Sat08172019

ताज़ा खबरें :
Back You are here: Home खेल Displaying items by tag: world cup
Displaying items by tag: world cup - दिव्य इंडिया न्यूज़

नई दिल्ली। विश्व कप 2015 में ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच होने वाले सेमीफाइनल मुकाबले में जीत को लेक र तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं। हालांकि ज्यादातर दावे टीम इंडिया के पक्ष में हैं। लेकिन सट्टेबाज चाहते हैं कि सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया जीत जाए और भारत हार जाए।

ये खुलासा हुआ है दिल्ली पुलिस की जांच में। क्रिकेट सट्टेबाजी के मामलों की जांच में लगी पुलिस टीम इन दिनों बेहद सक्रिय है और सट्टेबाजों की हर गतिविधि का अनुसरण कर रही है। पुलिस के अनुसार सेमीफाइनल मैच का भाव 50-52 तक पहुंच गया है। यानि कि आस्ट्रेलिया पर दांव लगाने वाले को 1 रूपए पर 50 रूपए मिलेंगे। जबकि भारत पर दांव लगाने वाले को टीम के जीतने पर 1 रूपए पर 52 रूपए मिलेंगे।

पुलिस का कहना है कि मैच के साथ-साथ सट्टे का यह गणित बदलता रहता है। मैच के परिणाम के अलावा हर गेंद, 10 ओवर, पॉवर प्ले, खिलाडियों के व्यक्तिगत स्कोर को लेकर भी सट्टा लगाया जाता है। 

भारत और बांग्लादेश के बीच खेले गए विश्व कप क्वार्टरफाइनल मुकाबले के दौरान दिल्ली पुलिस ने एक बुकी को गिरफ्तार किया जिसने अपने घर में 110 मोबाइल फोन की मदद से कंट्रोल रूम बना रखा था और सट्टेबाजों को हर गेंद की रेट बता रहा था। पकड़ा गया बुकी मुंबई से सम्पर्क में था और रेट वहां से ले रहा था।

Published in खेल

वेलिंगटन : सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल के नाबाद दोहरे शतक के बाद ट्रेंट बोल्ट की तूफानी गेंदबाजी से न्यूजीलैंड ने आज यहां वेस्टइंडीज को 143 रन से हराकर सातवीं बार आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह बनाई। गुप्टिल ने न्यूजीलैंड की ओर से नाबाद 237 रन की सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत पारी खेली जिससे टीम ने छह विकेट पर 393 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया जो विश्व कप में उसका सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। इससे पहले न्यूजीलैंड ने 2007 विश्व कप में कनाडा के खिलाफ ग्रास आइलेट में पांच विकेट पर 363 रन बनाए थे।

गुप्टिल ने 163 गेंद की अपनी पारी में 24 चौके और 11 छक्के मारे। वह एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में दोहरा शतक जड़ने वाले न्यूजीलैंड के पहले और दुनिया के पांचवें बल्लेबाज हैं। उनकी यह पारी वनडे क्रिकेट में भारत के रोहित शर्मा (264 रन) बाद दूसरी सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत पारी और विश्व कप की सर्वश्रेष्ठ पारी है।

इसके जवाब में वेस्टइंडीज की टीम बोल्ट (44 रन पर चार विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने 30.3 ओवर में 250 रन पर सिमट गई। टीम की ओर से आक्रामक बल्लेबाज क्रिस गेल ने 33 गेंद में 61 रन बनाए जबकि कप्तान जेसन होल्डर ने 26 गेंद में 42 रन की पारी खेली लेकिन यह नाकाफी था। टिम साउथी और डेनियल विटोरी ने भी दो दो विकेट चटकाए।

