराव किया और जमकर नारेबाजी की। इससे पहले रैली जब तक शराब की दुकानों तक पहंुचती तब तक दुकानदार शराब की दुकानें बंद कर भाग चुका था। उल्लेखनीय है कि यहां पहले से मौजूद अंग्रेजी शराब की दुकान को हटाये जाने की मांग के बावजूद ठीक उसके बगल में देशी शराब का ठेका खोल दे दिया गया, जिससे क्षेत्र की जनता में काफी आक्रोश व्याप्त है। 

निर्धारत कार्यक्रम के अनुसार लक्ष्य जनकल्याण समिति के तत्वाधान में क्षेत्र के विभिन्न सेक्टर्स की समितियों जानकीपुरम विस्तार कल्याण समिति सेक्टर तीन, आदि शिव शक्ति सेवा समिति के पदाधिकारियों सहित क्षेत्र के काफी संख्या लोग गोल चौराहा के निकट एक़त्र हुये और वहां जनजागरण रैली निकालकर शराब के ठेकों पर पहंुच उसका घेराव किया और प्रशासन से इसे तत्काल प्रभाव हटाये जाने की मांग को लेकर नारेबाजी की। 

कार्यक्रम के संयोजक पंकज तिवारी, एस0के0 बाजपेई, डी0सी0 गुप्ता, जानकीपुरम विस्तार कल्याण समिति सेक्टर तीन के संतोष तिवारी, श्रीराम तिवारी, आदि शिव शक्ति सेवा समिति के शिव कुमार यादव, जय प्रकाश सिंह, दीपक मिश्रा सहित विस्तार की विभिन्न समितियां जानकीपुरम विस्तार संयुक्त कल्याण महासमिति, जागृति सेवा समिति सेक्टर एक, जानकीपुरम विस्तार समिति सेक्टर चार, सप्त विकास समिति सेक्टर सात, नवोदय आवासीय कल्याण समिति सेक्टर आठ, जानकीपुरम विस्तार विकास समिति सेक्टर नौ, विकास समिति सेक्टर दो, जानकीपुरम विस्तार वेलफेयर सोसायटी सेक्टर-दो, मंगलम आदर्श सोसायटी उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधियों सहित कई प्रमुख लोग मौजूद थे। 

इस मौके पर कार्यक्रम के संयोजक पंकज तिवारी ने बताया कि गोल चैराहा स्थित अंग्रेजी शराब की दुकानों को हटाने के लिये जिला आबकारी अधिकारी और जिलाधिकारी को बराबर पत्र लिखा जा रहा था, परन्तु प्रशासन ने क्षेत्र की जनता की इस मांग को दरकिनार करते हुये अंग्रेजी शराब की दुकान को बंद करने के बजाय ठीक उसके बगल में देशी शराब का ठेका भी खुलवा दिया गया। जिससे क्षेत्र की जनता को मजबूर होकर सड़कों पर उतरना पड़ा है, यह लड़ाई सिर्फ आज रैली और विरोध प्रदर्शन तक सीमित नहीं रहेगी जबकि यह दुकानें यहां से हटा नहीं दी जाती तब तक जारी रहेगी। मुख्यमंत्री नाम प्रेषित ज्ञापन में पहले से ही अंग्रेजी शराब की दुकान को हटाये जाने को लेकर अब तक की गयी काररवाई को लेकर का ब्यौरा उपलब्ध कराया गया और साथ इन दुकानों से क्षेत्र में पड़ रहे दुष्प्रभाव से अवगत कराया गया।

Published in राज्य

लखनऊ। पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के साथ ही गीतकार कुंअर बेचैन के साहित्यिक योगदान पर केन्द्रित हिन्दी-उर्दू साहित्य अवार्ड कमेटी का 27वां अंतर्राष्ट्रीय साहित्यिक समारोह आठ से 11 अप्रैल तक गंगा-जमुनी तहजीब की राजधानी लखनऊ में चलेगा। 

संत गाडगे प्रेक्षागृह व बली प्रेक्षागृह में होने वाले इस सम्मेलन के अवार्ड समारोह में जहां चुनिंदा हिन्दी-उर्दू रचनाकार सम्मानित होंगे वहीं अंतर्राष्ट्रीय कवि सम्मेलन और मुशायरे में दुबई के ज़ुबैर फारूक, पाकिस्तान के तारिक बदायुंनी, मशहूर गीतकार नीरज व मुनव्वर राना जैसे शायर व कवि काव्यप्रेमियों के बीच काव्यपाठ के लिए मंच पर होंगे। साथ ही जयपुर के हुसैन बंधुओं की गजलों की शाम सजेगी और फिल्म अदाकारी मीनाकुमारी के जीवन पर नाटक भी मंच पर उतरेगा।