न्यूजीलैंड अब 24 मार्च को आकलैंड के ईडन पार्क में होने वाले पहले सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका से भिड़ेगा और दोनों ही टीमें पहली बार फाइनल में जगह बनाने की कोशिश करेंगी। बोल्ट ने शुरूआत में ही वेस्टइंडीज के शीर्ष क्रम को ध्वस्त कर दिया। इस तेज गेंदबाज ने पारी के दूसरे ओवर की दूसरी गेंद पर ही जानसन चार्ल्स (03) के विकेट उखाड़ दिए।

गेल ने साउथी की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़ा। लेंडल सिमंस (12) ने भी बोल्ट की गेंद को छह रन के लिए भेजा लेकिन अगली ही गेंद पर दूसरी स्लिप में गुप्टिल को कैच दे बैठे। बोल्ट ने तीन गेंद बाद दिनेश रामदीन (00) को पगबाधा आउट करके वेस्टइंडीज का स्कोर चार विकेट पर 80 रन किया।

गेल ने साउथी के अगले ओवर में दो और छक्के मारे और फिर एडम मिल्ने पर चौके के साथ 26 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि मिल्ने की 149 किमी प्रतिघंटा से अधिक की रफ्तार वाली गेंद को विकेटों पर खेलकर बोल्ड हो गए। गेल ने 33 गेंद की अपनी पारी में दो चौके और आठ छक्के मारे। डेरेन सैमी भी 16 गेंद में 27 रन बनाने के बाद कोरी एंडरसन की गेंद पर विकेटकीपर ल्यूक रोंची को कैच दे बैठे जबकि विटोरी ने जोनाथन कार्टर (39 गेंद में 32 रन) को बोल्ड किया।

वेस्टइंडीज के 200 रन 25वें ओवर में पूरे हो गए लेकिन टीम ने अगले ओवर में आंद्रे रसेल (20) के रूप में अपना आठवां विकेट गंवा दिया। साउथी ने जिरोम टेलर (11) की पारी का अंत किया जबकि विटोरी ने होल्डर को एंडरसन के हाथों कैच कराके न्यूजीलैंड को जीत दिलाई। इससे पहले गुप्टिल ने आंद्रे रसेल पर चौका जड़कर 152 गेंद में दोहरा शतक पूरा किया जिसके बाद विश्व कप में दोहरा शतक जड़ने वाले एकमात्र अन्य बल्लेबाज गेल ने उन्हें बधाई दी। गेल ने मौजूदा विश्व कप में जिंबाब्वे के खिलाफ 24 फरवरी को कैनबरा में 215 रन बनाए थे।

न्यूजीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैकुलम ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। गुप्टिल के साथ मिलकर पारी की शुरूआत करने आए मैकुलम सिर्फ 12 रन बनाने के बाद टेलर की गेंद पर होल्डर को कैच दे बैठे। गुप्टिल ने केन विलियमसन (33) के साथ दूसरे विकेट के लिए 62 रन जोड़े। विलियमसन हालांकि रसेल की गेंद पर खराब शाट खेलकर गेल को कैच दे बैठे।

गुप्टिल और रोस टेलर (42) ने इसके बाद सिर्फ 22.3 ओवर में 143 रन जोड़कर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। गुप्टिल ने लांग आन पर एक रन के साथ अपना सातवां शतक पूरा करने के बाद आक्रामक तेवर दिखाए। उन्होंने सैमी पर छक्का जड़ने के बाद टेलर पर दो चौके और एक छक्का मारा।

टेलर गुप्टिल के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हुए। उन्होंने 61 गेंद का सामना करते हुए दो चौके मारे। गुप्टिल ने पारी के 45वें ओवर में होल्डर को निशाना बनाते हुए तीन छक्कों और एक चौके की मदद से 27 रन बटोरे। इसमें से पहले छक्के पर उन्होंने न्यूजीलैंड की ओर से विश्व कप में सर्वश्रेष्ठ स्कोर के ग्लेन टर्नर के रिकार्ड को तोड़ा। टर्नर ने 1975 में पहले विश्व कप में ईस्ट अफ्रीका के खिलाफ 171 रन बनाए थे।