इस बार का सम्मलेन 27वां सम्मेलन ‘विंग्स आफ फायर’, ‘इग्नाइटेड माइण्ड्स’, ‘माई जरनी’, ‘इण्डिया 2020’, ‘दि लाइफ ट्री’ जैसी किताबों और ‘ओह, डिफेण्डर्स आफ बार्डर्स यू आर ग्रेट सन्स आफ माई लैण्ड...’ व ‘....ब्लेस माई नेषन विद् विज़न....’ जैसी अनेक कविताएं कहने वाले मिसाइलमैन एपीजे अब्दुल कलाम और हिन्दी के सुप्रसिद्ध गीतकार कुंवर बेचैन के व्यक्तित्व और कृतित्व सम्मलेन में होने वाली संगोश्ठियों में रचनाकारों के विषय होंगे। आयोजन में देशी-विदेशी रचनाकारों के साथ ही 10 अप्रैल की संगोष्ठी में स्वयं कुंवर बेचैन की मौजूदगी बहुत ही अहम होगी। विश्व के कई देशों के रचनाकारों से सजने वाले इस सम्मेलन में कनाडा से अशफ़ाक़ हुसैन, कतर से अहमद सबीह बुखारी, उज्बेकिस्तान से डा.तशमिर्ज़ा खलमीर जायर, दुबई के ज़ुबैर फारूक, पाकिस्तान के तारिक बदायुंनी, किश्वर नाहीद व शीबा आलम सहित देश के विद्वान प्रो.खान मसूद खान, डा.शारिब रुदौलवी, प्रो.काज़ी ओ.आर.हाशमी, प्रो.वहाजुद्दीन अलवी, डा.अनीस अशफ़ाक़, प्रो.सगीर इफरायम, डा.मलिकजादा मंजूर, शोएब रज़ा, प्रो.अहसन रिज़वी, शहनवाज़ कुरैशी, असलम खान, सुहैल काकोरवी, प्रो.अहसन रिजवी, डा.मसीहुद्दीन खान, जियाउल्लाह, पद्मभूशण गोपालदास नीरज, डा.उदयप्रताप सिंह, डा.गंगाप्रसाद विमल, डा.अल्पना, डा.रमा सिंह, डा.सुरेश रितुवाला, प्रो.अब्दुल अलीम, अब्दुल रहीम, बल्देव भाई शर्मा, सागर त्रिपाठी, डा.सुरेश, डा.प्रीता, डा.माहे तिलत, चन्द्रेष शुक्ल, नितीष तिवारी, रंजना शेखर, डा.आदित्य द्विवेदी, डा.उषा सिनहा, डा.कुसम द्विवेदी, मुकुल महान, सर्वेश अस्थाना, राजेन्द्र पण्डित, डा.निर्मल दर्शन, अमन दलाल, क्षितिज  उमेन्द्र, वत्सला पाण्डेय, व अभय सिंह निर्भीक इत्यादि शामिल होंगे। 

नौ अप्रैल की शाम कमेटी नौशाद संगीत केन्द्र के सहयोग से संत गाडगे प्रेक्षागृह में जयपुर के हुसैन बंधुओं अहमद हुसैन-मुहम्मद हुसैन को एक लाख रुपये राशि के नौशाद संगीत सम्मान से अलंकृत करेंगे। बाद में ये दोनों फनकार गजलों से श्रोताओं को नवाजेंगे। समारोह के अंतिम दिन 11 अप्रैल को शाम सवा छह बजे से अभिनेत्री मीनाकुमारी के जीवन पर आधारित एस.एन.लाल के लिखे नाटक ‘अधूरे ख्वाब’ का मंचन मिद्दत खान के निर्देश में होगा। 

लखनऊ: लखनऊ मैनेजमेंट एसोसिएशन ने 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर 'क्रेविंग योर  हैप्पीनेस' विषय पे पैनल चर्चा का आयोजन, सम्मेलन हॉल, वैज्ञानिक कन्वेंशन सेंटर में कराया।

श्री एमए खान, ज्वाइंट सेक्रेटरी, एल एम ए ने कार्यक्रम को होस्ट किया और मुख्य वक्ता के रूप में भी उपस्थित रहे।

 प्रतिष्ठित पैनल में शामिल थी सुश्री सुतापां सान्याल, डीजीपी यूपी पुलिस, महिला सम्मान प्रकोष्ठ और उत्तर प्रदेश राज्य मानवाधिकार आयोग, सुश्री समीना बानो, आरटीई कार्यकर्ता, जिन्होंने  विभिन्न अंडरप्रिविलेज्ड बच्चों को सीएमएस में भर्ती कराया, सुश्री अपर्णा कुमार डीआईजी टेक्निकल यूपी पुलिस साथ ही एक कामयाब पर्वतारोही और सुश्री साबिहा अहमद जिन्होंने ष्ंरपेनदजमीवण्बवउष् नामक एक वेब पोर्टल  बनाया और 2012 में वीमेन ऑफ सब्सटांस के लिए हिंदुस्तान टाइम्स द्वारा मनोनीत की गयी। 

 सुश्री सुतापा सान्याल ने कहा जीवन में सफलता के लिए कुछ बातो का ध्यान रखे जैसे , अप्रिय लोगों और स्थिति से खुद को दूर रखे  और उनके करीब रहे जो लोग खुशी दे और सकारात्मकता बढ़ाने में मदद करे , क्योंकि देने की कला में विश्वास रखना बहुत जरूरी है। आखिर में उन्होंने कहा सेलिब्रेट लाइफ 24 ’7 क्योंकि तुम्हे उस के लिए कुछ की जरूरत है, केवल आपको अपने आप की जरूरत है।

 सुश्री समीना बानो, ने इसके संपर्क में कहा कोशिश ना करने से बेहतर है कोशिश कर के हारो।

 सुश्री अपर्णा कुमार ने अपनी उपलब्धियों और संघर्ष के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि केवल समर्पण और जुनून आपको सफलता दे सकते हैं। जीवन हमें कई उतार चढ़ाव और परिवर्तन के माध्यम दिखता है, लेकिन हमे हार कभी नहीं मानना चाहिए।           

Published in राज्य
Page 1 of 13