गुप्टिल ने रसेल के पारी के 48वें और 50वें ओवर में क्रमश: 18 और 20 रन जोड़े। उन्होंने इन दो ओवरों में तीन छक्के और चार चौके मारे। रसेल काफी महंगे साबित हुए और उन्होंने 10 ओवर में 96 रन लुटाए। उन्हें दो विकेट मिले। टेलर ने 71 रन देकर तीन विकेट चटकाए।

Published in खेल

एडिलेड। वर्ल्ड कप 2015 के तीसरे क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को छह विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। वहां उसका सामना डिफेंडिंग चैंपियन भारत से होगा। पाकिस्तान के 214 रन का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया ने स्टीवन स्मिथ(65) और शेन वाटसन (64) की फिफ्टी की मदद से छह विकेट खोकर 33.5 ओवर में हासिल किया। इससे पहले जॉस हेजलवुड की जोरदार गेंदबाजी(35/4) के आगे पाक टीम 49.5 ओवर में 213 रन पर सिमट गई। इस प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। 

पाकिस्तान के कप्तान मिस्बाह उल हक ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन उसकी शुरूआत खराब रही और छठे ओवर तक दोनों सलामी बल्लेबाज केवल 24 रन पर पवैलियन लौट गए। सरफराज अहमद 10 रन बनाकर मिचेल स्टार्क और अहमद शहजाद पांच रन पर जॉस हेजलवुड की गेंद पर स्लिप में कैच थमा बैठे। मिस्बाह ने हारिस सोहैल के साथ मिलकर टीम को सं भालने का प्रयास किया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 73 रन जोड़े। मैक्सवेल ने इस जोड़ी को तोड़ा और कप्तान मिस्बाह उल हक को 34 रन के निजी स्कोर पर चलता किया। कुछ देर बाद ही मिचेल जॉनसन ने हारिस सोहैल को और मैक्सवेल ने उमर अकमल को वापिस भेजा। 

शाहिद अफरीदी ने तेज पारी खेलने का प्रयास किया लेकिन वे केवल 15 गेंद में 24 रन बना पाए। उन्हें जॉस हेजलवुड ने वापिस भेजा। इ सके बाद मकसूद और वहाब रियाज ने टीम को संभालने का प्रयास किया और टीम को 200 के करीब ले गए। लेकिन दोनों खिलाड़ी 188 रन पर वापिस लौट गए। एहसान आदिल और राहत अली ने अंत में लगभग छह ओवर तक बल्लेबाजी की और टीम को 213 तक ले गए। एहसान 15 रन बनाकर अंतिम विकेट के रूप में आउट हुए। 

लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियन टीम की शुरूआत भी अच्छी नहीं रही और 49 रन पर उसके दोनों सलामी बल्लेबाज वापिस लौट गए थे। लेकिन स्टीवन स्मिथ और शेन वाटसन ने टीम को जीत की पटरी पर डाल दिया। इस दौरान पाक तेज गेंदबाज वहाब रियाज ने तूफानी स्पैल डाला और कंगारू बल्लेबाजों को काफी परेशान कर दिया। इस दौरान अहम मौकों पर उनकी गेंद पर दो कैच छूट गए जो उन्हें काफी महंगा पड़ा। वाटसन ने चौका लगाकर टीम को सेमीफाइनल में पहुंचा दिया।

Published in खेल

मेलबर्न। वर्ल्ड कप 2015 के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में भारत से करारी हार बांग्लादेश के लोगों को पच नहीं रही है। बांग्लादेश के प्रशंसकों ने मैच के दौरान भारत को फायदा देने के लिए गलत फैसले देने का आरोप लगाया है। बांग्लादेश सरकार में मंत्री और आईसीसी के अध्यक्ष मुस्तफा कमाल ने भी कहाकि भारत को जिताने के लिए साजिश रची गई। इसके लिए उन्होंने अंपायर्स के फैसलों की ओर इशारा किया। कमाल ने कहाकि, भारतीय टीम को फायदा पहुंचाने के लिए 12 फैसले दिए गए और मैं इस मामले को आईसीसी के सामने उठाउंगा। 

वहीं हार के बाद बांग्लादेशी प्रशंसक सड़कों पर उतर आए और उन्होंने अंपायर्स विशेष रूप से पाकिस्तान के अलीम दार का पुतला जलाया और नोरबाजी की। यहां तक कि कप्तान मशरफी मुर्तजा ने भी अंपायर्स के फैसलों पर नाराजगी जाहिर की। मुर्तजा ने कहाकि, मैं अंपायर्स के फैसलों पर कुछ नहीं कहूंगा लेकिन जो कुछ हुआ वो सबने देखा। वहीं आईसीसी के प्रेसीडेंट मुस्तफा कमाल ने कहाकि, मेलबर्न क्रिकेट ग्राउण्ड की स्क्रीन पर भी "इंडिया जीतेगा" जैसे मैसेज चल रहे थे। स्क्रीन आईसीसी के अधिकार क्षेत्र में आती है। 

भारतीय पारी के 40वें ओवर में रोहित शर्मा को रूबेल हुसैन के ओवर में आउट नहीं दिया गया और गेंद को नोबॉल करार दिया गया था। इस गेंद पर रोहित कैच आउट हो गए थे। गेंद कमर की ऊंचाई की तरफ थी लेकिन रिप्ले में दिखा कि गेंद ज्यादा ऊंची नहीं थी। वहीं बांग्लादेश की पारी के 17वें ओवर में महमूदुल्लाह का शिखर धवन द्वारा लिए गए कैच पर भी सवाल उठाए गए। बांग्लादेशी प्रशंसकों ने कहाकि, धवन का पैर बाउंड्री को छू गया था।

Published in खेल

मेलबर्न। भारतीय टीम ने वर्ल्ड कप 2015 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। दूसरे क्वार्टर फाइनल में टीम इंडिया ने बांग्लादेश को 109 रन से रौंद कर अंतिम चार में जगह बनाई। 303 रन का पीछा करते हुए बांग्लादेश की टीम मुकाबले में दिखी ही नहीं और पूरी टीम 109 रन पर सिमट गई। उमेश यादव ने सबसे ज्यादा बार विकेट लिए। इससे पहले रोहित शर्मा(137) और सुरेश रैना(65) की जोरदार पारियों के बूते टीम इंडिया ने छह विकेट खोकर 302 रन बनाए। 

उमेश यादव के ओवर में भारत को पहली दो सफलता मिली। उमेश यादव के ओवर में लगातार दो गेंदों पर भारत को दो विकेट मिले। पहले तमीम इकबाल विकेट के पीछे लपके गए और अगली ही गेंद पर इमरूल काएस रन आउट हो गए। इसके बाद पारी के 17 ओवर में महमूदुल्लाह का शिखर धवन ने गजब का कैच पकड़ा। चार ओवर बाद 21वें ओवर में शमी की ही गेंद पर धोनी ने सौम्य सरकार को चलता किया। साकिब अल हसन रवीन्द्र जडेजा की गेंद पर शॉर्ट थर्ड मैन पर लपके गए। उन्होंने 10 रन बनाए। इसके बाद तो एक के बाद विकेट गिरते चले गए। उमेश यादव ने चार, और शमी व जडेजा ने दो-दो विकेट लिए।

टॉस जीतकर भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शानदार शुरूआत की। रोहित व धवन ने पहले विकेट के लिए 75 रन की अर्धशतकीय साझेदारी की। 30 रन बनाने के बाद शिखर धवन पहले विकेट के रूप में आउट हुए। कुछ देर बाद ही विराट कोहली तीन रन बनाकर विकेट के पीछे कैच थमा बैठे। उन्हें रूबेल हसन ने पवैलियन भेजा। अजिंक्या रहाणे भी कुछ खास नहीं कर पाए और 19 रन बनाकर तस्किन अहमद की गेंद पर लपके गए। इस समय बांग्लादेशी गेंदबाजों ने भारत पर शिकंजा कस दिया था।

इसके बाद सुरेश रैना ने रोहित शर्मा के साथ मिलकर जवाबी हमला बोला। दोनों ने पावरप्ले के दौरान तेजी से रन बनाए और पांच ओवर में 51 रन बटोरे। इसी बीच सुरेश रैना ने अपनी फिफ्टी और रोहित ने अपना शतक पूरा किया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 122 रन जोड़े। रैना 65 रन बनाने के बाद मशरफी मुर्तजा की गेंद पर पवैलियन लौटे। लेकिन रोहित ने रन बनाने का सिलसिला जारी रखा। वे 137 रन पर बोल्ड हुए। कप्तान एमएस धोनी कुछ खास नहीं कर पाए और केवल छह रन बना पाए।

Published in खेल

एडीलेड: पाकिस्तानी टीम 20 मार्च को विश्व कप क्रिकेट के तीसरे क्वार्टर फाइनल में मेजबान आस्ट्रेलिया से खेलेगी तो उसे उसी की मांद में खदेड़ने की यह चुनौती उसके लिये आसान नहीं होगी।

शुरूआती दो मैचों की हार से उबरकर लगातार चार जीत दर्ज कर चुकी पाकिस्तानी टीम ने दक्षिण अफ्रीका जैसे दिग्गज को हराया । मिसबाह उल हक ने बल्लेबाजी में मोर्चे से अगुवाई करके इसमें अहम भूमिका निभाई । अब उनके सामने मेजबान आस्ट्रेलिया को उसी की सरजमीं पर हराने की बड़ी चुनौती है । आस्ट्रेलिया को 2005 में पर्थ में हराने के बाद से पाकिस्तान उसकी धरती पर हरा नहीं सका है ।

आस्ट्रेलिया के खिलाफ पाकिस्तान को पिछले सात मैचों में पराजय का सामना करना पड़ा । वैसे उलटफेर करने में माहिर पाकिस्तान कोई चमत्कार कर सकता है बशर्ते उसके गेंदबाज लय में रहे । विश्व कप में अब तक एक दूसरे से खेले आठ मैचों में दोनों ने चार चार जीते हैं । आखिरी बार 2011 में कोलंबो में हुए मैच में पाकिस्तान विजयी रहा था।

इस अहम मुकाबले से पहले बायें हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान का चोटिल होना पाकिस्तान के लिये बड़ा झटका रहा । मिसबाह को उम्मीद होगी कि वहाब रियाज और सोहेल खान इसकी भरपाई करें । वइसके अलावा आयरलैंड के खिलाफ शतक जमाने वाले विकेटकीपर सरफराज अहमद से भी बड़ी पारी की उम्मीद होगी ।

मिसबाह ने कहा कि उनके खिलाड़ियों का मनोबल उंचा है । उन्होंने कहा ,‘ मुझे लगता है कि लगातार चार जीत से आपमें एक टीम के रूप में आत्मविश्वास पैदा होता है । सभी का मनोबल उंचा है और हम जीत की लय हासिल कर चुके हैं । यह ऐसी अच्छी टीम के खिलाफ खेलने का सही समय है ।’’ उन्होंने कहा ,‘ हर कोई उन्हें खिताब का प्रबल दावेदार मान रहा है लिहाजा कोई टीम उन्हें हराती है तो इसे उलटफेर कहा जायेगा । यदि हम ऐसा कर सके तो पाकिस्तान क्रिकेट के लिये यह बहुत अच्छा होगा।’ इतिहास चार बार की चैम्पियन आस्ट्रेलिया के पक्ष में है लेकिन अभी तक उनका प्रदर्शन मिला जुला रहा है । श्रीलंका और इंग्लैंड के खिलाफ उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन सह मेजबान न्यूजीलैंड ने उन्हें हराया । आस्ट्रेलियाई कोच डेरेन लीमैन ने उम्मीद जताई कि उनकी टीम बेहतर प्रदर्शन करेगी ।

उन्होंने कहा ,‘ यहां से आगे कोई बहाना नहीं चलेगा । हमें उसी तरह की क्रिकेट खेलनी होगी जैसे कि हम खेलते आये हैं । हमारे खिलाड़ी बहुत जल्दी सीखते हैं और अपने प्रदर्शन में सुधार की तलाश में रहते हैं ।’

Published in खेल

सिडनी। वर्ल्ड कप 2015 के पहले क्वार्टर फाइनल में दक्षिण अफ्रीका ने श्रीलंका को नौ विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 134 रन का लक्ष्य दक्षिण अफ्रीका ने एक विकेट खोकर 18 ओवर में ही हासिल कर लिया। इससे पहले इमरान ताहिर और जेपी डुमनी की प्रोटीज स्पिन जोड़ी के आगे श्रीलंकन चीते 133 रन पर सिमट गए। दोनों स्पिनर्स ने मिलकर सात विकेट बटोरे। उनकी ओर से केवल कुमार संगकारा(45) और लाहिरू थिरिमाने(41) ही टिक पाए। ताहिर ने चार और डुमनी ने हैट्रिक जमाते हुए तीन विकेट लिए।

टॉस जीतकर पहले खेलने उतरी श्रीलंकन टीम की शुरूआत काफी खराब रही। उसके दोनों सलामी बल्लेबाज केवल चार रन पर पवैलियन लौट गए। कुशल परेरा तीन और दिलशान बिना खाता खोले आउट हो गए। काइली एबॉट और डेल स्टेन को यह विकेट मिले। इसके बाद थिरिमाने और संगकारा ने पारी को संभालने का प्रयास किया। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 65 रन जोड़े। लेकिन थिरिमाने को 41 के निजी स्कोर पर इमरान ताहिर ने चलता किया। 

इसके बाद तो इमरान ताहिर और पार्ट टाइमर जेपी डुमनी ने शिकंजा कसते हुए 62 रन के अंतराल में सात विकेट झटक लिए। महेला जयवर्द्धने(4), एंजेलो मैथ्यूज (19), थिसारा परेरा (0), नुवान कुलासेकरा (1), थारिंदू कौशल (0) और कुमार संगकारा (45) रन बनाकर चलते बने। इस दौरान डुमनी ने मैथ्यूज, कुलासेकरा और कौशल को आउट कर हैट्रिक पूरी की। संगकारा के आउट होते ही बारिश शुरू हो गई जिससे मैच रोकना पड़ा। ताहिर ने लसित मलिंगा ने को आउट कर श्रीलंकन पारी को समेट दिया।

134 रन का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीकी टीम ने बढिया शुरूआत की और अमला व डीकोक ने छह ओवर में ही 40 रन बना लिए। अमला 16 रन बनाने के बाद लसित मलिंगा की गेंद पर आउट हो गए। हालांकि डीकोक ने फॉर्म में वापसी करते हुए केवल 57 गेंद में 78 रन ठोककर टीम को आसान जीत दिला दी। इमरान ताहिर को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

Published in खेल

मेलबर्न: वर्ल्डकप के क्वॉर्टरफाइनल में पहुंची टीम बांग्लादेश की बॉडी लैंग्वेज को देख कर ये कहना मुश्किल लगता है कि इस टीम की गिनती छोटी टीमों में होती है। इंग्लैंड को हराने, और न्यूज़ीलैंड जैसे दावेदार को कड़ी टक्कर देने के बाद टीम के तेवर बदले हुए हैं। टीम ने मेलबर्न में क्वॉर्टरफाइनल से दो दिन पहले जमकर पसीना बहाया।

कोच चंदिका हथुरासिंघे भी इससे हैरान नहीं हैं। वो कहते हैं कि इसके पीछे मनोविज्ञान का बड़ा हाथ है। "हमारे स्पोर्ट्स साइकॉलोजिस्ट डॉक्टर फ़िल जोन्स की इसमें बड़ी भूमिका रही है। उन्होंने खिलाड़ियों को सिखाया कि किस तरह मैदान पर निडर होकर बड़े फ़ैसले लिए जाते हैं। हम ड्रेसिंग रूम में आज़ादी का कल्चर बना रहे हैं।"

अच्छे कंडीशन्स का फ़ायदा उठाते हुए रुबेल हुसैन और तसकीन अहमद ने अपनी तेज़ गेंदबाज़ी से सभी विरोधियों को हैरान किया है। एमसीजी की ही पिच पर बांग्लादेश पहले श्रीलंका का सामना कर चुका है। हालांकि बांग्लादेश को एहसास है कि टीम इंडिया बैटिंग का पावरहाउस है।

कोच चंदिका हथुरासिंघे ने कहा "भारत एक बहुत ही अच्छी बैटिंग साइड है, टीम में वर्ल्ड क्लास खिलाड़ी हैं। उनके तेज़ गेंदबाज़ उतने अच्छे नहीं हैं। हमारी नज़र इन्हीं चीज़ों पर है।"

बांग्लादेश के पास हिम्मत है, लेकिन अनुभव के मामले में भारतीय टीम का कोई सानी नहीं है।

Published in खेल

एडिलेड। सरफराज अहमद के शतक की बदौलत आयरलैंड को हराकर पाकिस्तान की टीम पूल बी से क्वॉर्टरफाइनल में पहुंच चुकी है। करो या मरो के इस मैच में आयरलैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था। कप्तान पोर्टरफील्ड के शानदार शतक की वजह से आयरलैंड की टीम 237 का स्कोर बनाने में कामयाब रही।

लेकिन पाकिस्तान के सामने ये लक्ष्य नाकाफी साबित हुआ। पाकिस्तान की तरफ से ओपनर अहमद शहजाद ने 63 रन की पारी खेली। जबकि कप्तान मिस्बाह उल हक ने 39 रन का योगदान दिया। पाकिस्तानी बल्लेबाजों ने अच्छा प्रदर्शन कर 238 रनों के लक्ष्य को 46.1 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया।

वर्ल्ड कप के आखिरी पूल मुकाबलों के साथ ही क्वार्टर फाइनल लाइन अप भी तय हो गया है। आज पाकिस्तान और आयरलैंड के बीच करो या मरो मुकाबले में पाकिस्तान ने बाजी मार ली और आयरलैंड को बाहर कर दिया है। इस जीत के साथ ही वेस्टइंडीज की टीम नेट रन रेट के आधार पर क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली आखिरी टीम बनी।

अब पहले क्वार्टर फाइनल में श्रीलंका का मुकाबला दक्षिण अफ्रीका से होगा। ये मुकाबला 18 मार्च को सिडनी में खेला जाएगा। दूसरे क्वार्टर फाइनल में भारत का मुकाबला बांग्लादेश से होगा। ये मैच 19 मार्च को मेलबर्न में खेला जाएगा। तीसरे क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया का मुकाबला पाकिस्तान से होगा। 20 मार्च को ये मैच एडिलेड में खेला जाएगा। चौथे क्वार्टर फाइनल में न्यूजीलैंड का मुकाबला वेस्टइंडीज से होगा। 21 मार्च को ये मैच वेलिंगटन में खेला जाएगा।

Published in खेल

नेपियर : कप्तान जैसन होल्डर की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से वेस्टइंडीज ने आज यहां पूल बी के अपने आखिरी लीग मैच में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को 117 गेंद शेष रहते हुए छह विकेट से हराकर आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के क़्वार्टर फाइनल में खेलने का हक़ हासिल कर लिया है ।

वेस्टइंडीज के लिए यह जरूरी था कि वह यूएई को कम से कम स्कोर पर आउट करे। होल्डर (27 रन देकर चार विकेट) और जेरोम टेलर (36 रन देकर तीन विकेट) की अच्छी गेंदबाजी से वह यूएई को 47.4 ओवर में 175 रन पर आउट करने में सफल रहा। यूएई के लिए निचले क्रम के बल्लेबाज नासिर अजीज (60) और अमजद जावेद (56) ने सातवें विकेट के लिये 107 रन जोड़कर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया।

क्रिस गेल की अनुपस्थिति में खेल रहे वेस्टइंडीज की शुरूआत भी अच्छी नहीं रही लेकिन जानसन चार्ल्स (55), जोनाथन कार्टर (नाबाद 50) और दिनेश रामदीन (नाबाद 33) की पारियों से उसने 176 रन का लक्ष्य 30.3 ओवर में चार विकेट खोकर हासिल कर दिया। वेस्टइंडीज की यह छह मैच में तीसरी जीत है जिससे उसका रन रेट पाकिस्तान से बेहतर हो गया और वह अभी ग्रुप बी में तीसरे स्थान पर है। वह क्वार्टर फाइनल में पहुंच पाएगा या नहीं यह पाकिस्तान और आयरलैंड के बीच एडिलेड में चल रहे मैच के परिणाम पर निर्भर करेगा।

यूएई पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो गया था। होल्डर ने फिर से आगे बढ़कर नेतृत्व किया और यूएई को पहले बल्लेबाजी का न्यौता देने के बाद उसके शीर्ष क्रम को झकझोर कर रख दिया। यूएई का स्कोर एक समय पांच विकेट पर 26 रन था। उसने स्वप्निल पाटिल के रूप में अपना छठा विकेट गंवाया जिससे स्कोर 14वें ओवर में छह विकेट पर 46 रन हो गया।

वेस्टइंडीज को कम से कम ओवरों में लक्ष्य हासिल करने की जरूरत थी लेकिन उसके बल्लेबाजों को भी मैकलीन पार्क की पिच से सामंजस्य बिठाने में दिक्कत हुई। गेल के चोटिल होने के कारण पारी की शुरूआत करने वाले चार्ल्स ने तो एक छोर से तेजी से रन बनाये लेकिन ड्वेन स्मिथ (15) फिर से नाकाम रहे जबकि उनका स्थान लेने के लिये आये सैमुअल्स (नौ) भी अधिक देर तक नहीं टिक पाये। इन दोनों को मंजुला गुरूगे (40 रन देकर दो विकेट) ने आउट किया। चार्ल्स ने अमजद जावेद (29 रन देकर दो विकेट) की गेंद पर कैच थमाने से पहले कार्टर के साथ तीसरे विकेट के लिये 56 रन की साझेदारी की।

चार्ल्स ने अपनी पारी में 40 गेंद खेली तथा नौ चौके दो छक्के लगाये। आंद्रे रसेल (सात) को उपरी क्रम में भेजा गया लेकिन जावेद ने उन्हें भी ज्यादा देर तक नहीं टिकने दिया। कार्टर और रामदीन ने इसके बाद टीम को कोई झटका नहीं लगने दिया। ये दोनों हालांकि अपेक्षित तेजी से रन नहीं बना पाये। इन दोनों ने अपनी 58 रन की अटूट साझेदारी के लिये 79 गेंदें खेली। कार्टर ने अपनी 58 गेंद की पारी में पांच चौके लगाये जबकि रामदीन ने 50 गेंद खेलकर दो चौके जड़े।

Published in खेल
Page 2 of 7